तेरी मर्जी से ढल जाऊं हर बार ये मुमकिन नहीं;
मेरा भी वजूद है, मैं कोई आइना नहीं!
Wait while more posts are being loaded