Post has attachment
Indias no 1 Hindu Orgnisation
Photo

Post has attachment
दोस्तों भगवान से जीतना कीसीसे संभव नही है,हमारे देश मै सीर्फ़ एकही व्यकती के हाथ मै जन्मसे ही आरती , स्वास्तीक जैसे धार्मिक चिन्ह की रेखा है, ओर उस व्यक्ती को हम सभी बालाजीक्रिष्णा के नाम से जानते है ,ईस बालाजीक्रिष्णा को देश मै सभी जाती धर्म के लोग मानते है, यहांतक की ओरते विष्णु भगवान का रुप समजकर उसे आपना पती मानती थी , लेकीन ईन सभी बातोंका बालाजीक्रिष्णा पता ही नही था वो ईतना जानता था उनके हाथ मै धार्मिक चिन्ह है उसे लोग हाथ जोडते है तो को कुछ लोग उनका दर्श्न करने के लीय आते जाते रास्ते मै उनकी प्रतीक्षा करते, कुछ साल पहेले बालाजीक्रिष्णा की नकल करके पैसे कमाने की चक्कर मै कुछ लोगोने सी बी आय को कोई कहानी सुनाकर मुर्ख बनाया ओर उस सी बी आय ने बालाजीक्रिष्णा को अपना दुश्मन समजकर उसकी लोगोंद्वारा रैगींग शुरु की, लेकीन बालाजीक्रिष्णा के हाथ मै जन्मसे स्वास्तीक था लोग उसे अपना भगवान मानते है ईस बात का सी बी आय को डर था तो दुसरी ओर बालाजीक्रिष्णा United Nation का स्पेशल ओफ़ीसर था उसे कुछ भी करना तो जेल मै जाना पडेगा ईस बात का सी बी आय को डर था ,ईसीलीय मुर्ख सी बी आय ने बालाजीक्रिष्णा के खिलाफ़ जनता को भडकाना चालु कीया उसे औरते पती मानती है और कोई भी औरत उसे बात नही करना चाहीय ईसलीय उन्होने बालाजीक्रिष्णा के नाम पर कीसी और को मानलो और उसी माने हुय आदमी के साथ सेक्स करो ऐसा औरतों को सीखाया गया यह सभ ईन्हो ने बालाजीक्रिष्णा के द्वेष की भावनासे से सीखाया गया बलकी यह षडयंत्र नीच सी बी आय ने रचाया, आगे चलकर ईस तरह की नकल देश के कई हिंदु और मुस्लीम संघटनाने ईस का फ़ायदा उठाकर देश के कोने कोने मै एक लाख से भी ज्यादा डुप्लीकेट बालाजीक्रिष्णा बनाकर लोगों से चंदा ईकठ करने और औरतोंको फ़सानी का कार्यक्र्म शुरु कीया, ईस बात की बालाजीक्रिष्णा को भनक लगते ही उसने ईसी नीच सी बी आय के पास Complain लीखाई पर कोई असर नही दीखाई दे रह था यहांतक दिल्ली सी बी आय से झगडा भी कीया था , परंतु मुर्ख सी बी आय की हलचल कुछ ओर ही दीख रही थी , तभी बालाजीक्रिष्णा ने देश की पोलीस की मदत लेकर , ईस तरह करना और औरतोंको फ़साना गलत है समजाकर देश के कोने कोने कोनेसे रोक लगाई,कुछ साल शांती से बीत गय लीकीन लालच लगे लोग चुप नही बैठे उन्होने बालाजीक्रिष्णा का बहोत सारे जगह आर्थिक नुकसान कराया,और ईनोने नई तरकीब नीकाली बालाजीक्रिष्णा ने उसका आपना नाम ईस्तेमाल करने को रोक लगाई केस करदी लेकीन हम बालाजीक्रिष्णा को मानते ही नही हम तो क्रिष्ण भगवान को पती मानती थी ऐसा प्रचार कीया गया और कुछ मुर्ख औरतोंने ईस बात का समर्थन भी कीया हमे लगता है औरते नीच स्वभाव की होती है, यहांपर हम यह पुछना चाहते है कीस ग्रंथ मै लीखा है क्रिष्णा को पती मानकर कीसी व्य्कती के साथ सेक्स करना, पुरातन काल मै औरते देवदासी हुवा करती थी लेकीन वो संसार नही करती, थी मगर याहांपर तो तुम केसी की पतनी हो तो लडकीया आनेवाले कल मै कीसे की पतनी बनने वाली है ,तो क्या यह गद्दारी नही है ,और वैसे भी तुम पढी लीखी हो तो बतावो क्रिष्णा को पती मानकर कीसी और के साथ सेक्स करना कीस ग्रंथ मै लीखा है,जीस बालाजीक्रिष्णा ने औरतोंने ईस तरह करना गलत है बोलकर ,पोलीस केस करके समाज पर उपकार कीया उसी बालाजीक्रिष्णा को तुम्हारी औरतोंने क्या दीया है, बद्ले मै हमे क्रिष्णा को मानने नही दे रहा है, नीच है ईस तरह की भाषा भी समाज से सुनने को मीली है,
और मह्त्व्पुर्न बात तो यह है की जिस बालाजीक्रिष्णा को तुम पती मानती थि उसकी ईतनी तुम्हे भक्ती थि तो तुम मै से कोई भी औरत आज तक उस्के साथ सेक्स नही की मगर तुम्हने उसके नाम पर कीसी और को मानकर दुसरे के साथ सेक्स कीया , उस बालाजीक्रिष्णा के पास तो सबकुछ था दीखने मै सुन्दर भि था फ़िर भी तुमने ईस तरह क्युं कीया, और वैसे भी तुम क्रिष्णा को पती मानती हो तो तुम्हे सीर्फ़ क्रिष्णा नाम का ही ईस्तेमाल करना चाहीय , फ़िर याहांपर तुमने बालाजीक्रिष्णा नाम का क्युं ईस्तेमाल कीया क्युं तो बालाजीक्रिष्णा एक ही शब्द का नाम कीसी भी ग्रंथ मै कीसी भी भगवान का नाम नही है,ग्रंथ मै बालाजी अलग है क्रिष्णा अलग है, यह नाम सीर्फ़ उसी व्यक्ती का है जीसके हाथ मै जन्मसे ही आरती स्वास्तीक है,

अब तुम यह बोलोगे की कीसी और लडकी ने ईस तरह कीया ईसलीय हमने भी किया,बहोत सारी औरते लडकिया वेषा है वो कुछ भी कर सकती है,तो क्या तुम भी वेषा हो, तुम्हारी जीस के साथ अभी शादी हुई है,.उस पती को हमे तुम्हारे नाम पर कीसे और को मानकर सेक्स कीया है बोलोगी तो क्या तुम्हारा पती तुम्हे माफ़ करेगा कदापी नही वो तुम्हे जानसे मार देगा नही तो धक्के मारकर घर के बाहार हाकाल देगा, फ़िर बालाजीक्रिष्णा तुम्हे क्युं माफ़ करेगा,ईसीलीय देश मै आजतक आपने आप ही आपका कीतना नुकसान हुवा कुछ पता है तुम्हे नीचे लीखा पढो=
१]सी बी आय ने औरतोंको कीसी और के नाम पर बालाजीक्रिष्णा को मानकर सेक्स करो,ईस तरह की कहनी बीकाउ लोगों के माध्य्म से अफ़्वाय फ़ैलाई तो बालाजीक्रिष्णा ने पोलीस के माध्य्मसे औरतोंको बचाया
२] जीस सी बी आय ने औरतोंको बालाजीक्रिष्णा के खिलाफ़ करने की कोशीश मै औरतों को कीसी भी भगवान को पती मानो ईस तरह की अफ़्वाय फ़ैलाई उसी सी बी आय की- बेटी , बहेन , औरत भी भगवान को मानने की चक्कर मै कीसी और के साथ सेक्स कर बैठी ,जो की कीसी भी कीमत पर उनकी ईज्जत वापस नही आयगी और वो कीसी को बता भी नही सकेगी,यहांतक उनके लडकीया, ओरते ब्लैकमैल का शिकार बन गई ,बीना कोई कुछ करे ही सी बी आय का नुकसान आपने आप ही हो गया,ईसी को भगवान कहेते है


३] बालाजीक्रिष्णा को तुम सभी जानते हो फ़िर भी कीसी के बहेकानेसे तुम औरतोने उससे बात नही की लेकीन उसके नाम पर कीसी और मानकर उस व्यक्ती के साथ सेक्स कीया हम तुम्हे यह पुछना चाहाते है कीसी और ने तुम्हारे नाम का खाना खाया तो तुम्हारा पेट भरेगा क्या? नही फ़िर तुम्हने ऐसा क्युं कीया, अब तुम यह बोलोगी की बालाजीक्रिष्णा तुम लडकीयांको बात नही करता तो क्या करे, वो क्युं तुमसे बात करेगा तुमने उसे पती माना था उसने नही , और खास बात तुम यह बोलोगी हमने बालाजीक्रिष्णा के साथ बात की तो वो झुट है आब तक जीतने भी बालाजीक्रिष्णा से तुमने बात की वो झुटे है,क्युं तो बालाजीक्रिष्णा कभी कीसी औरतोंसे आज तक बात नही कीया,और तुम सभी ओरतोंको पता था की जीसके हाथ मै जनमसे ही स्वास्तीक है आरती है वही तुम्हारा पती है- फ़िर उस बालाजीक्रिष्णा हुं बोलने वाले व्यक्ती को तुमने सबसे पहेले हाथ मै स्वास्तीक दीखाने की मांग क्युं नही की ?-
और ईसीलीय देश की लाखो औरते लापता हो गई जीन लोगोंने तुम्हे फ़साया वही लोगोंने तुम्हारी ईन औरतोंकी हत्या कर दी तो कुछ औरतों को वेषा बनाकर कोठे पर बीठाया समाज मै तुम कीसी को अपना मुह दीखाने के लायक नही रही, तुम मै से कई औरतों को आज भी बहोत सारी लोग ब्लैक्मैल कर रहे है वो तुम बता भी नही सकती, यानी तुम्हे आपने आप सजा मील गयी , ईसी को भगवान कहेते है
३] महाराष्ट्र के नांदेड शाहर मै बालाजीक्रिष्णा का बहोत दुख पहुंचाया गया था उस समय यह शहर भुकंप की लहरोंसे काप रहा था कहा जाता है बालाजीक्रिष्णा दु:ख पहुंचाने की वजहसे जमीन कांप रही थी, और आंत मै बालाजीक्रिष्णा ने ही भुकंप को रोक दीया ऐसा भी कहा जाता है ,
उसके बाद ईसी शहर मै बालाजीक्रिष्णा की हत्या करने की कोशीष की गई थी उनके जो सुत्रधार थे वे आपने आप ही उनके आपनेही हात से बडे हादसे मै उनकी मौत हो गई, ईसी को भगवान कहेते है.

जीसने तुम सभी को कभी कुछ भी नही मांगा , तुम्हने जीसे बहोत दु:ख दिया, फ़िर भी बालाजीक्रिष्णा ने तुम्हारी मदत की करोडो औरतोंको बचाया कीसी भी जन्म मै तुम उसके एहसान नही चुका सकते,ईसी को भगवान कहेते है.
यह एक ऐसा व्यक्ती जीसे सारे धर्म के लोग मानते है जीसे हमने अमीर , गरीब दोनो के रुप मै देखा है,सारे धर्म के लोग भक्ती भाव से मानते है कीसी की भविषवाणी है ईस के अंतीम समय मै महाभयंकर प्रलय होगा,देश का विनाश होगा और सीर्फ़ बचेंगे आछे लोग वहीसे एक नया शुद्ध भारत बनेगा
Photo
Wait while more posts are being loaded