पोस्ट में अटैचमेंट है
सार्वजनिक
पर्यावरण कार्यकर्ता फ़रविज़ा फ़रहान इकोसिस्टम बचाने के लिए अकेले संघर्ष कर रही हैं.
एक टिप्पणी जोड़ें...

पोस्ट में अटैचमेंट है

पोस्ट में अटैचमेंट है
सार्वजनिक
क्या है माइसीलियम जिसे नासा और ईएसए अपने मंगल मिशन में इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं.
एक टिप्पणी जोड़ें...

पोस्ट में अटैचमेंट है
Brown bear

Part of this blog on my website: Poke the bear
https://anjawessels.photography/poke-the-bear/

CAMERA: Canon EOS 80D
LENS Tamron 16-300mm f/3.5-6.3 Di II VC PZD Macro

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~+

#Photography #BrownBear #Photoshop #DigitalArt #AnjaWesselsPhotography
#OuwehandsDierenpark #Zoo #bear
फ़ोटो
एक टिप्पणी जोड़ें...

पोस्ट में अटैचमेंट है
सार्वजनिक
पत्रकार ख़ाशोज्जी की मौत के बाद से सवालों में घिरे क्राउन प्रिंस सलमान की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं.
एक टिप्पणी जोड़ें...

पोस्ट में अटैचमेंट है

पोस्ट में अटैचमेंट है

पोस्ट में अटैचमेंट है
सार्वजनिक
देखिए अलग-अलग मौसम से जुड़ी बेहद ख़ूबसूरत तस्वीरें साथ ही जानिए किस तरह फ़ोटोग्राफरों ने इन तस्वीरों को क़ैद किया.
एक टिप्पणी जोड़ें...

पोस्ट में अटैचमेंट है
Jacarandas at the Writers Centre - Callan Park
फ़ोटो

पोस्ट में अटैचमेंट है
सार्वजनिक
'न दैन्यं न पलायनम्' ❀❀ अटल बिहारी वाजपेयी ❀❀

कर्तव्य के पुनीत पथ को
हमने स्वेद से सींचा है,
कभी-कभी अपने अश्रु और—
प्राणों का अर्ध्य भी दिया है।

किंतु, अपनी ध्येय-यात्रा में—
हम कभी रुके नहीं हैं।
किसी चुनौती के सम्मुख
कभी झुके नहीं हैं।

आज,
जब कि राष्ट्र-जीवन की
समस्त निधियाँ,
दाँव पर लगी हैं,
और,
एक घनीभूत अंधेरा—
हमारे जीवन के
सारे आलोक को
निगल लेना चाहता है;

हमें ध्येय के लिए
जीने, जूझने और
आवश्यकता पड़ने पर—
मरने के संकल्प को दोहराना है।

आग्नेय परीक्षा की
इस घड़ी में—
आइए, अर्जुन की तरह
उद्घोष करें :
‘‘न दैन्यं न पलायनम्।’’
https://youtu.be/EP_6O2Zy1Qc
एक टिप्पणी जोड़ें...
अधिक पोस्ट लोड होने तक प्रतीक्षा करें