Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो🐘🐘🐘🐘 राजस्थान
जयपुर| बसपा ने भी राजस्थान में विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरु कर दी है| एक दिसम्बर को बसपा प्रमुख मायावती रामलीला मैदान में सभा के जरिए चुनावी शंखनाद करेगी| सभा में बसपा ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाते हुए मजबूती से अपनी मौजूदगी का मैसेज देगी| इसके लिए प्रभारी धर्मवीर अशोक जिलों में बैठक लेने में जुटे हुए हैं|
अशोक ने कहा कि बसपा सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी और पुरानी गलतियों से सबक लेते हुए जातिवाद औऱ मौकापरस्त नेताओं को मौका नहीं देगी| अशोक ने कहा कि बसपा एक बार राजस्थान में चौंकाने वाली रिजल्ट लाएगी| अशोक ने कहा कि कांग्रेस औऱ भाजपा को सबक सीखाने के लिए वो साठ सीटों को तय करते हुए मजबूत रणनीती बना रहे हैं| बसपा ने राज्य सरकार पर भी जमकर निशाना साधा है| अशोक ने कहा कि हर वर्ग सरकार से परेशान है|
Photo

Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो🐘🐘🐘🐘🐘🐘🐘🐘
हर चुनाव में आईं मायावती, इस बार संशय
Sun, 19 Nov 2017 02:04 AM (IST)

जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : बसपा ने सिंबल पर दो बार अलीगढ़ मेयर का चुनाव लड़ा और दोनों ही बार राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने समर्थन में जनसभाएं कीं। इस बार माया आएंगी या नहीं, इसे लेकर संशय है। पार्टी के अलीगढ़ के जोन इंचार्ज महेश चौधरी का दावा है कि प्रत्याशी ने अभी तक अध्यक्ष को बुलाने की गुजारिश नहीं की है। वह किसी का प्रचार करेंगी या नहीं, इसका भी हाईकमान से कोई संकेत नहीं मिला है।

निकाय चुनाव में हर पार्टी स्टार प्रचारकों को बुलाने में जुटी हुई है। भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंच रहे हैं तो इसके पहले कांग्रेस व सपा के कई नेता आ चुके हैं। बसपा की सबसे बड़ी स्टार प्रचारक मायावती ही हैं और उनके बारे में स्थिति साफ नहीं। लिहाजा, पार्टी प्रत्याशी मोहम्मद फुरकान का प्रचार बामसेफ और पार्टी कैडर के जरिए चल रहा है। वैसे, इतिहास बताता है कि बसपा ने जब-जब सिंबल पर निकाय चुनाव लड़ा है, वह यहां प्रचार करने जरूर आई हैं। इस बार कद्दावर नेता ठा. जयवीर सिंह बसपा को छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं। लिहाजा, पार्टी समर्थकों में नया उत्साह भरने के लिए माया की खास जरूरत महसूस की जा रही है।

दरअसल, वर्ष 1995 में बसपा ने अब्दुल खालिक और 2002 में रजिया खान को पार्टी सिंबल पर चुनाव लड़ाया था। दोनों चुनावों में प्रचार के बावजूद वह भाजपा के विजयरथ को नहीं रोक पाईं और बसपा को दूसरे स्थान से ही संतोष करना पड़ा।

प्रत्याशी मोहम्मद फुरकान का कहना है कि जनता के उत्साह को देखते हुए नहीं लगता कि पार्टी अध्यक्ष को बुलाने की जरूरत पड़ेगी। फिर भी हाईकमान व संगठन चाहेगा तो उनके कार्यक्रम लगाए जाएंगे।


जय भीम जी दोस्तो
Photo

Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो🐘🌻🐘🌹🐘🌻🐘🌹
मुन्नी चौधरी को दिया समर्थन
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। नगर निगम चुनाव को लेकर गांव सदरपुर में शुक्रवार को जाट महापंचायत हुई। जिसमें 22 गांव के जाट नेताओं ने बहुजन समाज पार्टी की मेयर प्रत्याशी मुन्नी चौधरी को अपना पूर्ण समर्थन देने की घोषणा की। सदरपुर गांव के चौधरी चरण सिंह स्टेडियम में आयोजित जाट महापंचायत में 22 गांव के किसानों ने हिस्सा लिया और बसपा से मेयर प्रत्याशी मुन्नी चौधरी और बसपा नेता सतपाल चौधरी को अपना समर्थन देने की घोषणा की। जाट महापंचायत को संबोधित करते हुए बसपा नेता सत्यपाल चौधरी ने कहा कि नगर निगम चुनावों में भाजपा की इज्जत बचाने के लिए जरनल मैदान में उतरे हैं तो सीमा पर देश की रक्षा करने वाली सैनिक और उनके परिवार भी जरनल के सामने आकर खड़े हो गए हैं।
उन्होंने कहा कि यह चुनाव अमीरों की पार्टी से गरीबोंए पिछड़ो और दबे-कुचले लोगों का चुनाव है जो अपने हक के लिए हमेशा से इस पार्टी के सामने टकटकी लगा देखता रहता है। महापंचायत में सभी गांव के जाटों ने दोनों हाथ ऊपर उठाकर बसपा प्रत्याशी मुन्नी चौधरी को चुनाव में अपना समर्थन दिया। महापंचायत में मुख्य रुप से चौधरी महावीर सिंह चौधरी, महेंद्र चौधरी, रविंद्र सिंह रावत, राजेंद्र चौधरी, मुकेश चौधरी, राजवीर सिंह, सजींद्र कुमार, धीरेंद्र पाल सिंह, रामपाल काजीपुरा, विजेंद्र सिंह रावत, नेपाल सिंह, आनंद चौधरी, सतबीर सिंह, श्रीपाल सिंह आदि लोग मौजूद रहे।
बसपा मेयर प्रत्याशी मुन्नी चौधरी और वार्ड-18 रजापुर.शास्त्रीनगर की पार्षद उम्मीदवार निशा चौधरी को वाल्मीकि समाज ने अपना समर्थन दिया। इस मौके पर उन्होंने एक नुक्कड़ सभा को संबोधित किया और लोगों से विकास के नाम पर वोट मांगे। नुक्कड़ सभा में बसपा नेता सत्यपाल चौधरी, अनुज चौधरी, राजकुमार गेहरा, बलबीर वाल्मीकि, कर्मवीर वाल्मीकि एंड ओमबीर सिंह, सोनू वाल्मीकि सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। हिंडन विहार और पसौंडा में बसपा की मेयर प्रत्याशी मुन्नी चौधरी ने नुक्कड़ सभाएं की। जिसमें मुस्लिम समाज का जनसैलाब उमड़ा। इस मौके पर लोगों को संबोधित करते हुए मुन्नी चौधरी ने कहा कि पिछले 20 सालों से भारतीय जनता पार्टी मुस्लिम बस्तियों की उपेक्षा कर रही है। जिसकी वजह से मुस्लिम समाज अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है। उन्होंने वायदा किया कि चुनाव जीतने के बाद वह मुस्लिम बस्तियों का विकास प्राथमिकता से करेगी और मुस्लिम बस्तियों की समस्याओं के निराकरण के लिए हमेशा तत्पर रहेगी। सभा में मुस्लिम समाज के लोगों ने एकजुट होकर उन्हें वोट का भरोसा दिलाया।
Photo

Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो🐘🐘🐘🐘🐘🐘🐘

Neeraj Chakrpani
हाथरस-18 नवम्बर। नगर पालिका परिषद् अध्यक्ष पद की बसपा प्रत्याशी श्रीमती ऋतु उपाध्याय ने आज शहर के मौहल्ला माईयान, अल्लादीन बिल्डिंग, सरिया मिल कंपाउंड, लक्ष्मी नगर, पुराना मिल कंपाउंड, आवास विकास, स्टेट बैंक कॉलोनी, कंचन नगर आदि क्षेत्रों में जनसंपर्क कर सर्व समाज के लोगों से वोट की अपील की। बसपा प्रत्याशी के पति व पूर्व राज्यमंत्री मुकुल उपाध्याय ने शहर के अईयापुर, जलेसर रोड, सीयल खेडा, विक्रांत नगर, कोठी बेलनशाह, कुशवाह नगर, बिजली काटन मिल, खंदारी गढ़ी, सासनी गेट, रमनपुर आदि क्षेत्रों में सर्वसमाज के लोगों से ऋतु उपाध्याय को वोट देने की अपील करते हुए विजयश्री दिलाने का अनुरोध किया। इस दौरान मुकुल उपाध्याय के साथ महान दल के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने भी ऋतु उपाध्याय के समर्थन में वोट मांगे और उन्हें भारी मतों से जिताने की अपील की।बसपा प्रत्याशी श्रीमती ऋतु उपाध्याय के समर्थन में जनसभाओं का आयोजन बालापट्टी एवं अईयापुर में किया गया। जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व ब्लाक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय ने कहा कि हाथरस शहर के हर वार्ड की समस्या को मैं अच्छी तरह से जानता हूं और उन समस्याओं को किस प्रकार समाप्त करना है ये भी बखूबी जानता हूं। उन्होंने कहा कि ऋतु भाभी को जिता दो शहर के विकास व समस्याओं के निदान की जिम्मेदारी मेरी है। पूर्व राज्यमंत्री मुकुल उपाध्याय ने कहा कि मुकुल उपाध्याय को हाथरस शहर से ज्यादा प्यार कहीं नही मिला। इसलिए हाथरस शहर के लोगों की सेवा करने का जो अवसर आप लोगों के आशीर्वाद से मुझे मिलेगा उसे मैं बेकार नही जाने दूंगा और मुझे भी पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय के आशीर्वाद से बहुजन समाज पार्टी की सरकार में मंत्री रहने का अवसर मिला है। मैं अच्छी तरह जानता हूँ कि जनता के काम किस तरह कराये जाते हैं और जनता को लाभ दिलाया जाता है।जनसभा में पूर्व ऊर्जा मंत्री व सादाबाद विधायक रामवीर उपाध्याय ने कहा कि आप लोगों के आशीर्वाद से ऋतु उपाध्याय के अध्यक्ष बनने के बाद नगर पालिका परिषद् द्वारा नयी दुकानों का निर्माण कराएँगे और उन दुकानों को गरीबों और जरुरतमंदों को आवंटित किया जायेगा। नगर पालिका क्षेत्र से लगी हुयीं नयी तथा पुरानी कॉलौनियों को नगर पालिका क्षेत्र में शामिल कर उनका भी समुचित विकास किया जायेगा। शहर में लगने वाले जाम की समस्या से शहर को निजात दिलाने के लिए पार्किंग की भी व्यवस्था की जायेगी। शहर में खोखा पटरी व्यापरियों, हथठेले तथा ई-रिक्शा वालों पर 30 रूपए रोज के हिसाब से जो कर लगाया है उसे रामवीर उपाध्याय बोर्ड की पहली मीटिंग में खत्म करने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि मैंने जिस तरह अपने विधायक काल में विकास कार्य कराये थे उसी तरह नगर पालिका की अध्यक्ष बनने पर ऋतु उपाध्याय भी विकास कराएंगी। इस अवसर पर जोन इंचार्ज लल्लन बाबू एड., जिलाध्यक्ष ब्रजमोहन राही, होतीलाल कुशवाहा, जिला महासचिव नन्दलाल निरंकारी, पूर्व जिलाध्यक्ष भंवर सिंह कुशवाह, जिला उपाध्यक्ष जयवीर दिवाकर, मानपाल दिवाकर, नेकसे लाल दिवाकर, सुनील कुशवाह, सुधीर पचौरी, प्रदीप पचौरी, साकेत पराशर, पवन तिवारी, आशीष बंसल, मुनेन्द्र शर्मा, पवन शर्मा, नेता शर्मा, राकेश कुशवाह, डॉ ओम प्रकाश कुशवाह, योगेन्द्र कुशवाह, डा. पूरन सिंह कुशवाह, चम्पाराम कुशवाह, होतीलाल कुशवाह, हरिपाल कुशवाह, अरविन्द सिंह पौरुष, ओमप्रकाश गौतम, साधू गौतम, उमेश कुमार पाली, हरीशंकर माहौर, साहब सिंह बघेल, गिर्राज किशोर माहौर, मनमोहन सिंह माहौर, राजू जाटव आदि तमाम लोग मौजूद थे।
Photo

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो🐘🐘🐘🐘🐘🐘🐘
बसपा ने घोषित किए पार्षद पद के 54 प्रत्याशी
Aligarh Bureau
Updated Mon, 06 Nov 2017 01:50 AM IST
बसपा ने घोषित किए पार्षद पद के 54 प्रत्याशी
ब्यूरो, अमर उजाला अलीगढ़।

बसपा ने रविवार देर शाम कई पार्षद उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी।
जिलाध्यक्ष अशोक सिंह एडवोकेट द्वारा जारी सूची के मुताबिक वार्ड नंबर एक से योगेश पत्नी श्रीराम कुमार, दो से सिमरन पत्नी प्रताप सिंह, तीन से कमलेश पत्नी केपी सिंह, चार से विष्णु खरे, पांच से मीना सिंह पत्नी रामप्रसाद, छह से महेश पाल सिंह, सात से विक्रम प्रताप सिंह, आठ से हरीबाबा गौतम, नौ से वीनेश पत्नी अजय प्रजापति, दस से हरी सिंह, 11 से नरायन सिंह प्रजापति, 12 से इंद्रा वर्मा पत्नी प्रकाशवीर, 13 से प्रेमशंकर दरोगा जी, 15 से मो. साबिर, 16 से रीना पत्नी राजीव कुमार, 17 से नन्ही बेगम पत्नी जाहिद, 18 से जितेंद्र उर्फ जीतू पाठक, 19 से रूपा, 21 से संजय भारद्वाज, 22 से ओमप्रकाश भोलेजी, 23 से मो. अली धन्नू, 25 से दिलशाद, 27 से राकेश लोधी, 28 से अख्तर खान, 30 से रुख्सार बेगम, 31 से राजेंद्र पाल सिंह, 32 से रेशमा बेगम पत्नी नईम खां, 33 से रीना शर्मा उर्फ रुचि, 34 से शहरबानो पत्नी हामिद, 35 से कपिल सूर्यवंशी, 36 से अखलाक उर्फ गुड्डू, 37 से अनीस सैफी, 38 से रेखा शर्मा पत्नी डॉ. पीके शर्मा, 39 से मुनीश अहमद गाजी, 41 से मनोज कुमार, 42 से हेमलता शर्मा पत्नी हिमांशु शर्मा, 45 से दीक्षा गौड़, 46 से मो. अबरार, 47 से शाकिर, 50 से आशिना बेगम, 53 से अफसाना बेगम पत्नी आकिल, 54 से मुसर्रफ हुसैन, 55 से हफीज अब्बासी, 56 से भुल्लन मलिक, 57 से मो. जकी, 61 से नसरीन जहां, 62 से फिरोज खान, 63 से आमरा मुनव्वर, 65 से अमीरुद्दीन अब्बासी, 66 से सद्दाम, 67 से रुकसाना पत्नी हारून, 68 से बिलकिस, 69 हुस्नबानो पत्नी इरशाद, 70 से मो. शकील राइन को प्रत्याशी बनाया गया है।
सूची जारी करते समय जोन कोऑर्डिनेटर रनवीर सिंह कश्यप, सूरज सिंह, अशोक कुमार प्रजापति, विजय चंदेल बघेल, बसपा जिलाध्यक्ष अशोक सिंह एडवोकेट, जसवंत सिंह सांवरिया, जितेंद्र सिंह लोधी, राशिद अली बेग, महानगर अध्यक्ष रोशन लाल, सूरजपाल ठेकेदार, कोल के अध्यक्ष हीरालाल जाटव मौजूद थे।
Photo

Post has attachment

Post has attachment
जय भीम जी दोस्तो
बुंदेलखंड : मंत्री के काफिले ने दलित किसान की फसल रौंदी, नेताओं ने थमाए 4 हजार!
आर. जयन

जालौन (उप्र)। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) भले ही सूखे का दंश झेल रहे बुंदेलखंड के किसानों के प्रति हमदर्दी जता रही हो, मगर उनके मंत्री ही किसानों की फसल रौंद रहे हैं। एक ऐसा ही वाकया जालौन जिले के उरई संभाग में देखने को मिला, जहां जिले के प्रभारी मंत्री जयकुमार सिंह जैकी के काफिले ने एक दलित किसान की तीन बीघे सरसों की फसल रौंद डाली।

मंत्री के पैरों पर गिरकर गिड़गिड़ाने पर भाजपा नेताओं ने उसे सिर्फ चार हजार रुपये बतौर मुआवजा थमा दिए।

मामला उरई शहर के बघौरा बाईपास का है। यहां नगर पालिका प्रशासन ने बुधवार को गौशाला निर्माण कराए जाने के लिए भूमि पूजन में जिले के प्रभारी मंत्री/कारागार राज्यमंत्री जयकुमार सिंह जैकी को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया था, इसी भूखंड के बगल में दलित किसान देवेंद्र दोहरे का तीन बीघे खेत है, जिसमें उसने कर्ज लेकर सरसों की फसल बोई थी।

मंच तक पहुंचने की हड़बड़ाहट में मंत्री और उनके काफिले में शामिल तीन दजर्न गाड़ियों ने दलित किसान की पूरी फसल रौंद दी और वहीं गाड़ियों की पार्किं ग करा दी गई। जब किसान को पता चला, तो वह मंच पर पहुंचकर मंत्री के पैरों पर गिर गिड़गिड़ाने लगा, लेकिन मंत्री जी नहीं पसीजे।

कार्यक्रम खत्म होने के बाद नष्ट फसल की मीडियाकर्मी जब फोटो लेने लगे, तब भाजपा नेताओं ने चंदा करके पीड़ित किसान को महज चार हजार रुपये बतौर मुआवजा थमाकर मामले को ठंडा करने की कोशिश की।


पीड़ित किसान देवेंद्र दोहरे ने शुक्रवार को बताया कि उसने कर्ज लेकर अपने तीन बीघे खेत में सरसों की फसल बोई थी और हाल ही में पांच हजार रुपये का पानी खरीद कर सिंचाई की थी, जिसे मंत्री के काफिले ने रौंद कर बर्बाद कर दिया है।

उसने बताया कि उसके पास केवल तीन बीघे ही कृषि भूमि है, जिस पर उसे तीस से चालीस हजार रुपये की फसल पैदा होने की उम्मीद थी। उसने कहा, "मैं मंत्री जी के पैरों पर गिरा, मगर मंत्री जी कुछ नहीं बोले। बाद में स्थानीय भाजपा नेताओं ने चंदा कर मुझे सिर्फ चार हजार रुपये देकर शांत रहने को कहा।"

सबसे बड़ा सवाल यह है कि बुंदेलखंड के किसान पिछले कई सालों से सूखे का दंश झेल रहे हैं। एक तरफ सरकार किसानों को कर्जमाफी प्रमाणपत्र वितरित कर उन्हें उबारना चाह रही है, वहीं दूसरी तरफ उसके मंत्री फसल रौंद रहे हैं। ऐसे में किसानों के बीच सरकार की 'नीति' और 'नीयत' पर संदेह पैदा होना लाजिमी है।
Photo
Wait while more posts are being loaded