Post has attachment
भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीकी छात्रा कियारा र्निघिन ने गूगल साइंस पुरस्कार जीता
भारतीय मूल की दक्षिण अफ्रीकी छात्रा कियारा र्निघिन ने हाल ही में गूगल साइंस पुरस्कार जीता. उन्होंने अमेरिका में वार्षिक गूगल विज्ञान मेले में यह पुरस्कार जीता.

उन्हें पुरस्कार राशि के रूप में 50,000 डॉलर (करीब 33.27 लाख रुपये) की स्कॉलरशिप मिला.

उन्होंने संतरे के छिलके का उपयोग कर सस्ते सुपर एर्ब्जोबेंट तैयार किया जो जमीन में पानी बनाए रखने में मदद करता है.



कियारा र्निघिन का यह प्रोजेक्ट "नो मोर थर्स्टी क्रॉप्स" भीषण सूखे से निपटने में मदद करेगा. वर्तमान समय में दक्षिण अफ्रीका सूखे का सामना कर रहा है.

उन्होंने सूखे का समाधान करने के लिए संतरे के छिलके तथा एवोकैडो फल के इस्तेमाल किया जिसे लोग फेंक देते हैं.

गूगल साइंस फेयर से संबंधित मुख्य तथ्य:

•    गूगल साइंस फेयर एक ऑनलाइन विज्ञान प्रतियोगिता है.

•    इसे गूगल, नेशनल ज्योग्राफिक, लेगो, वर्जिन,गैलेक्टिक एवं साइंटिफिक अमेरिकन द्वारा आयोजित किया जाता है.

•    यह प्रतियोगिता 13 से 18 वर्ष के छात्रों के लिए विश्व स्तर पर आयोजित की जाती है.

•    पहला गूगल साइंस फेयर अवार्ड कार्यक्रम जुलाई 2011 में आयोजित किया गया था.

Now get latest Current Affairs on mobile, Download # 1  Current Affairs App

 



To Read More Download #1 Current Affairs App

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.josh.jagran.android.activity&hl=en

लघु फिल्म ‘मुर्गा’ स्वच्छ भारत शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल (एसबीएसएफएफ) हेतु सर्वश्रेष्ठ फिल्म चुनी गयी
लघु फिल्म ‘मुर्गा’ को स्वच्छ भारत शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल (एसबीएसएफएफ) में सर्वश्रेष्ठ फिल्म चुना गया. यह लघु फिल्म निर्देशक कात्यायन शिवपुरी द्वारा निर्देशित है. इसके लिए कात्यायन शिवपुरी को 10 लाख रुपये का नकद पुरस्कार भी प्रदान किया गया. कात्यायन शिवपुरी नवोदित निर्देशक हैं.

एसबीएसएफएफ के बारे में-

एसबीएसएफएफ का आयोजन महात्मा गांधी जयंती पर 2 अक्टूबर को सिरी फोर्ट में किया गया. लघु फिल्म फेस्टिवल का आयोजन भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से नेशनल फिल्म डेवेलपमेंट कॉर्पोरेशन (एनएफडीसी) ने  किया.इस फिल्म फेस्टिवल में स्वच्छ भारत मिशन को समर्पित 3 मिनट की फिल्मों में से सर्वश्रेष्ठ फिल्म का चयन जाना था.लघु फिल्म फेस्टिवल के आयोजकों को पूरे देश से 20 भाषाओं में 4,346 शॉर्ट फिल्म प्रतियोगिता के लिए भेजी गयीं.स्वच्छ भारत मिशन को समर्पित फिल्म फेस्टिवल में कश्मीर से लेकर तमिलनाडु और गुजरात से लेकर असम तक के लोगों की फिल्में शामिल थीं.इन फिल्मों को भेजने वालों में सभी आयु वर्ग के लोग थे.यहां तक कि 10 साल तक के बच्चों ने भी अपनी-अपनी फिल्में इस शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में भेजी.14 साल के सिद्धार्थ राज की ‘द अनसंग हीरोज ऑफ स्वच्छ भारत मिशन’ को टॉप 20 फिल्मों में चुना गया.



लघु फिल्म चयन हेतु जूरी-

3 मिनट की 4,346 फिल्मों में से सर्वश्रेष्ठ फिल्म के चयन हेतु गठित की गई जूरी में वानी त्रिपाठी, गीतांजली राव और प्रहलाद कक्कड़ के नाम थे.


सर्वोच्च 20 फिल्ममेकर्स-

जूरी ने इन फिल्मों में से 20 शॉर्ट फिल्मों को चुना.टॉप 10 फिल्मों के निर्देशकों को नकद पुरस्कार प्रदान किए गए.जिनमें सर्वश्रेष्ठ फिल्म को 10 लाख, 5 लाख (3 फिल्मों को) और 6 फिल्मों को 2 लाख रुपये प्रदान किए गए.बाकी की 10 फिल्मों के निर्देशकों को सांत्वना प्रमाणपत्र दिए गए.इस फिल्म फेस्टिवल में भाग लेने वाले प्रत्येक व्यक्ति को प्रमाणपत्र भी प्रदान किया गया.कार्यक्रम में शूजित सरकार, मधुर भंडारकर, रमेश सिप्पी, प्रसून पांडेय और कृष के नाम से पहचाने जाने वाले राधाकृष्ण के नामों की घोषणा स्वच्छ भारत मिशन पर 3 मिनट की फिल्म बनाने के लिए की गई.

To Read More Download #1 Current Affairs App

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.josh.jagran.android.activity&hl=en

Post has attachment
केंद्र सरकार ने एसबीआइ प्रमुख अरुंधती भट्टाचार्य को एक साल का सेवा विस्तार दिया
केंद्र सरकार ने 01 अक्टूबर 2016 को भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य को एक साल का सेवा विस्तार दे दिया. देश के सबसे बड़े बैंक के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है. छह अक्टूबर 2016 को उनकी सेवानिवृत की तिथि थी.

सेवा विस्तार 7 अक्टूबर 2016 से प्रभावी होगा. उनके सेवा विस्तार से सहयोगी बैंकों के साथ चल रहे एसबीआई के समेकन को सुचारु करने में मदद मिलेगी.
भारतीय स्टेट बैंक बोर्ड बीएमबी सहित पूर्व में ही 5 सहयोगी बैंकों के विलय को मंजूरी प्रदान कर चुका है. देश में वैश्विक स्तर के बड़े बैंकों को खड़ा करने हेतु यह निर्णय लिया गया.


• विलय होने वाले स्टेट बैंक के पांच सहयोगी बैंकों के नाम-  
- स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एण्ड जयपुर,
- स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर,
- स्टेट बैंक ऑफ पटियाला,
 -स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
- स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
इनमें से तीन सहयोगी बैंक शेयर बाजार में सूचीबद्ध हैं.

• उपरोक्त पांचों सहयोगी बैंकों और भारतीय महिला बैंक के विलय के बाद भारतीय स्टेट बैंक का जो स्वरूप होगा वह दुनिया में सबसे बड़े बैंक से प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम होगा.

• नए बैंक की संपत्ति आधार 37 लाख करोड़ रुपए (555 अरब डॉलर से अधिक) होगा.

• उसकी कुल 22,500 शाखाएं होंगी और 58,000 एटीएम होंगे तथा 50 करोड़ से अधिक ग्राहक होंगे.

• स्टेट बैंक में इससे पहले उसके दो अन्य सहयोगी बैंक स्टेट बैंक ऑफ सौराष्ट्र और स्टेट बैंक ऑफ इंदौर का विलय किया जा चुका है.



अरुंधति भट्टाचार्य के बारे में-

• अरुन्धति भट्टाचार्य का जन्म 18 मार्च 1956 को हुआ.  

• वह एक भारतीय बैंकर और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की वर्तमान अध्यक्ष-प्रबंध निदेशक है.

• वह भारतीय स्टेट बैंक की पहली महिला अध्यक्ष है.

• सितंबर 1977 में उन्होंने 22 साल की उम्र में परिवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में एसबीआई को अपनी सेवाएं देना आरम्भ किया.

• उनके 36 साल के सेवा काल में वह अनेकों अहम पदों पर आसीन रही. उन्होंने विदेशी मुद्रा, कोषागार, खुदरा संचालन, मानव संसाधन और निवेश बैंकिंग के लिए भी कार्य किया.

• वह भारत-आधारित फॉर्च्यून 500 कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला है.

• पत्रिका फोर्ब्स ने 2016 में उन्हें दुनिया में 25 वीं सबसे ताकतवर महिला के रूप में सूचीबद्ध किया.

• फॉर्च्यून द्वारा उन्हें एशिया प्रशांत क्षेत्र में 4 सबसे शक्तिशाली महिलाओं में नामित किया.

• उन्होंने 7 अक्टूबर 2013 को यह पद ग्रहण किया. उन्होंने 30 सितंबर को इस पद से रिटायर हुए श्री प्रतीप चौधरी का स्थान लिया.

• इससे पहले वह बैंक की मैनेजिंग डायरेक्टर सह चीफ फाईनैंशियल ऑफिसर थीं.



To Read More Download #1 Current Affairs App

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.josh.jagran.android.activity&hl=en
Wait while more posts are being loaded