सच्ची घटना
जिला- हाथरस
तहसील मुरसान
गॉव दर्शना




चीख उठे मस्जिदों के लाऊडस्पीकर -"सर काट दो मोदी और योगी के" .फिर एक औरआवाज आई हिंदुस्तान मुर्दाबाद"


बड़ी शर्म की बात है हमारे लिये कि ऐसी ताकतें सिर दुबारा से उठाने का प्रयत्न कर रही है जिन्होंने सेकड़ो वर्षों तक भारत पर क्रूरता पूर्ण शासन किया

हमें समय रहते सभलना होगा नहीं तो दूरगामी परिणाम अच्छे प्रतीत नहीं होते

हमें हमारे समाज में फैली हुई जातिवाद और पंथवाद से ऊपर उठकर देश में व्याप्त बुराइयों से लड़कर देश के लिये मर मिटने का भाव अपने हृदय में लेकर भारत माता की सेवा में जुट जाना चाहिये


सच्ची घटना



👉🏿 G*👉🏾 *A*👍 *W 👉🏾 E*👍*R



कट्टरपंथ को पालने और पोषने वाले नेताओं के
दिए साहस के कारण अब वो साहस दुस्साहस में
बदलता दिखने लगा है जब एक राज्य में खुलेआम
मस्जिदें ना सिर्फ भारत विरोधी नारों से गूंज
रही है बल्कि भारत के प्रधानमंत्री और
लोकतांत्रिक तरीके से बार बार चुने जा रहे योगी आदित्यनाथ जो वर्तमान मुख्यमंत्री हैं उत्तर
प्रदेश के , उनके सर को काट डालने के फरमान के
साथ भारत भूमि के खिलाफ , वो भारत भूमि
जो उन्हें पाल रही है , पोस रही है , उन्हें सारे
अधिकार दे रही है और उन्हें सर आँखों पर बिठा
कर सड़क से संसद तक समर्थन दिला रही है , वो
उसी भारत और भारत के शासको के खिलाफ
इतना जहर पाल कर जी रहे हैं .
मामला उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले का है . यहाँ
मुरसान तहसील के गाँव दर्शाना में इबादतगाह
मस्जिद को क़त्ल के फरमान का अड्डा बना
डाला गया . सूत्रों के अनुसार इस गाँव की एक
मस्जिद से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी
आदित्यनाथ और भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र
मोदी

👉🏾*गावर* ९९९७०७२४२३
👈🏾
के क़त्ल के खुलेआम नारे लगाए गए . नारे
लगाने वाले कोई बाहर के नहीं बल्कि उसी गाँव
के निवासी थे जिनका शरीर तो भारत में है
बाकी आत्मा न जाने किस जहान में .
सोमवार को हुई इस घटना के बाद इलाके में तनाव
फ़ैल गया . लाऊडस्पीकर पर इस जहरीले शब्दों को
इलाके के लोगों ने चुनौती की तरह स्वीकार
किया और मस्जिद को भीड़ ने घेर लिया . भारत
मुर्दाबाद के नारों से वहां बेहद आक्रोश फ़ैल गया
था . भीड़ और आक्रोश बढ़ता देख कर वहां मौजूद
तमाम आतंकी मस्जिद से भाग गए . पुलिस को इस
मामले की सूचना मिली तो पुलिस ने मौके पर
भारी लाव लश्कर के साथ छापा मारा और
लाऊडस्पीकर उतार कर पूरे मामले की छानबीन
शुरू कर दी .. पुलिस का मानना है की मामले की
जांच चल रही है , जो भी दोषी होगा उसको
सज़ा जरूर मिलेगी .

नमस्कार सर मैं प्रदीप कुमार राजभर गांव बाछापार जिला बलिया का रहने वाला हूं मेरे गांव में ना अच्छी नाली है ना ही अच्छा रास्ता है रास्ता भी है तो अनेक प्रकार की रुकावट है जहां पर चार चक्के की गाड़ी ना जा सकती है और ना ही आ सकती है हमारे गांव में जो भी आता है कहता है कि इस बार आपके गांव का रास्ता बन जाएगा आप की नाली बन जाएगी लेकिन कोई भी नेता नहीं बना पाया है आपने ही कहा था सर कि सबका साथ सबका विकास तो अगर हमारा साथ आपके साथ है तो प्लीज आप से हम कृपा करते हैं कि हमारे गांव में अच्छा नाली अच्छा रास्ता बनवा दें आपकी अति कृपा होगी मैं आपका एक शिष्य प्रदीप कुमार राजभर आपसे निवेदन करता हूं कि मेरे गांव का मेरी टोले की लाज रखते आपकी बहुत असीम कृपा होगी सर मैं आपसे ज्यादा बात नहीं कर सकता हूं आप मेरे राज्य के मुख्यमंत्री हैं मैं आपका आदर करता हूं आपका सादर प्रणाम करता हूं अगर मेरे गांव में अच्छा रास्ता बन गया मैं गांव वासियों से कहूंगा कि योगी जी की आप लोगों पर बहुत असीम कृपा थी जीते जी हम अपने गांव के लोगों से कहूंगा कि जब तक जी योगी रहेंगे जी उनके साथ हमें रहना है भले दुनिया इधर से उधर हो जाए तो क्या लेकिन हम बीजेपी के साथ हैं और बीजेपी के साथ ही रहेंगे मैं आदरणीय मुख्यमंत्री जी को सादर प्रणाम करना चाहता हूं और आशा करता हूं कि मेरी बातों पर अमल करेंगे आप की असीम कृपा होगी

Post has attachment
उत्तर प्रदेश के इतिहास में पहली बार योगी जैसी पहिचान मिली है ।।
Photo
Wait while more posts are being loaded