Post has attachment
तेरी आवाज़ से मेरा घर-आँगन महक जाता है....
तुझे सीने से लगा लूं, तो वक़्त ठहर सा जाता है....
दिन भर की थकान, मेरी परेशानियों की दूकान....
तुझे देखते ही मेरी ज़िंदगी का हर हिस्सा सवार जाता है..
बिटियन तुझे क्या नाम दूं..
"मेरी ख़ुशी".."मेरी हस्सी".."मेरी ज़िन्दगी"...
..पता नहीं क्यों इस दुनिया में बेटियों को खुद से जुदा करना पढता है.... सिर्फ इस सोच से मेरा दिल, टूट कर बिखर जाता है....
काश बेटियां भी बेटों की तरह साथ-साथ रहते....
तुझसे जुदा होने की सोच से ही, मेरी आँखों से अश्क का क़तरा उतर जाता है.
बेटियां तो वह हीरे की तरह है....
जहाँ पर भी जाए अपनी चमक बिखेरेंगी......
अपने परिवार के लिए सब कुछ कुर्बान करने वाली "बेटी" इस दुनिया में तेरा अलग ही मुकाम रह जाता है.....

.
Photo
Wait while more posts are being loaded