Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
वो अदालत ना भाजपा की थी ना RSS की थी।
वो अदालत हिंदुस्तान से लगभग साढ़े छह हजार किलोमीटर दूर स्थित लन्दन की थी।

शुक्रवार को माल्या केस में सुनवाई करते हुए न्यायधीश एम्मा आर्बथनॉट ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि, *माल्या की एयरलाइंस कंपनी किंगफिशर को कर्जा देने में भारतीय बैंकों ने अपने ही नियमों-कानून का जबरदस्त उल्लंघन किया, लोन देने में नियमों की धज्जियां उड़ाई गयीं।
यह बात ‘बंद आंख से भी’ देखी जा सकती है।

लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट की उपरोक्त👆🏼टिप्पणी की *तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और वित्तमंत्री चिदम्बरम द्वारा बैंकों की आपत्ति के बावजूद माल्या को कर्ज़ देने का आदेश देनेवाली उन चिट्ठियों को जिनमें बेंकों द्वारा ब्लैकलिस्ट किये जा चुके विजय माल्या को हज़ारों करोड़ का कर्ज और अधिक कर्ज़ देने की पैरवी और सिफारिश स्पष्ट शब्दों में बहुत खुलकर की गयी थी।

अतः शुक्रवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने भारतीय बैंकों द्वारा विजय माल्या को कर्ज देने में की गई जिस धांधली और भ्रष्टाचार को खुलकर उजागर किया है उसका जिम्मेदार क्या केवल बैंकों के अधिकारियों को माना जाए। *क्या किसी बैंक अधिकारी को यह अधिकार होता है कि वह देश के प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री द्वारा बाकायदा चिट्ठी लिखकर दिए गए आदेश को नकार दे।

अतः लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की *न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने शुक्रवार को बहुत साफ कर दिया है कि भारत से बैंकों का हज़ारों करोड़ लूटकर भागे विजय माल्या से ज्यादा उस लूट का जिम्मेदार क्यू ना तब के भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ओर वित्तमंत्री पी चिदंबरम को माना जाये
राहुल गांधी को लन्दन की उस अदालत की टिप्पणी के बाद शर्म आनी चाहिए और देश को जवाब देना चाहिए कि कांग्रेसी प्रधानमंत्री, वित्तमंत्री की जोड़ी ने बैंकों द्वारा ब्लैक लिस्ट हो चुके विजय माल्या को कर्ज देने की सिफारिश चिट्ठी लिखने का वह भ्रष्टाचारी कुकृत्य क्यों किया था जिसकी कलई लन्दन की अदालत में भी खुल रही है।*

आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि कभी भी किसी भी सड़कछाप नेता के बयान को विवादित बताकर उसपर घण्टों बहस करनेवाले न्यूजचैनलों से लन्दन की अदालत की न्यायाधीश के बयान का समाचार गधे के सिर से सींग की तरह गायब है।

भाइयों तथा बहनों भेज दो इस मैसेज को पूरे देश तथा विश्व में रहने वाले भारतीय नागरिको को 👍👍
Photo

Post has attachment
हम आपको हमेशा याद रखेंगे.....

बडे़ दुखी हृदय के साथ सूचित किया जाता है कि देश के एक बहुत ही बडे़ व्यक्तित्व के धनी माननीय पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी का अभी अभी निधन हो गया है।

भारत को ऐसे महान व्यक्ति की कमी हमेशा महसूस होगी।
ऊँ शांति शांति शांति
Photo

👉ये मेसेज संभलकर रखना और पूरा पढ़ना फिर विचार करना

👉दिवार पर पेशाब करता व्यक्ति पूछता है ,अच्छे दिन कब आयेंगे !

👉*बिजली चोरी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*यहाँ-वहाँ कचरा फैंकता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*कामचोर सरकारी कर्मचारी पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*टेक्स चोरी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*देश से गद्दारी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*नोकरी पर देरी से व जल्दी घर दौड़ता कर्मचारी पूछता है, अच्छे_ दिन कब आयेंगे*

👉 लड़कियों से छेड़खानी करता व्यक्ति पूछता है, अच्छे दिन कब आयेंगे

👉*राष्ट्रगान के समय बातें करते स्कूलों के कुछ लोग पूछते है, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*स्कूल में बच्चों को न भेजने वाले लोग पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*कसाई जैसे कमीशनखोर डाक्टर पूछता है अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*सड़क पर रेड सिगनल तोड़ते लोग पूछते, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*किताबों से दूर भागते विद्यार्थी पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👉*कारखानों में हराम खोरी करते लोग पूछते हैं, अच्छे दिन कब आयेंगे*

👆यदि खुद नहीं बदल सकते
तो अच्छे दिनों की आस छोड़ दो।
क्योंकि देश आपके उपदेश से नहीं,
आचरण से बदलेगा,
तब आएंगे अच्छे दिन !
देश पर 55 लाख 87 हजार 149 करोड़ का कर्ज है !
जिसका 1 वर्ष का ब्याज भरना पड़ रहा है = 4 लाख
27 हजार करोड़ !
यानि 1 महीने का = 35 हजार 584 करोड़ !
यानि 1 दिन का = 1 हज़ार 186 करोड़ !
यानि 1 घंटे का = 49 करोड़ !
यानि 1 मिनट का 81 लाख !
यानि 1 सेकेंड का 1,35,000!
जरा सोचिए ! जब देश
प्रति सेकेंड 1 लाख 35 हजार रूपये का तो सिर्फ पुराने
कर्जे का ब्याज भर रहा है तो देश के अच्छे दिन
आसानी से कैसे आएंगे..???
अत: जितना सम्भव हो भारतीय प्रोडक्ट ही ख़रीदे,
देश को लूटने से बचाये, अर्थव्यस्था की मजबूती में
अपना अमूल्य योगदान देकर भारतवर्ष को फिर से
समृद्ध बनाये...!

देश को सन्देश....

यदि भारत के 121 करोड़ लोगों में से सिर्फ 10% लोग प्रतिदिन 10 रुपये का रस पियें तो महीने भर में होता है लगभग " 3600 करोड़ "...!!!!

अगर आप...
कोका कोला या पेप्सी पीते हैं
तो ये " 3600 करोड़ " रुपये
देश के बाहर चले जायेँगे...।

कोका कोला, पेप्सी जैसी कंपनियाँ प्रतिदिन
" 7000 करोड़ " से ज्यादा लूट लेती हैं..।

आपसे अनुरोध है क आप...
गन्ने का जूस/ नारियल पानी/ आम/ फलों के रस आदि को अपनायें और
देश का " 7000 करोड़ " रूपये बचाकर हमारे किसानों को दें...।

" किसान आत्महत्या नहीं करेंगे.."

फलों के रस के धंधे से
" 1 करोड़ " लोगो को रोजगार मिलेगा और 10 रूपये के रस का गिलास 5 रूपये में ही मिलेगा...।

स्वदेशी अपनाओ,
राष्ट्र को शक्तिशाली बनाओ..।
.
स्वदेशी अपनाए देश बचाएे
अगर
सभी भारतीय 90
दिन तक
कोई
भी विदेशी सामान
नहीं ख़रीदे...
.
.
तो भारत
दुनिया का दूसरा सबसे
अमीर देश बन सकता है..
.
सिर्फ 90 दिन में ही भारत के
2 रुपये 1 डॉलर के बराबर
हो जायेंगे..
.
हम सबको मिल कर
ये कोशिश आजमानी चाहिए
क्युकी ये देश है हमारा..!!!!
.
.
हम जोक्स फॉरवर्ड करते है,
इसे भी इतना फॉरवर्ड
करो की पूरा भारत इसे पढ़े ...!!!

बादाम 900 रू किलो / गुटखा 4300रूप

काजू 800 रू किलो / सिगरेट 5000रू

शुद्ध घी 600 रू किलो / तंबाकु 1700 रू

सेब 100रू किलो / सुपारी 600रू

दूध 50रू लिटर/ शराब 560रू

और फिर कहते हैं कि मंहगाई है अच्छी खुराक कैसे खाएं

देश के हालात खराब नहीं है हमारी आदतें खराब हैं

🍀🍀🍀


बहुत टाइम निकाल लिखा है किसी ने ये मैसेज किसी की मेहनत व्यर्थ नही जानी चाहिए

मेरा काम था आप तक पहुचाने का आपका काम है दूसरों तक पहुचाने का



कॉपी करो पेस्ट करो लेकिन
ये मैसेज 130 करोड़ लोगों में से सिर्फ 30 करोड़ लोगों तक पहुंच जाए तो अपना भारत
सच मे महान बन जायेगा

भारत माता की जय
जय हिंद.....
जय भारत.....
from : सहयोग इंडिया परिवार

Post has attachment

Post has attachment
शुभ प्रभात मित्रों

""शब्द खामोश हो जाते हैं,,

""कभी-कभी जब तस्वीर बोलती है..!! ☝❤
Photo

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded