काश्मीर ....वंहा भारतीय फौज एक " आतंकवादी " का एनकाउंटर करती है....और...और कश्मीर की जनता हमारी फौज को दौडा दौडा कर पत्थर मारती है...(आज की घटना)..**भूतपूर्व सरकार का हर नेता चुप!दिल्ली का हाहाकारी मुख्यमंन्त्री चुप! काँग्रेस के सारे बुद्धि जीवी चुप!संघ-मुक्त- भारत करने की इच्छा रखने वाले चुप!एनडीवी चैनल चुप!एबीपी चैनल चुप!इन्डिया टीवी चुप!न्यूज 24 वाले चुप!पत्रकार चुप!साहित्यकार चुप!फिल्मकार चुप!आमिर खान चुप!सलमान खान चुप!पाकिस्तान को करोड़ों भेजने वाला शाहरूख खान चुप!असिहष्णुता का ढिढोरा पिटने वाले चुप!आप चुप!हम चुप!सारा देश है चुप-चाप?? क्यों ?? क्यों ?? क्यों ??धिक्कार है इन सब पर ............लानत भेजता हू मै इन सब परक्यों हम यह भूल गये की यह वही फ़ौजी जवान है ,जिन्होंने पिछले बरस बाड़ से पीड़ित अलगाव वादी काश्मीरीयो को अपनी जान पर खेलकर बचाया था!!!अगर सच मे हम मे हिन्दुस्तानी होने का जरा भी एहसास बचा है तो करो इस पोस्ट को शेयरकब तक चुप रहेंगे हम???क्या सिर्फ good morning और good night और फालतू की शेर शायरी पोस्ट करते रहेंगे ??अरे भाई अब जागो.....कुछ तो बोलो चुप्पी तोड़ो....( झलक इंडिया )
>>अरे शेरनी की नस्ले सियार नही पैदा करती
भारत माता बेटों को गद्दार नही पैदा करती
कभी भेड़ियो के मारे से चीते नही मरा करते
हर हर बम बम जपने वाले बम से नही डरा करते

वर्ष - 1962,
भारत-चीन युद्ध

==चीन==
सैनिक - 80,000
शहीद - 722
घायल - 1697

==भारत==
सैनिक - 10,000 से 12,000
शहीद - 1383
घायल - 1047
लापता - 1696
बंदी - 3968

परिणाम - भारत, चीन से हार गया…!

चीन अभी तक सुधरा भी नहीं है।
लेकिन हमे क्या ?? 53 साल पहले की बात भूल कर हम तो चीनी सामान खरीदेंगे....उसकी आर्थिक स्थिति मजबूत करेंगे !! सैनिक तो होते ही मरने के लिए है !!
नेता बोल देते है.....हमारा व्यवहार बोलता है !!

मर जाएंगे क्या हम बिना चीनी सामान के ??
अगर नहीं.....तो याद उन्हे भी कर लो.....जो लौट के घर ना आए…!!

और सीखो जापान जैसे देशो से……
काफी समय पहले की बात है अमेरिका और जापान में आपसी व्यापार बिलकुल न के बराबर था।
अमेरिका ने काफी जोर देकर जापान की सरकार से कहा की जो आपके यहाँ संतरा (orange) होता है
हम उससे काफी सस्ता और दिखने में अच्छा संतरा आपको दे सकते है।

जापान की सरकार ने अमरीका के दबाव की वजह से आर्डर दे दिया।
जब वो संतरा जापान के बाज़ारों में बिकने के लिए पहुंचा

(आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि जापानी संतरा खाने में कड़वा होता था और जो अमेरिका वाला संतरा था वो खाने में अच्छा भी था। )

तो जब वो अमरीका वाला संतरा जापानी बाज़ारों में आया तो किसी ने नहीं खरीदा।

पता है क्यों नहीं खरीदा…!!
जापानी लोगो ने कहा कि चाहे मेरे देश का संतरा कड़वा और महंगा है।
पर है तो हमारे देश का ही।
हम इसे ही खरीदेंगे।
तो वो बाकी का करोड़ो रूपये का संतरा सरकार के पास पडा पड़ा ही सड गया

तो ये होती है राष्ट्रभक्ति मेरे भाइयो…!!

कुछ सीखो छोटी आँख वाले जापानियों से
हमारी तो आँखे भी बड़ी है और दिल भी…!!
कृपया करके इस पोस्ट को शेयर करे …!!!

🌍दुनिया में सबसे powerfull फ़ौज सोवियत संघ 🇭🇰के पास थी , जिसका खर्चा वह भारत🇮🇳 जैसे देशो को मनमाने दाम पर हथियार बेच कर उठाता था , परन्तु जब अमेरिका 🇬🇧और फ़्रांस🇦🇺 उससे बहुत कम कीमत में उनसे अच्छा हथियार बेचने लगे तो सोवियत 🇭🇰का बाजार टूट गया और ९० के दशक आते आते वह अपने सेना का खर्च उठाने में असमर्थ हो गया परिणाम स्वरुप उसे अपने आधीन राष्ट्रों को आजादी देनी पड़ी इस प्रकार सोवियत संघ🇭🇰 का पतन हो गया ।
चीन 🇨🇳के पास भी बहुत बड़ी सेना है, और उसे भी अपने सैनिको का खर्च उठाने के लिए अपना सामान अन्य देशो के बाजार में भेजना पड़ रहा है और यहाँ तक उसे अपने कैदियों के अंगो को भी बेच कर पैसा कमाना पड़ रहा है ।
लगभग रोज चीन 🇨🇳भारतीय सीमा 🇮🇳में घुस आता है, परन्तु वह वियतनाम युद्ध 🚀के बाद इस स्थिति में नहीं है की कोई बड़ी लड़ाई 🚀लड़ सके, यदि चीन 🇨🇳को बिना एक गोली चलाये सबक सिखाना है तो सबसे अच्छा तरीका यही है कि हर भारतीय 🇮🇳चीनी 🇨🇳सामानों का बहिष्कार करें, क्योकि दुनिया का सबसे बड़ा बाजार भारत 🇮🇳है ,कोई भी देश से यदि इतना बड़ा बाजार छिन जाये तो उसका आधा पतन ऐसे ही हो जाएगा.
मै हर भारतीय 🇮🇳से अनुरोध 👏करता हूँ कि वह चीनी 🇨🇳सामान लेना बंद कर दें...!!
आप जितने भी ग्रुप में है शेयर जरुर करे....धन्यवाद 🙏n

👉: पहली बार कोई ढंग का msg मिला whatsapp पर।👉बॉर्डर पर जंग🚀 नही लड़ 👊सकते पर इतना तो कर सकते हैं।🇮🇳
Wait while more posts are being loaded