Post has shared content

Post has shared content
Guru Badal Bhargav बताते हैं कि सद्य पुराण के अनुसार भगवान विष्‍णु को एकादशी व्रत अत्‍यंत प्रिय हैं, और वर्ष में हर माह दो एकादशी पड़ती हैं। इस प्रकार कुल मिला कर 24 एकादशी होती हैं, जिनकी संख्‍या पुरुषोत्‍तम मास आने पर 26 हो जाती है।
इनमें से जेठ माह के शुक्‍ल पक्ष की एकादशी को निर्जला एकादशी कहते हैं क्‍योंकि इसके व्रत में जल का प्रयोग वर्जित होता है। (https://bit.ly/2J2ZQXT)
वेद व्‍यास के कहने पर पांडवों ने किया एकादशी का संकल्‍प : कहते हैं द्वापर युग में महर्षि वेदव्यास ने पांडवों को चार पुरुषार्थ धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष देने वाले एकादशी व्रत का संकल्प कराया था। जिसके बाद कुंती सहित चार पांडवों युधिष्‍ठिर, अर्जुन, नकुल और सहदेव ने तो सफलता पूर्वक इस व्रत को करना प्रारंभ कर दिया। वहीं महाबली भीम के उदर में 'वृक' नाम की जो अग्नि प्रज्‍जवलित रहती थी उसके चलते वे भूखे नहीं रह पाते थे। इससे वे बेहद दुखी थे।
श्री कृष्‍ण ने बताया महातम्‍य : तब श्री कृष्‍ण ने भीम को निर्जला एकादशी का महत्‍व बताया। उन्‍होंने कहा कि यदि कोई समस्‍त एकादशी का व्रत नहीं रख सकता तो वो निर्जला एकादशी का व्रत करे। एक दिन निर्जल रह कर इस व्रत को करने से 24 एकादशी का कुल पुण्‍य प्राप्‍त हो जाता है।
दान का है महत्‍व : इस दिन जो निर्जल रहकर प्रात: स्‍नान के पश्‍चात ब्राह्मण या जरूरतमंद व्यक्ति को पंखा, आम, सत्‍तु, अन्‍य मौसमी फल और शुद्ध जल से भरा घड़ा दान करता है, उसे अत्‍यंत पुण्‍य और मोक्ष की प्राप्‍ति होती है।
More Information You can Call Now +91-9878403647
Photo

Post has attachment
Happy birthday PRAKHAR
Photo

Post has shared content

Post has shared content
Suprabhat
MahavirJayanti - the birth anniversary of Lord Mahavir is being celebrated today; he was the 24th and the last Tirthankara of Jain religion.

#MahavirJayanti #indiaplus
Photo

Post has shared content
Happy mother's day
Mothers hold their children's hands for a short while, but their hearts forever
Happy Mother's Day

#mothersday  
Photo

Post has attachment
Good morning to all Friends
Photo

Post has shared content

Post has attachment
Photo

Post has attachment
First Good morning
Photo
Wait while more posts are being loaded