Post has attachment

Post has attachment
Kanksa Block Congress observed The Dearest leader, Iron lady,Priyadarshini, Indira ji 100th birthday at Panagarh Bazar,(G.T.Road,Indira Statue), The Burdwan district president Mr.Debesh Chakrabarty,The Kanksa Block President Mr.Purab Banerjee and other leader were present there, and The winter sawl and clothes were distributed among about 200 poor people at the place.
Jai Congress, Indira Gandhi Amar Rahe......
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
11/20/17
6 Photos - View album

Post has attachment
Photo

Post has attachment
Shyam Rangeela Modi Mimicry Indore Live - Like, Share n Subscribe

https://youtu.be/Kiq4sjOUvt0

Post has attachment


Shyam Rangeela Mimicry of Rahul Gandhi, Modi Ji, Lalu Prasad Yadav Mimicry

https://youtu.be/VsbUghhIEI4

Post has shared content
"ब्लैक मनी" का जूमला पुराना हुआ, अब नया नारा है "कैशलैस". आप को पता है क्यों?

क्योंकि इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार अब तक बैंकों में करीब १२ लाख करोड़ के पुराने 500 और 1000 के नोट आ चुके हैं.

ये पूरी उम्मीद है कि 30 दिसम्बर की सीमा तक बाकी के 3 लाख करोड़ भी आ जायेंगे. मतलब , 15 लाख करोड़ के पूरे 500 और 1000 के नोट वापस.

इसका मतलब ये हुआ कि " ब्लैक मनी" 500 और 1000 के नोट में था ही नहीं. समझदार लोग पहले ही उसे किसी और रूप ( ज़मीन, सोना, डायमंड ) में बदल चुके हैं. शायद, इसलिए नोट जमा करने की समय सीमा अचानक से घटा दे गयी और मोदी सरकार जो सोच रही थी कि जो नोट रिकवर नहीं होंगे उसे काला धन मान के सरकार के प्रॉफिट में जोड़ देंगे , उसका ये प्लान FLOP & FAIL हो गया

ये भी याद रखना है कि नए नोट छपने का खर्चा करीब 1.28 लाख करोड़ तक जाएगा , मतलब खाया पिया कुछ नहीं और गिलास तोड़ा बारह आना

. जैसे जेटली जी पूर्व में ही कह ही चुके हैं कि ये समस्या शायद 3 महीने तक खिंचे. तो मतलब पहले 2- 3 दिन की परेशानी बनी 50 दिन , लेकिन अब 50 दिन की जगह 3 महीने.

लेकिन एक्सपर्ट की राय माने तो पूरे नोट छपने में करीब 6 महीने लगेंगे और इकोनोमी रिकवर करने में सालों.

लोगों की परेशानी, बीमारी , गरीबी, पैसे की कमी से बच्चे, बूढों, रोगियों का मरना, मजदूर , किराने वालों का नुकसान , वो सब तो खैर
" *A Little Inconvenience" है ही.

तो मोदी सरकार समझ गयी है कि हमेशा की तरह " ब्लैक मनी" भी एक जुमला ही निकला और बहुत ज़ल्द पब्लिक ये समझ जायेगी, भले ही सरकारी & "" CRONY CAPITALIST ""भोंपू ( CRONY CAPITALIST) मीडिया इसे दिखाए या न दिखाए.

तो नया जुमला फेंका गया " हो जाओ cashless" . मतलब किस किस्म का भद्दा मज़ाक है ये!

जिस देश में क्रेडिट कार्ड सिर्फ 2 % लोगों के पास है, खाते सिर्फ आधी जनसंख्या के पास है, अंगेजी सबकी भाषा नहीं है, जिन गाँवों में ATM तो क्या बैंक भी नहीं पहुंचे, आप उनसे कह रहे हो " हो जाओ cashless". संवेदनहीनता की भी कोई सीमा होती है.
Photo

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
01/06/2016
5 Photos - View album

Post has attachment
Old video PMO some hiking price diesel and petrol in India....ha .ha..ha..
that is the only fake men..
Wait while more posts are being loaded