Post has shared content
ल्यूकोडर्मा
ल्यकोडर्मा का अर्थ है, त्वचा पर सफ़ेद दाग़ या चकत्ते होना । इसे किलास, श्वित्र या श्वेत कुष्ट , फुलबहरी भी कहते है । यह एक त्रिदोष व्याधि है , जिसमें वात , पित्त व कफ तीनो दोष कुपित होते है , किन्तु आधुनिक चिकित्सा विज्ञान इसे आटो- इम्यून व्याधि मानता है , जिसमें त्वाचा की वर्ण बनाने वाली कोशिकाओं ( मेलेनोसाइट ) का अभाव हो जाता है ।
• कारण
इसके सामान्य निदान अति स्निग्ध तथा गुरु पदार्थों का सेवन अपक्व आहार सेवन , विषमाशन तथा मुख्यत: विरुद्ध आहार ( जैसे दूध के साथ मछली या दूध के साथ नमक ) का सेवन करना है ।
* इसके अतिरिक्त *
• पेट में कीड़े होना
• खून में ख़राबी
• कैल्शियम की कमी
• जलने या चोट लगने
• अनुवांशिक समस्या
• लिवर की समस्या
• गैस की समस्या
अत्यधिक चितां या तनाव में रहना आदि ।
#ल्युकोड्रमा यानी फुलवहरी (सफेद दाग ) का अनुभूत योग नं. ( 1 )
आयुर्वेदिक औषधियां एक ख़ास अनुपात में मिलाकर तैंयार की जाती है ।
ताम्र भस्म + भृंगराज चुर्ण ( स्पे. ) + शुद्ध
बाबची चूर्ण + गंधक रसायन + प्रवाल पिष्टि + चांदी भस्म + स्वर्ण माक्षिक भस्म +स्वर्ण भस्म + आमलकी रसायन आदि ।
सबको आपस में मिलाकर 60, सफ़ेद कागज़ की पुडियाँ बना कर रख लेवें ।
मेरा अनुभूत और कारगर नुस्खा है । फुलबहरी को जड़ से समाप्त कर देता है । जगह -२ से दवाएं खाकर निराश रोगी जरूर आजमाएं ।
#ल्युकोडर्मा ( फुलबहरी ) योग नं. ( 2 )
मजीठ + गिलोय + चिरायता + कुटकी + चिरायता + द्रोणपुष्पी + रसमाणीक्य + आवंला + नीम + खैर + हल्दी + पनवाड़ + दारूहल्दी + करंज + बाकुची + गिलाय सत् + कैसोर गुगल + आरोग्यवर्धिनी बटी + बाकुची तेल + नीम तेल + चालमोगरा तेल आदि एक ख़ास अनुपात में डालकर दी जाती है । आप फ़ोन करके भी दवाई मगंवा सकते है ।
||आपका अपना ||
वैद्य विजेन्द्र शर्मा ( शाडिंल्य )
आयुर्वेद विशारद , उपवैध
मों. नं. 94162 95632
Photo
Photo
22/02/2017
2 Photos - View album

Post has shared content
If You Have One Of These 6 Conditions You Should Stop Consuming Garlic Immediately! It Is Very Dangerous


Post has shared content
अजवाइन के अनगिनत फ़ायदे
• अजवाइन का इस्तेमाल मसाले के रूप में हर रसोई में किया जाता है । दादी - नानी के नुस्ख़े में पेट दर्द होने पर अजवाइन की फक्की मार लेने की सलाह दी जाती है । यह खाने का स्वाद तो बढ़ाती ही है , साथ ही सेहत से जुड़ी कई परेशानियों को दूर करती है । इसका चुर्ण बनाकर खाने से पाचन क्रिया दुरूस्त रहती है । आइए जाने इसके लाजवाब फायदों के बारे में
1. अपच
खाना खाने के बाद भारीपन होने पर 1 चम्मच अजवाइन को चुटकी भर अदरक पाउडर के साथ खाने से फ़ायदा मिलता है ।
2. कब्ज़
कई लोगों को पेट संबधी समस्याएँ रहती है जैसे कि कब्ज़ । इसके लिए रोज़ाना खाना खाने के बाद गुनगुने पानी के साथ आधा चम्मच अजवाइन का सेवन करें । इससे कब्ज़ की परेशानी दूर होगी ।
3. गुर्दे की पथरी
गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए अजवाइन बहुत लाभकारी है । अजवाइन , शहद और सिरका का लगातार 15 दीनो तक सेवन करने से फ़ायदा मिलता है ।
4.अस्थमा
अस्थमा के इलाज के लिए भी अजवाइन बहुत फायदेमंद मानी जाती है । रोज़ाना दिन में 2 बार अजवाइन के साथ गुड़ का सेवन करने से लाभ मिलता है ।
5. पेट दर्द
पेट दर्द से परेशान है तो अजवाइन और नमक का सेवन गुनगुने पानी के साथ करें ।
6 . पीरियड्स
पीरियड्स में होने वाली दर्द से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन का पानी बहुत लाभदायक है । रात को 1 गिलास पानी में 1 चम्मच अजवाइन भिगो कर रख दें । सुबह पानी को पी लें ।
7 . गठिया
गठिया यानी जोड़ो का दर्द । गठिए के रोगी को रोज़ाना अजवाइन के तेल के साथ जोड़ो की मालिश करनी चाहिए । इससे आराम मिलेगा ।
8 . दस्त
दस्त में अजवाइन सबसे बढ़िया घरेलू उपाय है । 1 गिलास पानी में 1 चम्मच अजवाइन डाल कर उबाल लें और इसे छान कर ठंडा कर लें । इस पानी को दिन में 2 - 3 बार पीने से दस्त ठीक हो जाते है ।
9. मुंहासे के निशान
एक छोटा चम्मच अजवाइन का पाउडर और एक बड़ा चम्मच दही को अच्छे से मिक्स करके पेस्ट बना लें । इसे रात को सोने से पहले चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाएं । इसके बाद इसे गुगगुने पानी से धो लें । इसके इस्तेमाल से चेहरे पर मुहासो के निशान हल्के हो जाएगें ।
10 . सर्दी और जुकाम
मौसम में बदलाव के कारण सर्दी और जुकाम हो जाता है । ऐसे में पिसी हुई अजवाइन को सुंघने से राहत मिलती है । यह माइग्रेन नें भी फायदेमंद है ।
|| आपका अपना ||
वैद्य विजेन्द्र शर्मा ( शांडिल्य )
आयुर्वेद विशारद , उपवैध
मों. नं. 94162 95632 
Photo

Post has attachment

Post has shared content
6 Ways in Which This Delicious and Nutritious Vegetable Can Help you to Lose Weight


Post has shared content
Does Your Heel Hurt In The Morning Or Whenever You Stand Up? Here’s What You Need To Know

#health

Post has shared content
अजवाइन के अनगिनत फ़ायदे
• अजवाइन का इस्तेमाल मसाले के रूप में हर रसोई में किया जाता है । दादी - नानी के नुस्ख़े में पेट दर्द होने पर अजवाइन की फक्की मार लेने की सलाह दी जाती है । यह खाने का स्वाद तो बढ़ाती ही है , साथ ही सेहत से जुड़ी कई परेशानियों को दूर करती है । इसका चुर्ण बनाकर खाने से पाचन क्रिया दुरूस्त रहती है । आइए जाने इसके लाजवाब फायदों के बारे में
1. अपच
खाना खाने के बाद भारीपन होने पर 1 चम्मच अजवाइन को चुटकी भर अदरक पाउडर के साथ खाने से फ़ायदा मिलता है ।
2. कब्ज़
कई लोगों को पेट संबधी समस्याएँ रहती है जैसे कि कब्ज़ । इसके लिए रोज़ाना खाना खाने के बाद गुनगुने पानी के साथ आधा चम्मच अजवाइन का सेवन करें । इससे कब्ज़ की परेशानी दूर होगी ।
3. गुर्दे की पथरी
गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए अजवाइन बहुत लाभकारी है । अजवाइन , शहद और सिरका का लगातार 15 दीनो तक सेवन करने से फ़ायदा मिलता है ।
4.अस्थमा
अस्थमा के इलाज के लिए भी अजवाइन बहुत फायदेमंद मानी जाती है । रोज़ाना दिन में 2 बार अजवाइन के साथ गुड़ का सेवन करने से लाभ मिलता है ।
5. पेट दर्द
पेट दर्द से परेशान है तो अजवाइन और नमक का सेवन गुनगुने पानी के साथ करें ।
6 . पीरियड्स
पीरियड्स में होने वाली दर्द से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन का पानी बहुत लाभदायक है । रात को 1 गिलास पानी में 1 चम्मच अजवाइन भिगो कर रख दें । सुबह पानी को पी लें ।
7 . गठिया
गठिया यानी जोड़ो का दर्द । गठिए के रोगी को रोज़ाना अजवाइन के तेल के साथ जोड़ो की मालिश करनी चाहिए । इससे आराम मिलेगा ।
8 . दस्त
दस्त में अजवाइन सबसे बढ़िया घरेलू उपाय है । 1 गिलास पानी में 1 चम्मच अजवाइन डाल कर उबाल लें और इसे छान कर ठंडा कर लें । इस पानी को दिन में 2 - 3 बार पीने से दस्त ठीक हो जाते है ।
9. मुंहासे के निशान
एक छोटा चम्मच अजवाइन का पाउडर और एक बड़ा चम्मच दही को अच्छे से मिक्स करके पेस्ट बना लें । इसे रात को सोने से पहले चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगाएं । इसके बाद इसे गुगगुने पानी से धो लें । इसके इस्तेमाल से चेहरे पर मुहासो के निशान हल्के हो जाएगें ।
10 . सर्दी और जुकाम
मौसम में बदलाव के कारण सर्दी और जुकाम हो जाता है । ऐसे में पिसी हुई अजवाइन को सुंघने से राहत मिलती है । यह माइग्रेन नें भी फायदेमंद है ।
|| आपका अपना ||
वैद्य विजेन्द्र शर्मा ( शांडिल्य )
आयुर्वेद विशारद , उपवैध
मों. नं. 94162 95632 
Photo

Post has attachment

एक इलायची रोज, रखेगी आपको सेहतमंद



इलायची एक सुगंधित मसाला है। इसका इस्‍तेमाल खाने में स्वाद और खुशबू बढ़ाने के साथ-साथ माउथ फ्रेशनर के रुप में भी किया जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि दिन में सिर्फ 1 इलायची खाने से आप कई तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से भी बच सकते हैं। य‍कीन नहीं आ रहा तो आइए इस आर्टिकल के माध्‍यम से दिन में 1 इलायची खाने के फायदों के बारे में जानें।
इलायची में आयरन, जिंक, राइबोफ्लेविन, सल्‍फर, विटामिन सी और नियासिन पाया जाता है। जो हर तरह से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते है। साथ ही साथ यह कई सारी बीमारियों से हमारे शरीर को लड़ने में मदद करता है। वैसे तो इलायची खाने के फायदों की एक लंबी चौड़ी लिस्‍ट मौजूद है लेकिन आज हम आपको इसके कुछ खास फायदों के बारे में जानकारी देगें।
जिनकी सांसों से दुर्गंध आती है वह लोग रोजाना सिर्फ एक इलायची खाकर अपनी सांसों की दुर्गंध को दूर कर सकते हैं। क्‍योंकि इसमें बहुत सारे एंटी-बैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो हमारे मुंह के अंदर मौजूद बैक्‍टीरिया को जड़ से खत्‍म कर देता है। इसलिए मुंह से आने वाली गंध, सांस की बदबू, मुंह के छाले, मसूडो मे दर्द या सूजन आदि मे बहुत अधिक लाभ देती है।
इलायची रेड ब्लड सेल्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह शरीर से विषैले तत्‍वों को बाहर कर फ्री रेडिकल्‍स का मुकाबला करती है।
यह हमारी पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। पाचन तंत्र में मौजूद किसी भी प्रकार की समस्‍या को खत्‍म करता है। इलायची प्राकृतिक रूप से गैस को खत्म करती है। यह पाचन को बढ़ाने, पेट की सूजन को कम करने व दिल की जलन को खत्म करने का काम करती है। अगर आपको पाचन तंत्र से जुड़ी कोई भी समस्‍या है तो रोजाना एक इलायची का सेवन करें।
सर्दी के मौसम में बहुत सारे लोगों को सर्दी जुकाम और गले में खराश की शिकायत रहती है। अगर आप रात को खाना खाने के बाद सिर्फ एक इलायची अच्‍छे से चबाकर खाते हैं और ऊपर से गुनगुना पानी पीते हैं तो निश्चित रूप से आपकी यह समस्‍या दूर हो जाती है। इस उपाय को करने के बाद आपको किसी भी एलोपैथी दवा लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
इलायची से कोलेस्‍ट्रॉल भी कम किया जा सकता है। अगर आप रोजाना ए‍क इलायची को अच्‍छे से चबा-चबाकर खाते हैं तो यह हृदय संबधी रोगो मे लाभ मिलता है। यह हमारे ब्‍लड सर्कुलेशन को नियंत्रित करता है जिससे शरीर की बीमारियां दूर हो जाती है खासतौर पर दिल की धमनियों पर जमा वसा को दूर करता है।
इसके अलावा इलायची हमारे पैरो की सूजन, पेट के दर्द, हाजमा, एसीडिटी, सिर दर्द और रक्तचाप को नियंत्रित करता है साथ ही खून की कमी को भी पूरा करता है।
आपको इलायची खाते समय यह सावधानी रखनी होगी कि इसे केवल 1 ही खाये और खाने के बाद इसे अच्‍छी तरह चबाए और कोशिश करें कि इसे खाना खाने के बाद खाए।

Post has shared content
Wait while more posts are being loaded