Post has attachment
https://youtu.be/Z0hRyWNyaiQ
देवशयनी एकादशी व्रत कथा।
23 जुलाई 2018 सोमवार
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/Z1JDApdgVDk
मंगलसूत्र का महत्व ।
मंगलसूत्र से क्या न करे गलती??
दूसरों का मंगलसूत्र तो भूलकर भी न पहनें क्या होता है दूसरे के मंगलसूत्र से??
सब्सक्राइब जरूर करे।
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/GuhpsmqhW-Q
2 जुलाई से शुरू हो रहा है राज पंचक।
पंचक में क्या क्या करना चाहिए?
पंचक में क्या नही करना चाहिए?
कितने प्रकार के होते है पंचक?
सब्सक्राइब जरूर करें।
वीडियो जरूर देखे।
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/K6JlFRnCH6c
अधिकमास पुरुषोत्तम मास चतुर्थी की व्रत कथा।
2 जून 2018
व्रत पूजा तथा चन्द्र अर्घ्य की सम्पूर्ण विधि।
इस दिन क्या करे क्या न करे।
चैनल सब्सक्राइब जरूर करे।
जय श्री गणेश
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/Z1JDApdgVDk
मंगलसूत्र का महत्व ।
ज्योतिष व वैज्ञानिक कारण।
मंगलसूत्र से क्या न करे गलती??
मंगलसूत्र में काले ही मोती क्यों लगाए जाते है किसी अन्य रंग के मोती क्यों नहीं??
चैनल को सब्सक्राइब जरूर करे।
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/ZUYZtgaIZhQ
अधिक मास का महत्व।
अधिक मास में क्या करे क्या न करे??
जय श्री बालाजी

Post has attachment
https://youtu.be/temGbgWHVes
मेष लग्न की कुंडली में चन्द्रमा का फलादेश वीडियो जरूर देखें एक बार और सब्सक्राइब भी करे ।
जय श्री बालाजी

#मंगल_का_प्रभाव

👉यदि सप्तम स्थान में मेष राशि हो और मंगल भी दशम भाव में हो तो बड़ी मुश्किल स्थिति हो जाती है। एक तरीके से कहें तो जीवन नरक के समान तो नही किन्तु उससे कम भी नही होता।

👉अगर आठवें स्थान में सप्तमेश मंगल हो तो मांगलिक योग उत्पन्न करता है। दहेज की समस्याएं कड़ी हो जाती है और व्यक्ति फंस जैसा जाता है। स्त्री की कुंडली में ऐसा हो तो अन्दरूनी बीमारियाँ भी लग जाती हैं जिनका असर सीधा सन्तान उत्पन्न करने की क्षमता पर पड़ता है।

👉मंगल पीड़ित व्यक्ति के लिए प्रतिदिन 10 से 15 मिनट ध्यान ज़रूर करना उत्तम चाहिए। क्योकि मंगल पीड़ित व्यक्ति में धैर्य की कमी हो जाती है, अत: धैर्य बनाये रखना चाहिए। मंगल पीड़ित को क्रोध नहीं करना चाहिए, एवं अपने आप पर नियंत्रण नहीं खोना चाहिए। किसी भी चीज़ में जल्दबाजी नहीं दिखाए और भौतिकता में लिप्त नहीं हों।

WhatsApp 9772550889

Post has attachment
https://youtu.be/qMRjOa4jLDI
सनातन धर्म में गाय का महत्व।
धर्म व संस्कृति से जुड़े रहने के लिए आप हमारे चेन्नल को सब्सक्राइब करे और आगे भी शेयर करे।
जय माँ सुरभि

🌹परिक्षा में सफलता हेतुउपाय 🌹
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
🌹अध्ययन कक्ष में कभी भी कोई कॉपी किताबें पेन पेंसिल को खुला न रखें ।
🌹अध्धयन कक्ष में कॉपी किताबों को हमेशा उनकी नियत स्थान , बैग या अलमारी में ही सलीके से रखें , यह जरुर ध्यान रखें की पड़ाई की मेज, कुर्सी टूटी न हो , कापी, किताबें फटी न हो उन सभी पर जरा भी धूल मिटटी न रहे ,लगातार वहां पर साफ सफाई होती रहे ।
🌹 पड़ने की मेज पर खाना नहीं खाना चाहिए , खाना खाते समय पड़ाई की टेबिल पर कॉपी किताबें बंद करके ,खाना खाने के लिए बनाये गए स्थान पर ही खाना चाहिए ।
🌹हमेशा पड़ाई प्रारंभ करते समय अपने इष्ट देव का ध्यान करते हुए कॉपी किताबों को अपने मस्तक से लगाकर पड़ाई शुरू करें , यही प्रक्रिया पड़ाई को समाप्त करते समय भी दोहराएँ ।
🌹 पड़ने का सर्वोतम समय ब्रह्म मुहूर्त अर्थात सुबह के 4 बजे का माना गया है उस काल में पड़ाई करते समय हमें कई गुना ज्यादा और तेजी से अपना पाठ याद होता है इसलिए पड़ने वाले छात्रों को सुबह सवेरे पड़ाई की आदत अवश्य ही डालनी चाहिए ।
🌹 पड़ते समय छात्र का मुंह सदैव ईशान कोण ( उत्तर पूर्व ) की तरफ ही होना चाहिए इसलिए उसकी मेज इस तरह से हो की उसका मुंह ईशान कोण की तरफ ही रहे ।
🌹 विधार्थी को घर पर पड़ते समय जूते - मोज़े नहीं पहनने चाहिए ।8. इमली के ताजे पत्ते ब्रहस्पति वार को अपनी किताबों में रखने से भी विधार्थी की बुद्धि त्रीव होती है ।
🌹 अष्ट सरस्वती यंत्र को गले में धारण करवाने से भी विधार्थी की बुद्धि का विकास होता है ।
🌹 मोर का पंख अपने पास रखने से विधार्थी का अपने स्कूल कालेज में सम्मान बड़ता है|
🌹तुलसी के पत्तों को मिश्री के साथ पीसकर प्रतिदिन उसका रस विधार्थी को पिलाने से भी उसकी स्मरण शक्ति का विकास होता है ।
🌹 किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्ति हेतु हर गुरुवार को नियम से किसी भी गाय को पीले पेड़े अवश्य खिलाये |
🌹 विद्यार्थी को चहिये की वह गणेश चालीसा का पाठ करें और बुधवार को गणपति जी को बेसन के लड्डू और दूर्वा अर्पित करें, विद्यार्थी को चाहिए की वह अपनी पड़ाई की मेज या कमरे की ईशान की दीवार पर माँ सरस्वती की तस्वीर जरुर लगायें और रोज उनसे बेहतर विद्या प्राप्ति के लिए आग्रह करें ।
🌹 पड़ाई में उत्कर्ष सफलता हेतु छात्र में यह संस्कार डाले जाएँ की वह सदैव अपने माता पिता, घर के अन्य बडे् बुजुर्ग के रोज चरण स्पर्श करें और अपने गुरुजनों को पूर्ण सम्मान दें , ऐसा करने से उस छात्र पर हमेशा ईश्वर की कृपा बनी रहती है ।
🌹 परीक्षा देने जाते समय यदि छात्र मीठा दही या अन्य कोई भी मीठा खाकर जाये तो उसे निश्चित ही सफलता प्राप्त होती है।
🌹 किसी भी विद्यार्थी छात्र छात्रा को कभी भी भूलकर परीक्षा में नकल नहीं करनी चाहिए , चाहे उसे कुछ नंबरों का नुकसान ही क्यों न उठाना पड़े ,नकल करने पर विद्या की देवी माँ सरस्वती उससे कुपित हो जाती है , और उसे लगातार पड़ाई में कठनाइयों का सामना करना पड़ता है ।
🌹 परीक्षा में शत प्रतिशत सफलता के लिए विद्यार्थी छात्र छात्रा को रोज नियम से उगते हुए सूर्य देव को फूल ,लाल चंदन, चावल आदि डालकर जल चडाने एवं उनका ध्यान करने से अति विशेष लाभ की प्राप्ति होती है , इस नियम का जीवन पर्यंत पालन करने से व्यक्ति को जीवन में सदैव सफलता की प्राप्ति होती है ।
🌹 ब्राम्ही का नित्य सेवन करने वाले विधार्थियों की बुद्धि त्रीव होती है स्मरण शक्ति बडती है इसलिए उन्हें परीक्षा में शानदार सफलता प्राप्त होती हैं।
🌹जिन विद्यार्थियों को परीक्षा में उत्तर भूल जाने की आदत हो, उन्हें परीक्षा में अपने पास कपूर और फिटकरी रखनी चाहिए। इससे मानसिक रूप से मजबूती बनी रहती है और यह नकारात्मक ऊर्जा को भी हटाती हैं ।
🌹 विद्यार्थियों के कमरे में यथासंभव हरे रंग के परदे लगवाने चाहिए इससे एकाग्रता आती है और मन भी शांत रहता है ।
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹श्री बालाजी ज्योतिष कार्यालय सरदारशहर whatsapp no.9772550889
Wait while more posts are being loaded