Post is pinned.Post has shared content

Post has attachment
छुप जाए कही आ की बहुत तेज़ है बारिश
.
.
.
.
ये तेरे मेरे जिस्म तो मिट्टी के बने है
Photo

कि हमे तुमसे मोहब्बत है मग़र तुमको अदावत है,
मेरी इतनी सी चाहत पर मग़र तुमको बग़ावत है,
ना समझी तुम कभी हमको,ना समझे हम कभी तुमको,
हमे तुमसे तुम्हे हमसे बस इतनी सी शिक़ायत है,

खामोशियाँ – बहुत कुछ कहती हैं,
कान नही दिल लगा कर सुनना पड़ता है..

यू सिमट जाऊ तेरी बाहों में,,
जैसे चांद होता है रात कि आगोश में।।

Post has attachment
Gnt
Photo

Post has attachment
✍🏻
‘‘बदलना‘, तय है हर चीज़ का इस संसार में...

बस थोड़ा इंतजार करो
किसी का ‘दिल‘ बदलेगा,
तो किसी के ‘दिन‘ बदलेंगे ..
Photo

Post has attachment
उजालों में मिल ही जायेगा..
कोई ना कोई,

तलाश उसकी करें,
जो अन्धेरों में भी साथ दे..!!
🙏
Photo

Post has attachment

Post has attachment
Photo
Wait while more posts are being loaded