Post has attachment
बुरे हैं तभी तो अकेले है।
..
..
..
अच्छे होते तो कोई तो करीब होता
Photo

Post has attachment
Kuch log zindgi me is kdar shamil ho jate hain,
Agar bhulna chaho to or yad ate hain,
Bas jate hain wo dil me is kadar,
Ke ankhen band kro to samne nazar aate hain

Photo

Post has attachment
Teri mehfil se nikle kisi ko khabar tak na hui,
Tera mud mud ke dekhna hamein badnam kar gaya…..
Photo

Post has attachment
बाग़ को जन्म देने वाला बागवान,परिवार को जन्म देने वाला पिता, दोनों ही अपने खून पसीने से अपने पौधों को सींचते हैं, न सिर्फ अपने पेड़ से बल्कि उसके साये से भी प्यार करते हैं, क्योंकि उसे उम्मीद है जब एक रोज़ वह ज़िन्दगी से थक जाये गा,यही साया उसके काम आये गया।
ऊँगली थाम के जिन वीरवो को हमने दिखाई राह
मात पिता की उनके मन में तनिक नही परवाह
अंसुवन भर नैनो से इनको देखे बागवान।
** बागवा रब हैं बागवा*
किसने दुःख की अग्नि डाली बंजर हो गए खेत।
हरी भरी जीवन बगिया से उड़ने लगी है रेत।
क्या बोया था और क्या कटा सोंचे बागवान।
बागवा रब है बागवा
यही सोंच के सांसे लिख दी इन फूलन के नाम ।
इनकी छैइया छैइया बीते उम्र की ढलती शाम ।
गूंजे हरदम ही मुस्काये चाहे बागवान।
बागवा रब है बागवा
अपने माता पिता का सम्मान करें।उन्हें अकेला मत छोड़े।क्योंकि उनकी उम्मीद आपसे होती है।
**Love your parents.*
Photo

Post has attachment
"लोग पूछते हैं की तुम क्यूँ अपनी मोहब्बत,
का इज़हार नहीं करते,
हमने कहा जो लब्जों में बयां,
हो जाये सिर्फ उतना हम किसी से प्यार नहीं करते."
Photo

Post has attachment
Bahut chaha usko jise hum pa na sake, Khayalon me kisi aur ko la na sake. Usko dekh ke aansoo to ponchh liye, Lekin kisi auor ko dekh ke muskura na sake.
Photo

जब जिंदगी समज मै आयी तो जिंदगी से दूर थे हम,
मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम,
हर सजा कबूल कर ली हमने सर जुका के,
कसूर बस इतना था के बेक़सूर थे हम।


Post has shared content
दौलत में अगर दम होता
Photo

Post has shared content

Post has shared content
Wait while more posts are being loaded