Profile cover photo
Profile photo
Sudha Devrani
165 followers -
Nayisoch
Nayisoch

165 followers
About
Posts

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
शाम की आगोश से जागा नहीं दिन रात भर
प्लेट में रक्खे परांठे ऊंघते ही रह गए
वाहवाह.... क्या बात है...फिर एक और कमाल की गजल आपकी....एक से बढ़कर एक शेर.... अद्भुत लेखन... लाजवाब...
वाह!!!
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
निरर्थक बहस पर बहुत ही सुन्दर सृजन.....
हम मुद्दे से भटक जाते हैं|
झूठे वादों पर टिक नहीं पाते
यह भी भूल जाते हैं कि
यहाँ आने का सबब क्या था
सब की नज़रों से गिर जाते हैं |
सबब अशांति का
सबब अशांति का
akanksha-asha.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
किसी जाल में फंसे पक्षी सा
फड़फड़ाता जीवन
मृत्यु को मान प्रियतमा
कर देना चाहता अंत
जीवन की समस्याओं का
तब चमकती एक चिंगारी
अंतस में कर देती उजास
जो होती जिजीविषा
खींच लेती मनुष्य को
समस्त मायाजाल से
बनकर जीने की वजह
वाह!!!
बहुत शानदार, सटीक एवं सार्थक...
बनती है जीने की वजह
बनती है जीने की वजह
experienceofindianlife.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
कोई वजह तो होगी ऐसा होने की....
एकदम सटीक ,सुन्दर एवं सार्थक.....
वाह!!!
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
मुक्क़दर में नहीं हम, बहला कर ठुकरा दिया,
आज पहलू में बैठने की क्या थी वज़ह l
बहुत लाजवाब...
वाह!!!
वज़ह
वज़ह
poetryanita.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
जननी हो तुम
मुझे सृजित करने वाली
और मेरे जीवन की वजह हो तुम
बहुत ही सुन्दर ...भावपूर्ण रचना...
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
बहुत लाजवाब पंचाक्षर स्रोत....
वाह!!!
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
बहुत ही लाजवाब....
वाह!!!
बेवजह
बेवजह
sudhinama.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
Sudha Devrani commented on a post on Blogger.
समसामयिक,हृदयविदारक घटना पर सटीक वर्ण-पिरामिड....।सही कहा आजकल लोगों की संवेदना लुप्त हो गयी अक्सर ऐसे हादसों पर मदद या बचाव की जगह बीडीओ बनाने में लगे रहते हैं...बहुत लाजवाब अभिव्यक्ति....
रेल-हादसा (वर्ण पिरामिड)
रेल-हादसा (वर्ण पिरामिड)
hindi-abhabharat.com.xn----ztd4gfj7aay8etcbep4p.com
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded