This has come to our knowledge, fake currency of Rupee 2000/ Notes are being flown in India Via West Bengal. Fake cutrency 2000 Notes have been seiged in couple of ocassions in this month also confirms about the Fake currency being in use.
Secondly we are getting inputs about uncerten Moist attack in the jharkhand bengal region.
The reason i am quoting this on a digital platform because i Refuse to be a Sleeping Citizen. This is the Whistle Blow for the Home and Defence Personnel along the Concerned Ministry.
I am aware and attentive citizen of India and i will do as snd when required to SUPPORT His Highness: The Prime Minister Shri Narendra Damodardas Modi.
I Manoj Kumar declare to Support His Highness with 100% Compliance and Behavior.
Reunion The League.
Certified Global Six Sigma Programme.


Post has attachment
Hi,
This has come to our knowledge that Trumph has taken means of Unfair practises for Mass Support. A Program designed to gain support of the different Continents.
I Strongly Oppose this public support campaign.
Here is one of the format/link through which the Campaign is being initiated.
Message Received:-

ACTION REQUIRED

🎉◆Free recharge loot worth ₹ 250◆🎉
* सपोर्ट करे Donald trump को और पाये 250 रूपये का टॉकटाइम balance बिलकुल मुफ़्त सिर्फ 5 मिनट में .


✔रिचार्ज पाने के लिए यहां जाये-
1. http://recharge-on-survey.com

2. सपोर्ट button पे क्लिक करे

3. फिर अपने नंबर और ऑपरेटर डाले.

4. और फिर अपना बैलेंस चेक करे ,250 रूपये जुड़ चुके होंगे,
मेरा बैलेंस अभी 310 रुपये है believe नही हो तोह खुद try करलो

Post has attachment
दुनिया का सबसे उंचा मंदिर, वृन्दावन में बन रहा है।संपूर्ण जानकारी
।।।जय श्री कृष्णा ।।।

दुनिया में अब तक का सबसे विशाल, भव्य और ऊंचा मंदिर वृंदावन में बनाया जा रहा है। भगवान कृष्ण को समर्पित इस मंदिर का नाम चन्द्रोदय मंदिर है। यह मंदिर कुतुब मीनार से भी तीन गुना उंचा होगा। इतना ही नहीं, इस मंदिर की नींव दुनिया की सबसे उंची इमारत बुर्ज खलीफा से भी तीन गुना गहरी होगी।

आगे की स्लाइड्स में जाने इस मंदिर से जुड़े रोचक तथ्य...

वृंदावन चन्द्रोदय मंदिर की ऊंचाई 700 फुट अथवा 210 मीटर होगी। दिल्ली में 72.5 मीटर के कुतुब मीनार से इस इसकी ऊंचाई 3 गुना ज्यादा होगी जिस के कारण पूर्ण होने पर, यह विश्व का सबसे ऊंचा धर्मालय बन जाएगा।


इसके गगनचुम्बी शिखर के अलावा इस मंदिर की दूसरी विशेष आकर्षण यह है की मंदिर परिसर में २६ एकड़ के भूभाग पर चारों ओर १२ कृत्रिम वन बनाए जाएंगे। मंदिर के वन क्षेत्र को कुछ वैसा ही बनाने का प्रयास किया जाएगा जैसा विवरण कृष्ण साहित्य में मिलता है। पूरी तरह से तैयार होने के बाद यह मंदिर कृष्ण भक्तों की वृंदावन की कल्पना को पूरी तरह से साकार करेगा।



इस मंदिर को बनाने में लगभग 700 करोड़ रुपए से ज्‍यादा खर्च होंगे।



मंदिर की सबसे ऊंची मंजिला का नाम ब्रज मंडल दर्शन रखा गया है। यहां से ब्रज के 76 धार्मिक स्थानों और ताजमहल तक को दूरबीन से देखा जा सकेगा। पूरे मंदिर का भ्रमण करने में श्रद्धालुओं को तीन से चार दिन लगेंगे।



इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्णा कॉन्शियेसनेस (इस्कॉन), बेंगलुरु के श्रद्धालुओं ने 2006 में इस मंदिर को बनाने की योजना बनाई थी। 8 साल की तैयारियों के बाद 2014 में इस मंदिर की नींव रखी गई।



इस साल 16 मार्च राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इस मंदिर की आधारशिला रखी थी। यह मंदिर 2022 में बनकर तैयार होगा। फिलहाल एक हजार मजदूर यहां काम कर रहे हैं, एक साल बाद यह संख्‍या तीन गुनी हो जाएगी।



पूरी बिल्डिंग में 511 पिलर होंगे। इन पर पूरी बिल्डिंग का वजन 5 लाख टन होगा, जबकि ये पिलर नौ लाख टन वजन सह सकते हैं।



मंदिर के लिए हाई स्पीड लिफ्ट तैयार की जा रही है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि यदि किसी तूफान की वजह से बिल्डिंग एक मीटर झुक भी गई तो भी लिफ्ट सीधी चलती रहेगी। गति और दिशा में परिवर्तन नहीं होगा।



परंपरागत द्रविड़ और नगर शैली में बनाया जा रहा यह मंदिर, 200 सालों में अब तक का सबसे मॉडर्न मंदिर होगा, जिसमें 4डी तकनीक द्वारा देवलोक और देवलीलाओं के दर्शन भी किए जा सकेंगे। इसके अलावा इसमें श्रीकृष्ण के जीवन लीलाओं को जानने के लिए लाइब्रेरी अन्य माध्यम भी होंगे। श्री कृष्णा
Photo
Wait while more posts are being loaded