Post has shared content
संसार में सबसे बड़ा क्या हे? अभिमान और बाहुबल या विश्वास और आस्था?!निश्चित रुप से बाहुबल के महत्व को नाकारा नही जा सकता। मनुष्य अपने बाहुबल से पर्वत को मैदान बना सकता हे, सागर सुखा सकता हे, मरुस्थल में नदिया बहा सकता हे। परंतु बाहुबल को सहारा होता हे विश्वास का। यदि मन में विश्वास ना हो तो बाहुबल किसी काम का नहीं। वो कोन सा बल हे की मोर आकाश की ओर ताकते हे? वो विश्वास ही तो हे जिसके कारण वर्षा होती हे और दोनों की प्यास बुजती हे। परंतु जब पाप के बहुबल का सामना धर्म के विश्वास से होता हे तो बाहुबल हार जाता हे और जीतता हे विश्वास। विजय होती हे आस्था की।
यदि आप सत्य के मार्ग पर चल रहे हे और आप अपने ईष्ट में आस्था रखते हे, तो किसी भी पापी का बल आपका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता।🙏
द्रौपदी के विश्वास के सामने दुः शाशन का बाहुबल हार गया
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
1/30/16
7 Photos - View album

Post has shared content

Post has shared content

Post has shared content

Post has attachment
The unknown life of mahabarath karnan

Post has attachment
Photo

Post has attachment
Photo

Post has attachment

Post has attachment
Shocking Facts about Great KARNA
part 2

Post has attachment
Photo
Wait while more posts are being loaded