Post has attachment
Koi rajasthan ki mom hai💝😘
Animated Photo

Post has attachment
my mom
Photo

Post has shared content

Ma ki chut mari aur mrwai


Meri name chandan hai age 19 mai bsc final year me hu mere ghar me hm 2 log rhte hai mai aur maa papa nhi rhe ye kahani meri maa ki chudai ki hai isme pahli bar maine maa ko kaise choda uske bad maa kis kis se chdi pdhne ko milega ye meri schi kahani hai

Meri maa ka name Indu hai age 36 ekdm gori hai meri maa k chuche 36 size k hai jo ki tight v hai meri maa ki gand moti hai jb wo apne chutd matka k chli hai to muhhle k ldke ahe bharte hai hr koi unki gand ka diwana hai unki gand dekh k kisi ka lund khde hue bina nhi rhta

Ab apko jyada na pkate hue kahani pr ata hu pichhle grmio ki bat hai mai aur maa ek shadi me ja rhe the hmara reservation nhi tha to hm general dbbe me chdh gye us dbbe me bahut bhhed thi hm toilet ki trf khde ho gae wha pahle se aur log v the mom k pichhe ek uncle khde the unki bagal me ek meri hi umra ka ldka aur mom k age mai mom hm tino se ghiri hui thi aur sti hui thi uncle ka lund mom ki gand se sta hua tha dhire dhire khda hone lga us ldke ka lund mom ki jangho pr rgd kha k khda ho gya tha unki chuchia meri chhati se db rhi thi maa bahut uncomfortable feel kr rhi thi maa ne saree pahni thi maa ne kaha bahut bheed hai uncle bole haa aur grmi v bahut hai aur apne lund ka ek dhhka unki gand me lgaya maa mere upr jhuki fir ldke ne v maa ki jangho pr dhaka lgaya aur bola haa aunty mom sharma gai aur mom ne kaha haa uncle mom ki gand me lgatar lund rgd rhe the ldka v jangho pr lund rgd rha tha uncle bole agar jyada dikkt ho rhi h to ap idhr ghum jao mom boli nh thik ha uncle ne mom ki chutad jor se dbae mom ne ek siski bhri mai bola kya hua maa mom boli kuchh nhi beta fir uncle mom ki gand dbane lge ldke ne maa ka pet sahlana chalu kr dia maa ki chuchia jo meri chati se db rhi thi kdi ho gai aur unke nipple ekdm kthor ho gae the mom ka chehra lal ho rha tha mom ne ldke ki trf ankh treri ldke ne mom ka pet dba dia uncle mom se bole agar dikkt h to ap idhr ghum jao mom boli nhi thik hai uncle lgatar mom ki gand sahla aur dba rhe the mom ko v mja a rha tha ldke ne mom k peticoat me hath ghusana chaha lekin peticoat tight thi to mom ne uski trf muskura k dekha ab wo ldka v dhire se hnsa abki bar mom ne apne pet sikod lie jisse ldke ka hath under chla gya lekin mom ko bahut dikkt hone lgi mom bahut bheed hai kuchh jagah bnaie na ap log uncle ne mom ko ek jor ka dhaka dia jisse maa mujhe dhkeli aur mai thoda pichhe ho gya ab maa ne apna hath niche kiya aur dhire se apne peticoat ka nada dhila kr k band lia aisa krte maine maa ko dekh lia mom sharma gai mom boli tight tha beta uncle haa bahut tight hai ldka chikna v hai n aunty mom tuhi ko n pta hoga aur mom shrma k mere chhati me muh chhupa li ab ldka mom ki chut me ungli kr rha tha aur uncle maa k chhutd dba rhe the maine v der na krte hue maa ki dono chuchia pkd li maa ne mujhe ghur k dekha mane maa ko ankh mar di maa fir shrma gai aur apni chhati me muh dhuka lia uncle bole baht mulam hai ab ldka mom k chut me jor se ungli kr rha tha mom ne ek siski bhari aur jhd gai ldke ne apna hath nikala aur mom ki nak k pas rkha fir ek ungli apne muh me dal li aur mom ko dikhakr bola tasty hai mom sharma rhi thi uncle ne kaha mujhe v ckhna ha aur maa k peticoat me hath dal dia mom ne apna hath bdha k ldke ka lund pkd lia ab uncle ne apna hath nikala aur muh me le lia aur pichhe se hath bdha k maa k pet dono hath se sahlane lga aur mom k gle ko chum lia ldke ne ab apna hath mom ki ek chuchi pe rkhna chaha lekin mom ki dono chuchi mai dba rha the ldke ne meri trf dekha aur kaha bhaiya kaha tk jana hai maine btaya to wo bola ok fir uncle ne mom se kHa idhr ghumie na mom ne meri trf dekha to maine v ishara me haa kah dia mom ldke ka lund nikal chuki thi ldke ne mom ko kis kr lia aur bola aunty aj aplog hmare room pe ruk jana kl wha se mai apni gadi se chhod dunga mom uncle ki trf ghum gai thi uncle ne mom k blouse k btn khol die aur bra k upr se chuchi dbane lge mom ne ldke ka lund chhod dia aur apne hath bdha k uncle ka lund pkd lia uncle mom ki chuchi dbate bole q kaisa lga mom boli achha aur unki chati me muh chhupa lia uncle bole chalogi mom kaha uncle jaha mai bolu mom mera beta jha bolega fir mom ne apni gand mere lund pe rgdi maine maa k choli ka strep pichhe se khol dia aur hath bdha k mom ki chuchi dba di ldka ne mom se kaha lo aunty pani pi lo mom ne dekha aur hns di maine bola pi lo mom maa ne pure glass me jo ldke ka virya tha pi liya aur boli bahut tasty fir hmara station anewala tha to maine mom k bra ki strep bandh di aur uncle ne unke blouse k batan bnd kr die uncle ne mom se kaha utr jau mom boli nhi to apna no to de do mom ne number bta dia mom ne kaha apka nam unhone shankar btaya fir mom ne unhe lipp kiss diya ab mai mom aur wo ldka utr gye fir hmne ek auto li aur hm chl diye ldke ne maa k blouse k btn kholna chaha maa ne mna kr dia boli autowala dekh lega to usne mom ki chuchi dbani shuru kr di mom ne rokna chaha wo nhi mana maine maa ka hath apne lund pe rkh dia mom ne meri trf dekha aur shrma gai aur mera lund dbane lgi ab ldke ne mom k blouse khol die aur pichhe se unki choli ki strep khol kfir mom ko upr se pura nanga kr dia autowala shishe me se dekh rha tha ldka mom ki chuchi muh me chusne lga kuchh der bad ldke ka stop aya to bola chlie aunty mere room pe mai bola kisi aur din fir maine usko no de diya maa upr se ekdm nangi thi to usne hath bdha k fir unke chuche dba die aur bye bol k chal dia iska nam monu tha autowale ne pura dekh lia tha ab wo wha se age bdha aur ek dusre raste me gadi mod li aur thodi dur ja k gadi rok di mom mera lund hila rhi thi fir wo aya aur mom k bgl me baith gya aur maa ki chuchi dbane lga maa ne kaha chlo late ho rha hai bola mujhe v to thoda mje lene do mom boli pura le lena lekin av hme chhod do hme shadi me jana hai bola kb hai shadi mai bola kl to wo bola ok aur mom ko kaha ap bdi sexy hai ap aj mere yha ruk jao aur mom ka hath apne lund pe rkh dia jo pahle se hi khda tha mom ne use pkd k kaha thik hai wo bola mai apko kl chhod dunga mom uske lund ko jor se pkd k boli mai ise nhi chhodungi fir wo bola ap kapde pahan lo room pe chlte hai raste me usne apna nam imran btaya maine aur mom ne v apna nam btaya fir wo bola mai thoda apne lie shrab le leta hu mom ne paise nikal k de die boli le lo pura le lena wo mom se paise nhi lia aur mom ki chuchi dba di aur bola iske lie to mai kuchh v kr skta hu fir mom shrma gai aur wo chla gya to mom boli beta aj tk to aisa nhi kr rha tha tu mai bola aj tk to tum v nhi kr rhi thi maa fir maa ne mera lund pkd k bola bahut bda ho gya hai mai bola maa tumne undono ko naa kiya aur ise q haa kr dia mom boli pahla to wo muslman hai dusra ye ki use na kahti to wo aur logo ko v bula leta aur kya hota pta nhi fir mom boli ki aj mje krenge rat bhr fir mai bola maa mai to kbse apko chodna chahta tha lekin dr se nhi kaha kbhi fir mom boli bete tere papa k gujrne k bad mai v bahut tdpti thi us smay tu matr 4 sal ka tha lekin maine kbhi apna mn nhi bhtkaya fir v kbhi kbhi ho hi jata tha fir mai bola ab tum jis se chahe chud skti ho maa maa ne mere gal pe kiss kiya boli mera achha beta fir mom boli khana v bahr se hi le lete hai mai bola thik hai tbtk imran a gya tha pura bottel le k maine kaha khana v le lete hai to bola thik hai fir hmdono khana lane chle gye jb khana le k aye to mom boli jldi chlo beta fir wo apne room pe le gya single room tha uska fir hm jaise hi ghuse to usne drwaja bnd kr dia aur mom ko pkd lia aur bola ap bahut sundr hai aunty to mom boli sirf sundr to mai bola nhi maa tum bahut sexy v ho fir imran maa ki sadi khol dia maa ne v uska pant khol dia aur lund pkd lia imran ne maa ka blouse petticoat sb khol dia aur unhe chumne lga mai maa ko ektk dekhe ja rha tha mom bahut shrma rhi thi fir mom mere pas ayi aur mujhe nanga kr dia aur mera lund pkd lia fir imran ne mom ko bed pe lita diya aur mom se kaha ap ko mai ammi bulau ma boli q nhi kya tumne apni ammi ke sath v kiya hai bola nhi ammi main use chodna chahta hu mom boli to abtk kuchh kiya ki nhi wo bola nhi ammi ab wo maa ki chuchi chuse ja rha tha mai khda tha to maa ne apni dusri chuchi pkd k kaha a beta le tu v dudh pi le bhukh lgi hogi aur hsne lgi ab maine v maa ki chuchi muh me le li mom ne hmdono ka lund pkd lia fir imran bola chandan bhaijaan ap kbse aur kaise ammi ko chod rhe ho mom boli beta av kaha choda aj chudungi mai apne dono beto se fir imran bola maa to fir chandan bhaijaan se pAhle mai chodunga fir msi bola thik hai mere papa imran bola tum mere abba bnoge mom boli lekin kaise imran bola kl mai ammi ko le k a jaunga mai bola chandan bhaijaan use jbrdsti chod denge ab imran mom ko chut chatne lga  mom siskia lene lgi aur imran ka sir pkd k apni chut pr lga dia imran jor jor se mom ki chut chat rha tha mai mom ki chuchia chus aur dba rha tha mom ahe bhar rhi thi aur bol rhi thi aise hi beta ahhh aur chuso fir mai maa ko lip kiss krne lga maa bahut mje me thi fir maa ne jor se siskari li ahhhhhohhhhhhummmmmmahhaur jhd gai aur boli chat le pura rs mera beta chat chat beta tum mere sbse achhe bete ho imran mom ki chut ka sara pani chus lia aur mujhse bola bahut tasty hai ammi ka swad bola chakhega mai bola haa to usne mom ki chut me ungli dal di fir usne wo anguli mere muh me dal di fir mom uth k baith gai aur imran ka lund muh me le lia mai mom ki chut chatne lga imran mom ki chuchia v dba rha tha mom bahut mje se lund chus rhi thi imran ne mom ka sir pkd lia aur unke muh ko jor se chodne lga mom ko drd v ho rha tha maine maa ki chut chatni chhod di aur apni do ungli maa k chut me dal di maa ne imran ka lund kat lia imran bola ammi meri randi bnogi mom boli haa aj mai teri randi hu ab chod do beta imran mom ki chut k pas a gya aur mom ko kutiya bna dia maine apne lund maa k muh me dal dia ib imran maa ki chut pe lund rgd rha tha maa mje me ummmm kr rhi thi fir imran ne ek jhtke me maa k chut me lund dal dia maa ne mera lund nikal diya aur boli nikal beta imran ne fir fhkka lgaya aur abki bar maa k ansu nikl gye fir maa boli beta bshut drd kr rha hai maine apna lund maa ke muh me dal dia ab imran dhire dhire dhakka lga rha tha aur mom mere lund ko chus rhi thi achank imran ne tej dhakke dene shuru kie maa ko fir drd hua maa ne mere lund pe dant gda die fir chusne lgi ab imran tej dhkko k sath maa ko chod rha tha maa ab mje me a gai thi maa ab apni gand pichhe dhkel rhi thi fir maine apna lund bahar nikal lia aur maa se puchha kaisa lg rha hai maa maa boli beta bahut mja a rha hai beta aj salo bad chudi hu imran bola ammi ab hm roj chodenge apko mai bola ha maa ab mai tumhe khub chodunga aur chudaunga v mom ahhhhhhhohhhhhhahhhhhhhhhhohhhhhummmmmmmmahhhh bol rhi thi fir mom jor se bolne lgi aur jhd gai iran tej tej dhkke lga rha tha aur bola ammi apko aj khub chodunga ap meri randi ho meri kutiya ho mom boli ha tu mera ammichod beta hai mai teri kutiya hu maa ab sithil thi fir maine mom k muh me apna lund dal dia mom chusne lgi imran mujhse bola iske pahle kisi ko choda hai mai bola ha mai bola tu bola ha mai bola kise choda bola bahuto ko mai bola realative me kisi ko choda imran bola ha fir mom grm ho gai thi ab imran ne apna lund chut se nikal lia aur maa ko sidha lita dia ab wo maa ko chod rha tha mai maa ki chuchia dba rha tha mom ahe bhr rhi thi mom ne kaha bahut mja a rha hai aur jor se chodo beta fir imran palat gya ab mom uske upr thi imran bola mere abbujaan ek kam kroge mai bola kya mere papaji bola abbu kya apne kbhi gand mrwaya hai mai bola ha papaji bs ek bar try kiya tha lekin drd ho rha tha to mai uske bad nhi kiya bola kbhi kisi ldke ki gand mari hai mai bola ha papaji bola kya mai apne abbu ki gand chat skta hu mai bola ha to bola a jao abbu ab mai uske muh pe baith gya wo meri gand chatne lga maa uchhl uchhl k chudwa rhi thi boli aj mera beta dusri bar gand mrwa le abbu se mai bola nhi maa mom boli bahut mja ayega beta fir mom meri chuchi pkd li to maine v mom ki chuchi pkd li ab imran jhdnewala tha maa v jhdnewali thi fir dono ek sath jhd gye ab imran ne mujhe hta dia ab dono ahhhhhhh ki awaj kr rhe the fir mom boli beta meri chut chatega mai bola haa maa mom boli abbu k rs ka v swad le le mai mom ki chut chatne lga mom imran ka lund chus rhi thi mom ki chut se bahut pani nikl rha tha jo ki mere nye papa aur meri maa ka tha mai sara chat gya fir imran mere pichhe a gya aur meri gand chatne lga mujhe mja a rha tha fir imran ne meri gand me ek ungli dali mujhe drd hua mai jldi se ht gya fir imran bola kya kbhi lund chusa hai mai bola haa bahut bar bola thik tum mera chuso mai tera hm 69 k position me a gye maine imran ka lund muh me le lia imran v mera lund chusne lga mom boli mai kya kru tum dono gndmre ho fir mom meri gand chatne lgi mujhe bahut mja a rha tha aur mai imran k muh me hi jhd gya wo mera virya pi gya mai uska lund chus rha tha mom ne meri gand me ungli dal di mom dhire dhire gand me ungli andr bahr kr rhi thi fir mom tej krne lgi fir mom ne apni do ungli dal di mujhe bahut drd hua lekin maine sah liya qki mujhe bshut mja a rha tha mom jor se ungli andr bahr kr rhi thi imran bola mai jhdne wala hu aur imran jhd gya maine use pura chat lia maa meri gand me ungli kr rhi thi mera lund ap fir khda tha fir mom ne kaha chlo kha lete h fir hm uth gye mom mere lund pe baith gai imran sharb ki botel laya aur 3glass me pag bnaye fir usne hmare glass me apna lund dal dia aur nikal k hme glass de diya hm yino ne pi liya fir dusre pag me pani ki jagah maa ne hmare glass mut diya imran maa ki chut k niche leta tha mai bari bari se tino glass me bharne lga fir maine glass htaya maa ab v mut rhi thi to imran use pi rha tha fir imran mujhse bola tu v pi le mai ab niche maa ki mut piya fir mom ka mut ruk gya to mai uski chut chat lia fir hmne pag khatm kiye fir mom ne pag bnaya aur imran ne usme muta hm pi gye fir mai muta hm pi gye maa ne ab mere lund ko muh me le lia fir hm khane lge kha k jo daru bchi thi use mom k sharir pe dal k chatne lge fir mere sharir pe fir imran k hme bahut mja aya ab hm bed pe sone aye maine ate hi maa ki chut me jor se lund pel diya maa chihuk gai imran maa ki gand chatne lga maa v mje me thi fir imran ma ki gand me ungli dal dia aur ungli se maa ko pelne lga fir usne apne lund pe vasline lgai aur maa ki gand me dal dia ab maa rone lgi maaki gand kafi tight thi imran ne maa ki prwah na krte hue tej dhhke lgane lga ab maa hm dono k lun pe jhul rhi thi ab maa ko v mja a rha thi maa bol rhi aur jor se aur jor se mere kuto ab jm full speed me the maa jhd gai fir mai v jhd gya imran maa ki gand marta rha maa fir se jhd gai ab imran v jhd gya hm waise hi so gae fir subah 3 bje meri nind khuli to dekha imran maa ko ghodi bna k unki gand mar rha tha aur maa se bol rha tha ammi mujhse shadi kr k yhi rh ja maa boli haa beta fir maa ne kaha ki chandan ki gand mar le av soya hai imran bola haa maa aur maa k muh me lund dal diya fir maa ne imran k lund pe vasline lgai aur meri gand me v ungli dal k vasline lga di mai jga tha lekin kuchh bola nhifir imran ne mujhe ghodi bna dia aur mere gand me lund dal dia vasline k chlte uska lund meri gand me pura chl gya mujhe bahut drd hua mai chilane lga to maa ne apni chuchi mere muh me thus di mujhe vasline k chlte km drd ho rha tha ab imran mere nipple masal rha tha kbhi lund hilata aur meri gand marta rha ab mujhe v mja a rha tha imran ne adha ghnta lgatar meri gand mari aur mere gand me hi jhd gya ab mom meri gand chatne lgi imran ne apna lund mere muh me dal dia fir maine use khub chata fir mom boli q mja aya beta mai bola ha maa fir maa ne kaha ki meri gand mar beta mai maa ko ghodi bna k gand mar rha tha imran mujhe kiss kr rha tha bola ap log yhi ruko mai ammi ko lane ja rha hu 2 ghnte me aunga fir wo chla gya maine drwaja bnd kr dia  mai fir maa ki gand marne lga maa boli q mja aya n beta mai bola ha maa bahut fir mai maa ki gand me jhd gya aur waise hi so gae fir hmari nind drwaje ki kht kht se khuli to maine drwaja khola mai nanga hi thadrwaje pe imran aur uski ammi the uski ammi mudne lgi to imran ne usko dhkka de k room me laya aur uska bag rkh k bola kitne bje jana hai mai bola 2bje bola thik hai mai usi smay aunga taiyar ho jana fir apni maa se bola ammi abbu ka khyal rkhna uski ammi av tk bhaunchki thi fir boli ye kya imran ye log kaun hai imran bola ye chandan mere abbu ye inki maa indu aur mom ki chhuchi dba di fir usne apni ammi ko kaha mere abba ko khus kr dena.mom ne age bdh uski maa jiska nam afroj tha gle lga lia imran chla gya mom ne afroj ko bed pe lita dia aur nkab khol dia wah kya gjb ki mal thi afroz mera lund tntna utha afroj mom se boli ye tumhara sga ldka hai mom boli ha fir usne mom k kan me kuchh kaha to mom boli lund hi aisa hai ki koi v le legi fir mom ne mujhe bula k lund pkd lia aur boli bahan afroz mere bete ka lund pkdo mja ayega afroz boli hme nhi krna ye sb fir wo maa ko dhakka de k uthna chahi maa ne use 2-3 thapd lga die wo rone lgi aur boli plz mujhe jane do mai maa se bola maa chhod do meri jaan ko maa chhod k uth gai afroj uth k khdi ho gai maine use baho me bhar lia aur bed pe let gya maine use kiss krna chalu kia tb tk maa ne uske kale dress ko upr utha k slwar ka nada khol dia aur uski chut sahlane lgi wo na na krti rhi mai uske pet pe baith gya aur uske chere ko sahlane lga aur bola man jao jaan bahut mja dunga fir mom ne uski chut me ungli dalna shuru kia aur maine uski chuchi dbani chalu kr di wo na na krte rhi fir usne apni ankhe bnd kr li mom uski chut chusne lgi thi maine mom se kaha dekha meri jaan ko mja ane lga tum meri jaan se jbrdsti kr rhi thi afroj ankh bnd kie muskura rhi thi aab mai uske upr se ht gya aur uske pure kpde nikal diye maine use dekhna shuru kiya wo sharma gai aur uth k mom k chucho me apna muh chhupa lia maine afroj k pichhe ja kr uske chuche dbane shuru kie mera lund uske gand pe touch ho rha tha use mja a rha tha maa boli meri bahu bnegi usne haa me sr hilaya mom ne apni chuchi uske muh me dal di usne ek bar mom ki trf dekha aur chusne lgi fir mai pichhe se ht k bed pe let gya usne pichhe mud k dekha aur shrma gai mom boli afroj jao apne pati se pyar kro boli ap v chlo na maa boli q akele ja na mai ja rhi hu nahane wo sharmati hui meri trf dekh k boli chlo na aur maa k hath pkd k lai maa ne ate hi mere lund pe apna muh lga diya wo a k mere chhati se muh chhupa li maine dhire se uska sir utha k hoth uske hotho se lga dia wo chusne lgi fir maine uski chuchi muh me bhr li ab mje le rhi thi ab wo uth k apna chut meri muh pe rkh dia aur maa ki gand chatne lgi maa mera lund chus rhi thi fir afroj mere muh me jhd gai mai maa k muh me jhd gya aur maa ne v pani chhod dia afroj maa ka sara pani pi gai mai afroj ka aur maa mera pani pi gai ab afroj ne mera lund muh me le lia mai uski chut aur maa uski gand fir afroz mere lund pe bath gai aur jhulne lgi maa ne kaha beta mai nahane ja rhi hu afroz bola q indu bete ka lund nhi logi maa boli mai rat bhr chudi hu apne dono beto se ab tum aj dono se chudogi afroj boli nhi mai imran se nhi wo mera beta hai mai bola bad ki bad me dekhenge maa drwaja khol k bahar se imran ko call kiya imran thodi der me aya aur usne afroz ko mere lund pe jhuka k apna lund uski gand me dal dia mai afroz k hoth chusne lga afroz mje me thi fir maa ne kaha afroz bete ka lund mubark ho afroz sharma gai  mom imran ki gand chat rhi thi fir imran ne apna lund nikal liya aur maa ko le k plt gya ab usne maa ko apne lund pe baitha lia fir maine uski maa ki gand mari fir mom mera gand chat rhi thi to maine afroz ko chhod k maa ki gand me lund pel dia maa boli beta imran se apna badla nhi loge fir mai maa ko chhod k imran ki trf gya aur uski maa ko hta diya fir uski maa ghodi bn gai imran ne apna lund pel dia uski gand me ab mom uske mom k niche thi dono ek dusre ki chuchi chus rhi thi maine imran ki gand me lund pel dia imran bola jor se mar meri gand kbse kulbula rhi thi fir afroz mom ki chut chatne lgi ab maine jor jor se imran ki gand marni shuru ki aur imran afroz fir mai jhad gya aur apna lund bahr nikal lia maa ne mera lund chusa maine imran se kaha q apni ammi ko randi bnaoge wo bola q ammi randi bnogi afroz boli ha beta ab zor se chod mom boli afroz aj ek din k lie tujhe hindu bnna hai wo boli to isme kya hai mai to chudwane k lie kuchh v krunga ab imran jhd gya afroz ne uska lund chat k saf kia fir imran bola ammi chandan se shadi kr lo afroz boli thik hai imran ab bola chlo sb nahate hai hmne ek sath bahut der tk nhaya fir imran bola mai sindur le k ata hu fir hm bahar aye imran sindur laya usne maa ko lgana chaha to maa boli av nhi aur uske hath ka wo sindur apni chut pe lgwa lia fir imran bola mere abba aj se ap papa bn jao fir maine sindur kr dia usne jhuk k mere aur maa k pair chhue fir maa ne use saree pahnai fir maa v saree pahni ab hm v taiyar ho gye shadi me jane k lie tb tk imran ka dost sahid v a gya tha imran ne btaya ki ye v apni ammi ko chodna Aur chudwana chahta hai aur sahid ko bolta hai ki maine apni ammi chod li sahid afroz ko bolta h ki apni dost fatima ko v bolo n mai v unhe chodna chahta hu afroz boli teri ammi fatima ko mai tumse chuda dungi lekin tu mujhe v chodega tb sahid bola ha aunty q nhi fir hm gadi me baith gae sahid gadi chla rha tha age ki story agle part me

Post has attachment
my mom
Photo


मम्मी ने मुझ से चुदवाया




 मेरि मम्मी बहुत सेक्सी और सुंदर है। शे हस गोत अ बेऔतिफ़ुल बोदी शपे 38-32-38। शे हस गोत बिग बूब्स अस वेल्ल अस बिग बुत्तोसकस।उनका सुदोल गोरा बदन बहुत हसिन था।

मैं मम्मी को जब भि देखता तो मुझे उनका सेक्सी फ़िगुरे देखकर मन मे गुदगुदि होति थि। मैने उनको एक दो बर ननगा नहते देखा था। मैं बचपन से हि उनके बेदरूम मे साथ सोता था, तो मम्मी -पापा को कै बर सेक्स करते देखा था वो अनधरे मे सेक्स करते थे लेकिन उनकि आवज आति थि कया मसति से दोनो करते थे, पापा धक्का मरते तो मम्मी अवज़ निकलति और उचल उछल कर साथ देति थि। मैं रत को सोने का नतक कर थोदि जलदि सो जता, फिर दोनो लिघत ओफ़्फ़ कर शुरु हो जते वो समझते कि मैं सो रहा हु, लेकिन मैं सोने का नतक करता था। मैं उनका सेक्सी गमेस देखा करता था, मेरा लंड खदा हो जता था, बर बर उपर निचे होता था।

मैं भि सोचता मैं भि कैसे इस खेल का अननद लु। येह सोच कर कै बर लंड खरा जता और रत को मेरे रस झर जता था। एक दो बर तो जब मम्मी मेरे बगल मे सोयि हुइ थि तो मैं उनसे जन भुज कर चिपक्कर सोता, कभि उनकि तनगो के बिच मे अपनि तनग दल देता,तो उनकि निनद खुलने पर अलग कर देति। मैं सोचता रहता कि मेरे साथ कयो नहि चिपकति, मैने कै बर उनके चुतर पर हाथ फेरता, बूब्स भि दबा देता तो वो हथ हता देति थि। मैं मोके कि तलस मे रहता था। कब मज़ा मिलेगा रोज सेक्स देखता था तो मैं नहि एक्ससिते हो जता, एक बर उनहे पता चल गया कि मैने देख लिया है तो अबसे दुसरे रूम मे जकर सेक्स करते थे। मम्मी कि चुचियो को मैं निहरता था जब भि वो खना परोसति या झुक्कर कम करति तो उनके बूब्स कुच उपर उथ जते थे, वो चलति तो उनके हिलते चुतर फनक मे पसि सरी को देखता था, कभि वो नुझे देखति तो अपना पल्लु थिक करति, सरी थिक करति।

मैं बचपन से मम्मी कि जवनि का शबब और कै रुप देखते आया हु। मैने एक बर मम्मी कि अलमिरह मे सेक्सी फोतो कि कितब देखि उसमे ननगि औरत मरदो के सेक्स करते हुए तसबीर थि। उसे देखने मे मुझे मजा आता था और देखते देखते लंड से रस गिर जता था।एक बर कि बात है मेरे पापा कोइ बुसिनेस्स तौर पर गये हुए थे, और उस दिन घर पर भि और कोइ नहि था। रत को दिन्नेर के बद मैं और मम्मी तव पर मोविए देख रहे थे, मोविए मे भि बहुत सेक्सी ससेने थे जो नुझे एक्ससिते कर रहे थे। मोविए के बद फिर सेक्सी गने आने लगे इसि बिच मम्मी उथ कर चलि गयी थि फिर सबले तव पर बलुए फ़िलम आने लग गयी मैं तो एकदम सुरपरिसे हो गया मैने सुना था कि मिदनिघत मे सबले तव पर सेक्सी बलुए फ़िलम दिखते है, कभि मोका नहि मिला था एक दो बर 2-4 मिनुते देखि थि। आज अछा मोका था सोचा कहिन मम्मी नहि आ जवे। मैं सोचा मम्मी रूम मे सोने चलि गयी है और देखा कोइ नहि था मैं चन्नेल चनगे कर बलुए फ़िलम देखने लगा। कया सेक्सी फ़िलम थि औरत मरद को पुरा करते हुए दिखया था। मैने सौनद बनद कर दि थि। अचनक मुझे लगा कि मम्मी पिछे दरवजे के पस खदि होकर फ़िलम देख रहि है, मैने दबि नजरोन से देख लिया, मम्मी को भि नहि पता चला कि मैने देखा है। मैने सोचा जब मम्मी ने देख हि लिया है वो भि देख रहि है तो चलने दो।
दोनो बलुए फ़िलम देख रहे थे। मैने हलकि सौनद भि कर दि । मेरा भि लंड हरद हो गया था, मैं पजमा पहने हुअ था, मैं उपर से अपने लंड को सहलता और पकदता था। अचनक मैं पिछे घुमा और मम्मी को देखकर बोला अरे मम्मी तुम सोयी नहि, अछा तो अब बैथ कर देख लो, कितनि देर तक खदि रहोगि। वो मेरे पस सोफ़ा पर बैथ गयी। फ़िलम मे अब एक ससेने मे मा बेते का सेक्स दिखा रहा था और दो कितने जोर से चुदै का अननद ले रहे थे उसमे वो औरत उसको बोल बोल कर सेक्स का तरिका बतललर चुदवा रहि थि, मैने वोलुमे थोदा बधया, इसे कम हि रहने दो।

अब मैं मम्मी कि गोदि मे जनघो पर लेत गया, और फ़िलम देख रहे थे तरह तरह से चुदै के तरिके देखकर मेरा लंड पजमे मे एकदम खदा था और बेतब हो रखा था जिसे मम्मी देख रहि थि, मम्मी ऐसे कुछ झुकि तो उसके बूब्स मेरे मुह पर आये तो मैने होथो के बिच उनके बूब्स को लिया तो वो,कुच नहि बोलि, फिर मैने और थोदा उपर होकर बूब्स का निप्पके दबा दिया, अब तो वो भि फ़िलम देखते देखते वो अह कर रहि थि और अपनि बुर खुजति तो, बूब्स को मसलत,इ कभि लिपस आपस मे दबति, कभि लिपस दनत मे दबति, मैं समझ गया कि ये बहुत एक्ससितेद हो गयी है। मम्मी अपने बलोवसे मे हथ दलति एक बर तो सदि पेतिसोत मे हथ दलकर बुर मे भि अनगुलि कि, मैने पुछा कया हुअ, कहिन दरद है कया, वो मुसकरा दि। मैं उनकि गोद मे लेते लेते उनकि कमर मे हथ फेर रहा था, ननगि कमर थि, पिचे से लोव सुत था, मैं सोचने लगा आज अछा मोका है, शयद चनसे लग जये, त्री करते है।मैने अपने हथ से उनका बुर दबा दिया फिर सरी के उपर से हि उनगुलि से दबने लगा, उसने सिसकरि मरि, अब मैने अब पिसतुरे खतम होकर दुसरा परत शुरु होने वला था मम्मी बोलि कफ़ि देर हो गयी है सो जओ, बहुत देखल इया अब तव बनद करो, मैं बोला मम्मी थोदि देर और।अछा लग रहा है, वो उथकर सोने चलि गयी मैं फ़िलम देख रहा था, बदा मज़ा आ रहा था आज मैं भि सोचने लगा आज तो मोविए वले ससेने करना हि है और चुदैका मज़ा लेना है।और मोविए खम होने के बद मैने तव ओफ़्फ़ किया और मैं भि मम्मी के बगल मे जकर सो गया बोला यहिन सो जता हु।

मैं मम्मी के बजु मे हि सो गया। और अपना लंड मसल रहा था। मम्मी ने अपना मुह गुमा लिया। कुछ देर के के बद मैं ने मेरा हथ मम्मी के उप्पेर रख दया। मम्मी के कमर पेर मैने मेरा हथ रखा, मम्मी का मुह उस तरफ था, मैं थोदा अगे गया और मा कि और चिपका। मेरा लंड मम्मी कि गनद को छुने लगा। धिरे धिरे मैने मेरा हथ मा के बूब्स पेर रखा और उनहे सेहलने लगा। मुघे लगा मा सो गै है।।लकिन वो सोने का नतक केर रहि थि। मैने धिरे धिरे मेरा हथ मा के पेत से घुमा के मा के सदि मे दला। तभि, मम्मी ने मेरा हथ पकदा।।और बोला।।? कया कर रहा है तो? और वो सिधि हो गै और अपनि सरी थिक कि। मैं बहुत घबरा गया।।लकिन मा ने बोला।।कया बात है मैं बोला कुछ नहि, तो सो जओ मैने कहा अपको मोविए कैसि लगि वो बोलि ये बदो के लिये है, मैने कहा मज़ा आ रहा था। और बोला आज रहा नहि जा रहा है और लंड मसलने लगा, मैने फिर मम्मी के उपर अपनि तनग रखकर चिपक गया और बूब्स दबने लगा, उसने अपने बोवसे के उपर के बुत्तोन खोले हुए थे और सिरफ़ एक हि बनद था, मैने कहा मज़ा आता है ना, मम्मी भि एक्ससिते हो रहि थि। मैने कहा तुमतो पापा के साथ भि मोविए के ससेने कि तरह मसति लेति हि, मैने कै बर तुमको सेक्स करते देखा है तोम कैसे चुदवने का मज़ा लेति हो। और मैने उनका बूब्स जोर से हथ से दबा दिया वो बोलि कया हो रहा है।
तु पगल है,तु मेरा बेटा  है,ऐसा नहि हो सकता बोलि तुमहरे पपा को बोल दुनगि, मैने भि कहा मैं बोलुनगा कि अपने मुझे बलुए फ़िलम दिखयी थि और मुझसे लिपत गयी थि और मेरे कपदे जबरदसति उतर दिये थे। वो बोलि चुप हो जा तु बदमस हो गया है। मैने कहा अगर अज अपने सेक्स करेनगे तो मैं किसिसे भि नहि कहुनगा पापा से भि नहि, और दोनो को सेक्स का मज़ा मिलेगा नहि तो मैं सबको बोलुनगा। वो बोलि अचा चुप हो जा आज कि बात किसि को नहि बतना।मैने कहा ये तो तेरे मेरे बिच कि बात है। मैने कहा जलदि करो मोविए कि तरह करेनगे।मोविए मे जैसे लदी और वो लदका कर रहे थे। बुस मैने मम्मी का बलोवसे का हूका खोल दिया कया सेक्सी बलसक बरा थि अब मम्मी ने अपनि बरा खोल दि और उसके बदे बदे बूब बहर आ गये कया सुंदर मोते मोते, मेरे तो हथ मे नहि आ रहे थे, मैने बूब्स को पकद कर जोर जोर से चुसना शुरु किया और बोला इसे तो बचपन मैं चुसता था तो तु कुछ नहि बोलति थि आज नखरे दिखा रहि है तेरि बुर से तो मैं पुरा निकला हु, अभि तो केवल येह 6 इनच का अनदर जयेगा बहुत नखरा मरति है पापा के साथ तो उछल उछल कर चुदवति है, तेरि अलमरि मे सेक्सी फोतो और सेक्सी कहनियो के कितब है जिसमे चुदै कि कहनि है मैने सब देखा है, मैं अब खुल गया था।

अब वो भि बोलि अछा येह बत है तो कस के दबओ मैं भि कफ़ि उत्तेजित हो गया और जोश मे अकर उनकि रसीली चुनची से जम कर खेलने लगा। कया बदि बदरि चुनचेअ थी और लुमबे लुमबे निप्पले जोर जोर से दबा कर चुसने लगा उनके पिनक निप्पलेस मोते और बहुत सोफ़त थे। जिभ निकल कर गोल-गोल निप्पले पर घुमा कर चत कर सुसक किया। वो आअह्हह्हह?।।उह्हह्हह?ईईस्सस्सस?मज़ा अ गया बोलि। और पियो ये निप्पलेस। मैने कस कर चुचि दबा दबा कर दोनो निप्पलेस पर जिभ से खुब चता फिर मैने उनके लिपस को अपने लिपस मे लेकर खूब जोर जोर से चूसा उसको मज़ा आ रहा था, बोलि तु तो बदा हि तेज है। और उसने मेरे पजमा का नदा खोल दिया मैने पज़मा और उनदेरवेअर दोनो उतर दिये, मैने भि उनके पेत्तिकोत का नरा खिनच दिया उनहोने पेत्तिसोत और सरी उतर दी।

और मैं उनकि चूत के दरशन कर मसत हो गया पुरा गोरा बदन और उसपर झनत उगि हुइ थि गोरे बदन पर कलि झनत खिल रहि थि उनहोने अपने पैर एक दूसरे पर चदा लिये थे जिस्से कि ननगि होने पर भि उनकि चूत छिप गयि थि मैने तकत के साथ मम्मी कि चूत पर से उनका पैर हतदिया । अज मम्मी के बुर पर बदि- बदि झतेन थि,और झतून के अनदेर से झनकता उनका गोरा बुर,मैन तो बस इस बुर को देख कर बेकरर हो गया।मम्मी तेरि बुर कि झनकि बहुत सुंदर है, तु बहुत सेक्सी है रे,और मम्मी के उपर बैथ गया, वो बोलि अर्रे मेरे बेटा  इतनि जलदि कया है ले देख ले जि भर के मेरि चूत को आज इसे मसत कर देना और मेरे पूरे बदन मेन सनसनि होने लगि और मेरा लंड तन कर खरा हो गया। मम्मी ने तुरनत हि मेरा लंड हाथ मेन पकदा और सहलने लगि ।

देखते हि-देखते मेरा लंड मुसल कि तरह मोता हो गया। बोलि बहुत मोता है रे तेरा येह और उसे बूब्स के साथ मसलने लगि। मैने लंड पकदके उनके मुह के पस ले गया मैं बोला चुसो ना इसको, उसने किस्स कर छोद दिया, मैने कहा मोविए कि तरह इसको जोर जोर से चुसो जैसे वो लदी चुस रहि थि। बोलि मैने कभि नहि चुसा है, मैने कहा इसिलिये तो आज ये भि मज़ा लेना है। उसने कहा अछा इसको थिक से पोछ कर आओ, मैने उसको गिले तोवेल से पोछा और गुलब जल चिरक दिया, फिर मम्मी को बोला ले अब चूस देरि मत कर मैने लंड उसके मुह के पस ले गया, उसको गुलब कि खुसबु आयी, वो हलके से मुह मे ली, मैने कहा अनदर तक लेकर चूस नखरा मत कर और लंड उसके मुह मे घुसा दिया और बोला चल चूस और अब वो चूसने लगि। ।।आअह ह्हह। ।ओह्हह्हह्ह।दोनो के मुनह से तेज़ सिसकरियन निकलने लगिन मैं मम्मी से बोला,मुझेय बहुत मज़ा आ रहा हेय, तुझे भि आ रहा होगा, इसे लोल्लयपोप कि तरह चुस जोर जोर से। फिर उसने मुह से निकलकर हथ से सहलने लगि, मैं बोला और कैसे तुमहे मज़ा आता है, बोलो तुमहे जयदा एक्सपेरेनसे है।
अ मैं मम्मी के बूब्स दबने लगा, मम्मी को भि अचा लग रहा था।।उस्से अवजे आ रहि जब मैं मम्मी के बूब्स दबता था और उसके बुर मे उनगलिअया दलता था तब मा बोलति थि।। ?अजीईई, अब्बब्बब्बब बुस भि कर?अप्प मुघे अयसा मत्त तरसाआआअऊऊओ?अब्ब दल्लल्लल्ल भि दूऊ।।और्रर्रर्र कितनाआआअ तरसाओ गे? कयाआ बत है मैने कहा तेरि बुर अभि बैचेन है? ।।? तभि मैने मा को।।पुचा। ? मम्मी , कया मैं अप्प को चोद सकता हु?? वो बोलि अब पुछता कया है मुझसे नहि रहा जा रहा है और मैने मम्मी कि तनग फ़ैलयी और अपना मुसल सा लंड मम्मी के हसीन बूर मेन एक धक्के के साथ घछह्ह।।से घुसा दिया।उसकि बुर चुदते चुदते फ़ैल गयी थी इसलिये मुझे तकलिफ़ महि हुइ पर वो चिल्लयी।।ऊऔऊउईईइरे।।मर दिया रे तुने।।मैने कहा कया हुअ, बोलि कुछ नहि, मज़ा आ रहा है तु जोर से किये जा?मैं तेज़ि से अपना लंड मम्मी के भूनसरे मेन अनदेर बहर करने लगा, मम्मी नीचे से अपना चूत उछल-उछल कर मेरे लंड को अपने चूत मेन निगल रहि थि और पूरा मज़्ज़ा ले रहि थि मैने कहा आज मोविए कि तरह तुझे पुरा चोदुनगा, छोरुनगा नहि, और मैं अनदर तुफ़न बन गया।। मैं ज़ोरो के जथके दे रहा था और मम्मी चिला रहि थि। ? आआआआआअ ऊऊऊऊऊऊउआआआअ ?पल? स्सस स्सस स्सस।धिरे?। मैं मर गै।आआआआआ और धेरीईईईई?।आआआम्मम्मम्मीईईई ? ? मज़्ज़ाअ आआअ रहा है ।मुझीईईए ?? आ ह्हहा? मैं घचगच अपने लौरे को पेल रहा था।मैं भि क्सक्सक्समोविए कि तरह खुल गया था।चुदै कि रफ़तर मैने बधा दि मम्मी बोलि।।ऊऊऊह्हह्ह।आआह्हह्हह।अब मज़ा अ रहा है और चोद ।।ज़ोर से चोदफद दे इस हसीन चूत को।अपनि मा कि मसत चूत कि कसम तुने मुझे मसत कर दिया हैईइ। । कया मज़ा आया, आज तक नहि आया, तु तो अपने बाप का भि बाप निकला।। बदा तेज है रे।।ऊऊऊउईईई।।तुम ने मुझे जन्नत पहुचदिया।।मैन झर गयीईइ रे ।और मम्मी मेरे से लिपत कर बेद पर लेत गयी? थोदि देर बाद बोला मम्मी फिर से लगौ अब तेरि गनद मे, मैने अपनि अनगुलि घुसेदते हुए कहा, बोलि अब भि मन नहि भरा कया, मैं बोला आज तो सरि रात हमरि हि है, मम्मी के पैर उसि तरह फैला कर।मैने पीचे से मम्मी को अपने गोद मेन बिथा लिया और उनके फैले गानद मेन अपना मूसल घूसेर दिया, मेरा अधा हि घुसा था दूसरि तरफ़ एक पल के लियेतो अम्मा चतपता गयि ऊऊओह्हह्हह। शह्हह्हह। ।।बदा दरद हओ रहा है।बदे बेरहम हो तुम।आजि मेरि चूत और गानद दोनो अनदर से हिलदि तुने।।और वो थोदा जोर लगते हि गुछह से मेरा लंड उनकि गनद के अनदर तक चला गया इस बर मुझे भि कुच तकलि हुइ, पर मज़ा आ रहा ।अह्हह्हह।मेरि मा ।मुझे बचा ले ?मम्मी कि आवज निकलि ।सीईईई।हा अह्हहऊऊओह्हह्हह।।मेरि जान निकलि जा रहि है।।कया करेगामैने कहा।।

मम्मी आज मैने तेरे सुंदर बदन ,सुंदर बूब्स सुंदर बुर, कया गोल गोल चुतर के दरशन किये तुने कयो नहि पहले मुझे दिखया, आज का माज़ा बहुत जोरदर था तो तो सबसे जयदा सेक्सी है उस मोविए कि लदी स लदी से भि जयदा। और फ़िर कुच देर के धक्कोन के बाद मैं भि  झड़ने के करीब आचुका था और मम्मी भि  झड़ने वालि थि दोनो एक साथ हि  झड़ गये और मम्मी और मैं वहिन बेद पर लेत गयेगये और मम्मी हाफ़ने लगि आज बहुत दिन बाद ऐसा मजा आया है बेटा । और हुम दोनो अपस मे लिपते रहे सोते रहे मैं फिर उनके बूब्स सहलने लगा। अब तो मम्मी बोलि कया फिर से दुध पिने कि इछा हो रहि है, और उनहोने अपने बूब्स अगे करते हुए कहा ?पुचो मत ये दूध और दूधवलि सब तुमहरि हि है, जितना दूध पिना है पिलो? और मैने बिना रुके उसके मोते मोते सेक्सी बूब्स दबाने लगा। उसे ज़ोरो से चुसने लगा, वो चिखने लगि, चुसो और ज़ोरो से, पिजओ सारा, बेटा  आआअ आआआ ईइ ईईइ अदूध।। ऊऊ ऊह ह्हह्हाआऐईईईईइ?? ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ? आआआआआअ। मैने अपनि चुसै जरि रखि, और वो मेरे लंड से खेले जा रहि थि। मैने उसके बूब्स और निप्पलेस चुस चुस के लाल कर दिये, अब मेरा लंड फ़िर खदा हो गया था। मैने कहा येह फिर से तुमहरि चूत के अनदर घुमना चहता है, बोलि गुमओ ना किसने मना किया सरा हि अभि तुझे सौप दिया है।

Post has shared content

माँ की चुदाई की भाई की शादी में

हैल्लो दोस्तों.. मेरा नाम राहुल है और में जयपुर का रहने वाला हूँ. दोस्तों आज में आपको अपनी एक सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ.. जिसको सुनने के बाद आप सभी को बहुत मज़ा आएगा. दोस्तों मेरे दो दोस्त बहुत अच्छे दोस्त थे और हम तीनों साथ साथ घूमते, एक ही स्कूल में जाते और हम तीनों ने इसी साल 12वीं क्लास पास की है.. मेरे दोनों दोस्तों का नाम सुशील और विकास है और हम तीनों साथ में ही बैठकर कई बार इस साईट पर सेक्स स्टोरी पड़ते थे और हम तीनों को ही आंटी के साथ सेक्स वाली स्टोरी बहुत अच्छी लगती थी. फिर हम स्टोरी पड़कर आस पास की आंटी को हमेशा भूखी नजरों से देखते और उनके बारे में बातें करते थे.

दोस्तों यह स्टोरी मेरी माँ और मेरे इन्ही दो दोस्तों की एक सच्ची घटना है और मेरी माँ का नाम उषा है और वो एक हाऊसवाईफ है और एक अच्छी पतिव्रता नारी है और मेरी माँ थोड़ी मोटी है और माँ 36 साईज की ब्रा पहनती है. में और मेरे दोनों दोस्त हमेशा साथ रहते थे और आज भी रहते है.. हम एक दूसरे के घर आते जाते रहते है और हमारे घरवाले हमें बहुत अच्छी तरह से जानते है.. लेकिन हमारे घरवाले एक दूसरे से कभी नहीं मिले और फिर आज से 4 महीने पहले मेरे एक दोस्त विकास के बड़े भाई की शादी थी तो उसने मुझे और सुशील को भी शादी में बुलाया और शादी दूसरे शहर में थी.. जो कि ज्यादा दूर नहीं था.. हमारे 12वीं के पेपर खत्म हो चुके थे और मेरे पापा ने मुझे जाने की इजाजत दे दी.. लेकिन विकास ने मेरे पापा, मम्मी से कहा कि उन्हें भी शादी में आना होगा तो पापा ने बोला कि सॉरी वो तो नहीं आ सकते और फिर विकास ने कहा कि ठीक है लेकिन आंटी तो आ ही सकती है ना और सुशील के मम्मी, पापा भी शादी में आ रहे है तो यह बात सुनकर मैंने भी माँ से आने की ज़िद की.. क्योंकि और हमे दूसरे दिन की शाम को ही आ जाना था तो पापा ने माँ को जाने को बोला तो माँ ने पहले तो साफ मना कर दिया लेकिन फिर मान गई.

फिर शादी में जाने का दिन आया और बारात में जाने के लिए दो बस थी.. हम विकास के घर पहुंचे तो विकास और सुशील ने हमे वेलकम किया और माँ को अपने घर वालो से मिलवाया.. लेकिन मुझे वहाँ पर सुशील के घर वाले नहीं दिखे तो मैंने उससे पूछा तो सुशील बोला कि वो नहीं आये और हम सभी बस में बैठ गए.. मेरे दोनों दोस्त बस में मेरी माँ के पास बैठे और मुझे पास वाली सीट पर बैठा दिया और वो दोनों मेरी माँ से बातें करने लगे और मुझे बहुत अजीब लगा लेकिन मुझे कुछ ग़लत नहीं लगा.

फिर हम दो घंटे के बाद शादी की जगह यानी दूसरे शहर में पहुंच गये और हमारे रुकने का इंतज़ाम एक गेस्ट हाउस में था.. विकास ने मेरी माँ का और सुशील के लिए एक ही रूम में इंतज़ाम किया था और प्रोग्राम स्टार्ट होने में थोड़ी देर थी तो हम सब आराम करने लगे और फिर थोड़ी देर बाद माँ ने हम दोनों को तैयार होने को कहा.. हम तैयार हुए और बाहर चले गये तो हम दोनों के जाने के बाद माँ भी तैयार होने लगी और जब माँ बाहर आई तो वो नीले कलर की साड़ी में बहुत सुंदर लग रही थी.. दोनों हाथों में चूड़ियां थी.. माथे पर सिंदूर और गहनों में बहुत ही सुंदर लग रही थी. सुशील तो मेरी माँ को देखता ही रह गया.. माँ के पास आते ही वो माँ से बोला कि वो बहुत सुंदर लग रही है तो माँ ने उसे धन्यवाद कहा और फिर विकास पास में आया.. वो भी माँ को देखता ही रह गया और उसने भी माँ की बहुत तारीफ की और वो हम सबको अपनी फेमिली से मिलवाने अपने साथ ले गया.. माँ उसकी फेमिली वालो के साथ ही रुक गयी और हम तीनों वहाँ से चले गये और शादी के कुछ काम करने लगे. फिर में अंकल के साथ बाहर चला गया..

30 मिनट बाद जब में बाहर से आया तो विकास और सुशील माँ के पास बैठे हुए थे और बातें कर रहे थे और माँ भी बहुत हंस हंसकर जवाब दे रही थी तो जब में पास पहुंचा तो वो दोनों माँ को बोल रहे थे कि वो आज बहुत ही सुंदर लग रही है और यह साड़ी उन पर बहुत अच्छी लग रही है.. माँ यह बात सुनकर शरमा गई और बोली कि बेटा कितनी बार बोलोगे.. अब तो मुझे शरम आने लगी है. इस बात पर विकास बोला कि आंटी बस रहा नहीं जा रहा.. इसलिए बोल रहा हूँ. तभी थोड़ी देर बाद हम सभी दुल्हन के घर चले गये.

फिर वहाँ पर भी विकास और सुशील मेरी माँ के आस पास ही रहे और उनसे बातें करते रहते या उनके लिए कुछ लाते रहते और रात के 11 बजे तक सब मेहमान चले गये और अब सिर्फ़ फेमिली के लोग ही रह गये थे और फेरे सुबह 4 बजे के थे तो माँ ने कहा कि वो गेस्ट हाउस जाकर आराम करना चाहती है तो मैंने कहा कि में आपको छोड़कर आ जाता हूँ. तभी विशाल ने कहा कि वो भी साथ में चल रहा है.. उसे भी चेंज करना है और फ्रेश होकर वापस आ जाते है हमने विकास को कहा और हम चले गये. हम अभी गेस्ट हाउस पहुंचे ही थे कि विकास के पापा का मुझे कॉल आया और उन्होंने मुझे जल्दी से आने को कहा.

फिर जब मैंने माँ से कहा तो माँ ने मुझे जाने को बोल दिया और में वहाँ पर गया तो अंकल ने बताया कि विकास को किसी दूसरे काम से जाना पड़ा.. उसे आने में थोड़ा टाईम लग जाएगा.. इसलिए मुझे कॉल करके बुलाया है और फिर उन्होंने मुझे अपने साथ वहीं पर रुकने को कहा और में भी रुक गया तो 20 मिनट बाद आंटी ने मुझे कहा कि पूजा का कुछ सामान गेस्ट हाउस में रखा हुआ है तो तुम उसे ले आओ और उन्होंने एक आदमी को मेरे साथ भेजने के लिए बुलाया.

फिर मैंने कहा कि वहाँ पर सुशील है और में उसके साथ सामान ले आऊंगा.. आंटी ने ठीक है कह दिया और में गेस्ट हाउस की और चल दिया. फिर में गेस्ट हाउस पहुंचा और अपने रूम की और गया.. सुशील को बुलाना तो मुझे म्यूज़िक की आवाज़ आने लगी रूम के दरवाजे से पहले एक खिड़की है.. वो खिड़की खुली हुई थी और मैंने उसमे से अंदर झाँका और देखा तो मेरे कदम वहीं पर रुक गये.. माँ ने अभी भी वही साड़ी पहनी हुई थी और विकास माँ के साथ डांस कर रहा था. माँ वैसे कभी डांस नहीं करती.. लेकिन उन्हे डांस करता देखा में एकदम सोच में पड़ गया और देखने लगा.

फिर माँ ने विकास से कहा कि बेटा तुम्हारे ज़िद करने पर मैंने साड़ी पहन ली और तुम्हारे कहने पर डांस भी कर लिया क्यों अब तो बस तुम्हारी इच्छा पूरी हो गयी ना? अब जाओ अगर राहुल यहाँ आ गया तो वो क्या सोचेगा? और वैसे भी शादी में तुम्हारी ज़रूरत है.. लेकिन तभी लाईट बंद हो गई और मैंने माँ की आवाज़ सुनी.. माँ बोल रही थी कि यह क्या कर रहे हो विकास? और फिर बेड पर गिरने की आवाज़ आई और फिर नाईट लेम्प जला. तो मेरी आखें फटी की फटी रह गयी.. मेरी माँ विकास के नीचे थी और बोल रही थी यह क्या कर रहे हो.. छोड़ो मुझे.. नहीं तो में ज़ोर चिल्लाऊँगी.. लेकिन फिर भी विकास माँ के ऊपर से नहीं हटा और बोला कि आंटी में आपको बहुत प्यार करता हूँ और आप बहुत सुंदर हो.. प्लीज़ मुझे एक बार आपको प्यार करने दो.. प्लीज़ और फिर वो माँ को किस करने लगा और सुशील भी उस समय वहीं पर था. माँ ने उससे कहा कि सुशील प्लीज़ रोको इसे.. देखो यह क्या कर रहा है? सुशील पास आया और माँ के पास बैठकर उनके बूब्स को पकड़कर बोला आंटी प्लीज़ हमें प्यार कर लेने दो.. आपको देखकर आज बहुत प्यार आ रहा है और विकास अभी भी माँ को चूमे जा रहा था और में यह सब देखकर बहुत हैरान रह गया.. मेरी एकदम बोलती ही बंद हो गयी.

चाह कर भी में माँ की मदद के लिए नहीं जा रहा था और माँ ने उनसे छूटने की बहुत कोशिश की वो हाथ पैर पटक रही थी जिसकी वजह से माँ की चूड़ियों की आवाज़ रूम में गूंजने लगी. फिर सुशील ने माँ के हाथ पकड़े और विकास माँ के ब्लाउज के बटन खोलने लगा और उसने एक एक करके सारे बटन खोल दिए और अब माँ ब्रा में थी.. विकास ने ब्रा भी उतार दी और माँ के गोरे मोटे मोटे बूब्स बाहर आ गये और उन पर गहरे भूरे निप्पल क्या लगा रहे थे.

तो माँ अभी भी छूटने की कोशिश कर रही थी.. लेकिन एक और तो सुशील ने माँ के हाथ पकड़े हुए थे और विकास माँ के ऊपर चड़कर बैठा था. फिर विकास नीचे की और बड़ा और उसने माँ की साड़ी को खींचकर निकाल दिया.. माँ अब सिर्फ़ पेटिकोट में ही रह गयी. तो विकास ने साड़ी को सूँघा और माँ को दिखाते हुए फेंक दिया तो माँ रोने लगी और बोली नहीं नहीं प्लीज़ मुझे जाने दो.. लेकिन इससे उन दोनों को कोई फर्क नहीं पड़ा बल्कि माँ को रोता देखा तो उन्हे और जोश आ गया.

तभी विकास बोला कि आंटी प्लीज़ एक बार कर लेने दो.. हम दोनों से किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा. आप सोच लेना कि आज आपकी सुहागरात है और आज आपकी नई नई शादी हुई है. तो माँ बोली कि में तुम्हारी माँ की उम्र की हूँ प्लीज मुझे जाने दो.. में कहीं मुहं दिखाने लायक नहीं रहूंगी.. लेकिन उन दोनों ने माँ को नहीं जाने दिया और फिर सुशील जो अब तक माँ के हाथ पकड़े हुए था.. वो हाथ छोड़कर माँ के बूब्स दबाने लगा. माँ अपने चूड़ियों से भरे हाथों से अपने बूब्स छुपाने लगी और विकास ने माँ का पेटीकोट भी निकल दिया.

अब माँ एकदम नंगी दोनों के सामने बिस्तर पर लेटी हुई थी और माँ अपने नंगे खूबसूरत बदन को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी और माँ ने अपने पैरों को मोड़कर एक दूसरे से चिपका लिया ताकि उनकी चूत छुप जाए और अपने हाथों से बूब्स को छुपा लिया.. लेकिन विकास और सुशील हवस में एकदम पागल हो चुके थे.. उन दोनों ने अपने कपड़े उतारे और माँ पर टूट पड़े. विकास सीधा माँ की चूत पर झपटा और माँ के पैरों को चौड़े करके चूत तक पहुंचा और माँ की झांटो से भरी चूत को चाटने लगा और सुशील माँ के बूब्स पर झपटा और ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और चूसने लगा. तभी माँ की चीख निकल गयी.. क्योंकि सुशील ने माँ के बूब्स को काट लिया था और फिर भी माँ ने अपना विरोध खत्म नहीं किया.

माँ अभी भी उन्हे रोकने की कोशिश कर रही थी.. लेकिन वो कुछ ना कर सकी. यह विरोध 5 मिनट तक चलता रहा और अब माँ थक चुकी थी और उन दोनों के बूब्स चूसने और चूत चाटने के कारण आहे भरने लगी थी. विकास माँ की चूत चाट रहा था और चूत अब एकदम गीली हो गयी थी और माँ की चूत में से पानी आने लगा था. यह निशानी थी कि माँ अब कामुक हो रही थी.. तो विकास बोला कि देखो आंटी अब तो आप भी चुदने को तैयार हो गयी हो.. आपकी चूत में से पानी निकल रहा है और आप आहे भी भर रही हो.

विकास ने सुशील से कहा कि पहले में इनको चोद लेता हूँ.. फिर तू चोद लेना और सुशील मान गया और साईड में आकर बैठ गया. तो विकास अब माँ के बीच में आ गया और अपना लंड को जो कि 6 इंच का लंड था.. वो माँ की चूत पर लगा दिया और एक झटका दिया तो लंड बहुत आसानी से अंदर चला गया और माँ के मुहं से बस हल्की सी आह निकली. तो यह देख विकास माँ से बोला कि क्यों अंकल आज भी आपको चोदते है ना? लेकिन माँ ने कुछ जवाब नहीं दिया.. बस वो लेटी रही और विकास धीरे धीरे धक्के मारने लगा और माँ के बूब्स भी दबाता और चूसता जा रहा था. माँ भी आहे भरने लगी.. थोड़ी देर में माँ ने अपने दोनों पैरों को विकास की कमर पर रख लिया और उसे बांध लिया और अब माँ की मोटी मोटी जांघो ने विकास को दबोच लिया और माँ अब ज़ोर ज़ोर से आहें भर रही थी और विकास को कसकर पकड़ रखा था.

फिर विकास के हर एक धक्के की वजह से माँ के मोटे मोटे बूब्स ज़ोर ज़ोर से हिलते.. जिन्हें देखकर विकास को जोश आ जाता और वो तेज़ी से धक्के लगाता और थोड़ी देर में विकास ने अपनी स्पीड बड़ा दी और 10-15 धक्को के बाद विकास माँ की चूत में ही झड़ गया और माँ भी उसके साथ ही झड़ गयी और विकास माँ के ऊपर गिर गया. माँ और विकास दोनों पसीने से भीगे हुए थे और तेज़ी से सांस ले रहे थे. अब विकास हटा और सुशील आया तो उसने माँ की चूत में देखा और माँ की साड़ी उठाई और उसमे से बाहर निकल रहा वीर्य और पानी को साफ किया. फिर माँ की चूत में उंगली घुसा दी और अंदर बाहर करने लगा.. थोड़ी देर अंदर बाहर करने के बाद उसने माँ की चूत को चाटना शुरू किया और फिर माँ की चूत गीली हो गयी और सुशील के इस तरह काम करने से माँ फिर से उत्तेजित हो गयी और आहे भरने लगी.

माँ ने सुशील के सर को पकड़कर अपनी चूत में घुसा दिया.. विकास ने सुशील को जल्दी करने को कहा.. क्योंकि बहुत देर हो गयी थी. तो सुशील उठा और उसने माँ की चूत में अपना लंड लगाया और धक्के मारने लगा और दो मिनट के बाद ही चूत के अंदर डाल दिया और माँ के ऊपर ही गिर गया.. माँ भी उसी के साथ झड़ गयी और माँ भी तेज़ी से सांस ले रही थी. सुशील माँ के ऊपर से हटा और माँ की साड़ी से अपना पसीना साफ किया और फिर माँ का पसीना भी साफ किया और हट गया. तो माँ ने बिस्तर पर पड़ी चादर को उठाकर अपने बदन को ढक लिया और रोने लगी.. विकास और सुशील माँ के पास आए और माँ को चुप करने लगे.

विकास बोल रहा था कि सॉरी आंटी.. हम आपसे बहुत प्यार करते है और आज आप इस साड़ी में बहुत ही सुंदर और सेक्सी लग रही थी इसलिए हम अपने आप पर काबू नहीं रख पाए. उन दोनों ने माँ को दूसरे कपड़े लाकर दिए और माँ को पहनने को कहा.. माँ चादर में ही लिपटी हुई बेड से उठी और बाथरूम में गयी और कपड़े पहनकर बाहर आई तब तक विकास और सुशील ने भी कपड़े पहन लिए थे और फिर माँ बाहर आई और एक कोने में जाकर खड़ी हो गई.

विकास माँ के पास गया तो माँ ने रोना चालू कर दिया और बोली कि अब में किसी को मुहं दिखाने के काबिल नहीं रही.. तुम लोगो ने मेरे साथ ही ऐसा क्यों किया? अब में अपने पति और बेटे को क्या मुहं दिखाऊंगी? तो विकास बोला कि आंटी प्लीज़ हमे माफ़ कर दो.. हम आपसे बहुत प्यार करते है और आपको पाना चाहते थे और बस हम अपने आप पर काबू नहीं रख पाए और आपके साथ सेक्स सम्बन्ध बना लिए. फिर विकास आगे आया और बोला कि आंटी आप चिंता मत करो हम किसी को कुछ नहीं बताएगे कि आज यहाँ पर क्या हुआ है? और वैसे भी इस समय गेस्ट हाउस में कोई भी नहीं है किसी को पता भी नहीं चलेगा.

माँ ने जब यह सुना तो उनका रोना थोड़ा कम हो गया और विकास ने माँ के आंसू साफ किए और उन्हे साथ चलने को कहा तो माँ ने मना किया.. लेकिन विकास बोला कि आंटी हम आपको ऐसे अकेला नहीं छोड़ेगे.. आपसे हम बहुत प्यार करते है और आगे भी करते रहेगें. तो माँ ने यह बात सुनकर विकास के सर पर प्यार से हाथ फेरा और मैंने अपने फोन से विकास को कॉल किया और में वहाँ से दूर चला गया था और विकास से कहा कि में वहाँ पर आ रहा हूँ और दो मिनट के बाद में रूम पर पहुंचा तब तक रूम की हालत एकदम सही हो गई थी. बिस्तर जो चुदाई के कारण अस्त व्यस्त था.. वो सही हो गया और माँ भी नॉर्मल हो गयी और उन्हे देखकर ऐसा नहीं लगा रहा था कि उनके साथ अभी दो जवान लड़को ने उनको चोदा है और विकास ने तो अपने भाई की शादी में अपनी सुहागरात बना ली थी. फिर जब हम शादी की जगह पहुंचे तो लगभग सब काम खत्म हो गये थे और आंटी ने जो सामान मँगवाया था वो हमने आंटी को दे दिया. आंटी ने विकास से पूछा कि वो इतनी देर कहाँ था? तो विकास ने कहा कि बस यही था.. में किसी काम में व्यस्त था और वो माँ को देखकर मुस्कुराया तो माँ ने शरम से अपनी नज़रे झुका ली और हल्की सी स्माईल दी.

फिर हम वहीं पर बैठ गये और माँ भी हमारे साथ थी.. विकास ने अपना मोबाईल ज़ेब से बाहर निकाला और किसी को मैसेज किया इतने में सुशील का मोबाईल बजा और थोड़ी देर बाद सुशील ने मुझसे कहा कि वो बोर हो रहा है.. चलो हम घूमकर आते है मैंने विकास को भी बुलाया. तो सुशील ने कहा कि हो सकता है उसकी यहाँ पर ज़रूरत हो हम थोड़ी देर में आ जाते है.. यह कहकर वो मुझे अपने साथ ले गया और इधर उधर की बातें करने लगा.

मैंने सोचा कि विकास ने ही सुशील को मैसेज किया होगा मुझे बाहर ले जाने के लिए और फिर मैंने भी सुशील से बहाना बनाया कि मुझे टॉयलेट आ गया है में अभी जाकर आता हूँ तुम यहीं पर रहो में वहाँ पर पहुंचा और में टॉयलेट में चला गया थोड़ी देर अंदर रुकने के बाद मैंने दरवाजा खोला और इधर उधर देखा तो सुशील कही भी नहीं दिखा.

में बाहर आया और चुपचाप उसी जगह पर पहुंचा वहाँ पर सुशील तो था.. लेकिन विकास नहीं था और सुशील माँ से कुछ बोल रहा था. सुशील की बात ख़त्म होने के बाद माँ भी उठकर चली गयी.. मैंने उनका पीछा किया और देखा तो विकास दरवाजे पर खड़ा था माँ उसके पास गयी और वो माँ को लेकर गाड़ियों की पार्किंग में ले गया.. वहाँ पर बहुत उजाला था और माँ ने उससे पूछा कि यहाँ पर क्यों बुलाया है? और फिर विकास ने माँ को गले से लगा लिया और लिप पर किस करने लगा. माँ ने भी इस बार उसका साथ दिया.

तो विकास ने अपना किस तोड़ा तो माँ ने शरम से अपनी नज़रे नीचे झुका ली. वहाँ एक कार खड़ी थी.. उस कार के शीशे काले थे. फिर विकास ने माँ को कार में चलने के लिये कहा.. तो माँ ने कार में जाने में आनाकानी की.. मैंने देखा कि माँ सर हिलाकर मना कर रही थी.. लेकिन विकास ने माँ को कार में अंदर ले ही गया और दरवाजा बंद कर लिया. उसके बाद कार हिलने लगी.. थोड़ी देर बाद कार और ज़ोर ज़ोर से हिलने लगी.. जिससे लगा कि कार के अंदर चुदाई का बहुत जबरदस्त प्रोग्राम चल रहा है और कुछ देर बाद एकदम सब कुछ शांत हो गया.

कार का हिलना बंद हो गया और थोड़ी देर बाद कार का दरवाजा खुला.. उसमे से माँ बाहर निकली वो पसीने से एकदम भीगी हुई थी और हाफ़ भी रही थी और माँ की साड़ी की हालत खराब हो गयी थी. माँ के बाल बिखरे हुए थे और माथे का सिंदूर भी फेला हुआ था और बिंदी भी गायब थी और कार से निकलकर माँ अपने कपड़ो को ठीक कर रही थी. फिर विकास भी बाहर आया.. वो माँ को देखकर बड़ा खुश हो रहा था और उसने माँ को गले लगा लिया.. माँ भी उसके गले लग गई. माँ ने कहा कि उनको अब गेस्ट हाउस छोड़ कर आए और राहुल यानी मुझे बोले कि माँ गेस्ट हाउस सोने के लिए चली गई है.. माँ बोल रही थी कि कही राहुल को शक ना हो जाए. तो विकास बोला कि कुछ पता नहीं चलेगा.. वो यानी कि में सुशील के साथ सो रहा हूँ.. लेकिन माँ को क्या पता कि मुझे सब कुछ पता चल गया है. मुझे शुरू से लेकर आख़िर तक की पूरी दास्तान पता है.

फिर विकास माँ को लेकर कार से चला गया और में भी वापस पहले वाली जगह चला गया और 5 मिनट बाद ही वापस आ गया. इसके बाद उसी दिन हम सब वहाँ से निकले और घर पर पहुंच गये. इसके बाद माँ भी अपनी रोजाना के कामों में लग गयी और नॉर्मल ही दिखती है. अब विकास और सुशील मेरे साथ कम टाईम बिताते और कई बार या तो सिर्फ़ सुशील ही मेरे साथ होता और विकास नहीं होता या फिर विकास होता तो सुशील नहीं होता. लेकिन मेरी माँ और विकास और सुशील का चक्कर अभी भी चल रहा है.



hi

hii

Any Indian incest here in western Massachusetts looking for a real black Daddy to play with

helo
Wait while more posts are being loaded