Post is pinned.Post has attachment
भोपाल गैस काण्ड 2 दिसम्बर 1984।

एक परिवार ऐसा भी था। जो इस घटना को अपनी आंखों से देख रहा था। यह परिवार था 'एसएल कुशवाह' का। वह पेशे से शिक्षक थे। उस समय उनकी आयु ४५ साल थी। उनकी पत्नी त्रिवेणी भी वहीं मौजूद थीं, जिनकी आयु ३६ वर्ष थी।

उनके लिए वरदान थे वो बीस मिनट जब भोपाल में गैस रिसाव हुआ तो देखते ही देखते घर के लोगों को उल्टी होना शुरू हो गई। बच्चे और बड़े सभी को खांसी और आँखों में जलन हो रही थी। चारों ओर से चीखती-चिल्लाती आवाजों और आँखों में जलन के बीच कुशवाह दंपति धुंधले, डरे- सहमे चेहरों को साफ देख सकते थे।

लेकिन, इस विपत्ति काल में भी यह परिवार घबराया नहीं क्योंकि इनके यहाँ प्रतिदिन 'अग्निहोत्र यज्ञ' होता था। उस दिन भी हुआ। रात में ही उन्होंने अग्निहोत्र यज्ञ, त्र्यंबकम होम के साथ जारी रखा। इस तरह लगभग २० मिनट के अंदर ही उनका घर और उसके आस-पास का वातावरण 'मिथाइल आइसो साइनाइड गैस' से मुक्त हो गया।

यह घटना उस समय अनेक समाचार पत्रों में छपी थी। आप नेट पर सर्च कर सकते हैं।
Photo

Post has attachment

Post has attachment
🙏🙏🌹🌹जय श्री गणेश जी महाराज शुभ प्रभात मित्रों आपका दिन मंगलमय और खुशियों से भरा हो शुभ प्रभात वंदन🌹🌹🙏🙏
Photo

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
अब सभी नोटा गैंग और कारोबारी उद्यमी और बेरोजगार को जबरदस्ती कलेक्टर बनाया जाएगा
Photo

Post has attachment
यह हिन्दुओ की हार है ।
यह देश भक्तों की हार है ।

यह कन्हैय्य को समर्थन देने वाले टुकड़े गैंग की जीत है ।

यह भारत की हार है
Photo

Post has attachment
दिल थाम के देखये राजस्थान,छत्तीसगढ़,और मध्यप्रदेश मे लॉन्च हो रहा है आलु से सोना बनाने वाली मसीन अब इस प्रदेश के किसान,युवा,एवं सवर्णो को काम करने की जरुरत ही नही पड़ेगी |

Post has attachment
🙏🙏🌹🌹जय श्री गणेश जी महाराज शुभ प्रभात मित्रों आपका दिन मंगलमय और खुशियों से भरा हो शुभ प्रभात वंदन🌹🌹🙏🙏
Photo
Wait while more posts are being loaded