Post has attachment
सुधीर कुमार 
लखनऊ : लखनऊ भूमि विकास बैंक की मलिहाबाद शाखा में कुछ दिन पूर्व तैनात रहे फील्ड अफसर ने एक बेरोजगार को नौकरी दिलाने का सब्जबाग दिखाकर दो लाख रूपये हड़प लिये। काफी समय गुजर जाने बाद भी जब बेरोजगार को नौकरी नहीं मिली तो उसने पैसे वापस करने को कहा। इसके बाद जालसाज ने पीडि़त को जान से मारने की धमकियां देने लगा।

क्षेत्र के कुण्डरा कलां निवासी आषीश कुमार पुत्र मेवालाल का भूमिविकास बैंक में आना जाना था। इसी दौरान बैंक में फील्ड अफसर के पद पर तैनात विजयशंकर यादव से घनिष्ठता हो गयी। बेराजगार आषीश कुमार ने एक दिन अपने घर के हालात फील्ड अफसर से बताये तो उसकी बेरोजगारी की स्थिति का फायदा उठाते हुए विजयशंकर यादव ने उसे बैंक में सरकारी नौकरी दिलवाने का आश्वासन दे दिया और इसके लिए जरूरी अभिलेख मांग लिये। कुछ दिन बाद जब आषीश ने नौकरी के बारे में पूूछा तो विजयशंकर ने कहा कि ऊपर के अधिकारियों को 2 लाख देने के बाद ही नियुक्ति पत्र मिलेगा। -झांसे में आकर आषीश ने नाते रिश्तेदारों, साहुकारों से उधार लेकर तथा जमीन गिरवीं रखकर दो लाख रुपये विजयशंकर को दे दिये। डेढ़ साल तक आषीश नियुक्ति पत्र पाने का इन्तजार करता रहा। इसी बीच विजयशंकर यादव का तबादला दूसरी बैंक में हो गया। तब आषीश ने फिर फोन करके नौकरी के बारे में पूछा तो विजय ने कहा तु हारा काम हो गया है और पैसे का इन्तजाम करके रखो जल्दी ही तु हारी ज्वाइनिंग करा दी जाएगी। धीरे-धीरे करके 6 महीने का समय बीतने के बाद भी जब आषीश को नियुक्ति पत्र नहीं मिला तो आषीश के सब्र का बांध टूट गया और उसने पैसे वापस करने की बात कही। यह सुनकर विजयशंकर आग बबूला हो गया तो और कहा कि ज्यादा फोन करोगे तो मलिहाबाद में ही मरवाकर फेंकवा देंगे। सरकार हमारी है मेरी पहुंच ऊपर तक है। हम नेता जी के बहुत करीबी हैं। धमकी से आहत आषीश ने मलिहाबाद थाने पर तहरीर देकर ठगी गयी रकम वापस कराने और जान से मरवा देने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज किये जाने की मांग की है।

सूत्रों की माने तो विजय शांकर यादव इसी तरह लोगों को नौकरी दिलवाने का झांसा देकर मोटी रकम ऐंठकर दूसरी शाखा में तबादला करवा लेता है। जानकारी में आया है कि इसके पूर्व भी थाने में तीन प्रकरण आ चुके हैं। पुलिस ने पीडि़त की मदद करने का आश्वासन देरक चलता कर दिया है।



Photo

Post has attachment
लख‌नऊ के मलिहाबाद में मंगलवार को आम के पेड़ से लटकी मिली लाश की शिनाख्त चार अप्रैल से लापता उन्नाव के विनोद के रूप में हुई है। व‌िनोद का चार अप्रैल को ड्यूटी जाते वक्त अपहरण हुआ था ‌और एक करोड़ रुपये फ‌िरौती की मांग की गई थी।

औरास के हाजीपुर गोशा का रहने वाला विनोद लखनऊ में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। वह गांव से लखनऊ के ल‌िए रोजाना अपडाउन करता था। चार अप्रैल को विनोद घर से लखनऊ के लिए निकला और रास्ते में उसका अपहरण हो गया। उसके घर न लौटने पर उसकी खोजबीन शुरू की गई लेकिन उसका मोबाइल स्विचऑफ था।

विनोद के न मिलने की खबर पाकर उसका भाई आजाद दिल्ली से गांव आ गया। आजाद का दिल्ली में फलों का आढ़त है। आजाद और उसके घरवाले विनोद की रिश्तेदारों के यहां खोजबीन कर रहे थे इसी बीच आठ अप्रैल को आजाद के मोबाइल पर अपर्हताओं का फोन आया।

फ‌िरौती ले जाते वक्त भाई की भी मौत

अपहर्ताओं ने फोन पर कहा कि विनोद उनके कब्जे में है और एक करोड़ रुपये फिरौती की मांग की, न मिलने पर विनोद को जान से मारने की धमकी दी। आजाद ने मामले की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई। पुलिस जब व‌िनोद को नहीं ढूंढ़ पाई तो पुलिस ने आजाद के साथ अपहर्ताओं के बताए अड्डे तक फ‌िरौती के बहाने पहुंचने का प्लान बनाया।

आजाद बाइक से बैग में कागज भरकर निकला दूसरे रास्ते से पुलिस भी साथ थी। लेकिन अड्डे तक पहुंचने से पहले अकबरपुर के पास डाले ने आजाद की बाइक में टक्कर मार दी जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस विनोद का पता लगा पाती इससे पहले 26 अप्रैल मंगलवार को लखनऊ के मलिहाबाद में आम के बाग में पेड़ से लटकती हुई लाश मिली जिसकी शिनाख्त बुधवार को अपहृत विनोद के रूप में हुई।


Photo

Post has attachment
लखनऊ। आम की पैदावार के लिए प्रसिद्ध मलिहाबाद स्थित कलीमुल्ला नर्सरी में एक पेड पर 300 आम के पे़ड उगाए गए हैं। यही नहीं इस बार यहां आम की एक नई किस्म ईजाद की जा रही है। यह पतला आम होगा, रसदार होगा इसकी गुठली भी पतली होगी और जल्दी ही पचाने वाला होगा है। फिलहाल इसका नाम नहीं रखा गया है। जिलाधिकारी राज शेखर एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार ने बुधवार को कलीमुल्ला खां के अनुरोध पर मलिहाबाद स्थित कलीमुल्ला नर्सरी को देखा।
कलीमुल्ला ने अधिकारियों को बताया कि इस वर्ष नर्सरी मे एक नई आम की किस्म ईजाद की जा रही है। इस आम पर सुर्खी (लालिमा) होगी, यह पतला आम होगा, रसदार होगा और इसकी गुठली भी पतली होगी। यह जल्दी ही पचाने वाला होगा। पkश्री कलीमुल्ला ने एक पे़ड पर 300 आम के पे़ड उगाए हैं तथा उन पर विभिन्न प्रजातियो के आमों को भी दिखाया। उन्होंने बताया कि यह नर्सरी चार एक़ड मे फैली हुई है। उन्होंने बताया कि वर्ष 1919 में मलिहाबाद में आम के 1300 बाग थे जो अब केवल 700 के करीब ही रह गए हैं। उन्होंने 300 आमों में से एक किस्म पाकिस्तान के आम की भी दिखायी जो पाकिस्तान के सिंध इलाके से लाकर लगाया गया है। उन्होंने बताया कि एक ही आम के पे़ड पर विभिन्न किस्मों के आम को लगाना वर्ष 1987 से प्रारम्भ किया गया था।
 उन्होंने बताया कि पिछले दस वर्षो से आम की फसल लगातार कम होती जा रही है। इन 300 आमों में से चार किस्म के आम गुजरात से भी लाकर रोपित किए गए हंै। पkश्री कलीमुल्ला खां ने जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिय अधीक्षक को बताया कि दिन प्रतिदिन पानी की कमी जमीन के अन्दर होती जा रही है। लेकिन ऊसर भूमि में भी आम के वृक्ष लगाकर आम की फसल ली जा सकती है तथा क्षेत्र में हरियाली उत्पन्न की जा सकती है। जिलाधिकारी ने ऊसर भूमि में आम के बाग विकसित करने के उद्देश्य से एक सप्ताह में डीएचओ एवं कृषि अधिकारी को साइट विजिट करने के निर्देश दिए हैं।
Photo

Post has attachment
Photo

Post has attachment
मलिहाबाद के करौना गांव की घटना

- नहीं हो सकी शिनाख्त, पर्स में निकली हरदोई के ज्वैलर की रसीद

LUCKNOW :मलिहाबाद एरिया में एक पेड़ में रस्सी के फंदे से विवाहिता की लाश लटकी मिलने से सनसनी फैल गई। जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेजा। देररात तक पुलिस मृतका की शिनाख्त करने में सफल नहीं हो सकी थी।

लगा तमाशबीनों का जमावड़ा

मलिहाबाद स्थित करौना गांव में सुबह 8 बजे गांव के चौकीदार मो। मारुफ अली ने सराय चौरसिया की बाग में आम के पेड़ में महिला का शव फंदे से लटकता देखा। उसने फौरन इसकी सूचना लोगों को दी। महिला का शव मिलने की खबर आसपास के गांवों में जंगल की आग की तरह फैली और वहां हजारों तमाशबीनों का जमावड़ा लग गया। ग्रामीणों ने हत्या की आशंका जताते हुए पुलिस को घटना की सूचना दी। जानकारी मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतारवाया। मृतका के शरीर पर मैरून रंग की साड़ी, पैरों में बिछिया और मांग में सिंदूर भरा हुआ था.

नहीं हो सकी शिनाख्त

पुलिस ने मृतका की शिनाख्त की कोशिश की लेकिन, कोई सफलता नहीं मिल सकी। फिलवक्त शव को मच्र्युरी भेज दिया गया है और मृतका की फोटोग्राफ आसपास के जिलों के थानों में भेज दी गई है। पुलिस ने बताया कि 72 घंटे तक मृतका की शिनाख्त की कोशिश की जाएगी और उसके बाद शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। इसके बाद ही उसकी मौत की असल वजह का पता चल सकेगा.

म़ृतका का हरदोई कनेक्शन

मृतका का हरदोई कनेक्शन भी था। जांच में जुटी पुलिस को मृतका के पास से एक पर्स मिली है, जिसमें 73 रुपये के साथ ही श्रीबाल गोविंद ज्वैलर्स, हरदोई की रसीद रखी थी। जिसके बाद पुलिस टीम को हरदोई स्थित उक्त ज्वैलर से पूछताछ के लिये रवाना किया गया है। उधर, लोगों ने आशंका जताई कि महिला की हत्या हरदोई में ही कहीं की गई और उसकी लाश यहां लाकर पेड़ से लटका कर इसे सुसाइड का रूप देने की कोशिश की गई है।


Photo

Post has attachment
शोर गुल फिल्म की कहानी मलीहाबाद की है 
Photo
Photo
12/11/2016
2 Photos - View album

Post has attachment
Photo

Post has attachment
देश ही नहीं विदेशों में भी है मलिहाबादी पेड़ों की मांग 
Photo

Post has attachment
Malihabad 
Photo

Post has attachment
समदा तालाब 
Photo
Wait while more posts are being loaded