Profile cover photo
Profile photo
vijay sathe
About
vijay's posts

कैसे मिलेंगे हमें चाहने वाले बताइये,
दुनिया खड़ी है राह में दीवार की तरह,
वो बेवफ़ाई करके भी शर्मिंदा ना हुए,
सजाएं मिली हमें गुनहगार की तरह।

आया ही था खयाल कि आँखें छलक पड़ीं,
आँसू किसी की याद के कितने करीब हैं।

मत फेंक पानी में पत्थर,
उसे भी कोई पीता होगा,
मत रह यूँ उदास जिन्दगी में,
तुम्हें देखकर कोई जीता होगा।

आधी से ज्यादा शब-ए-ग़म काट चुका हूँ,
अब भी अगर आ जाओ तो ये रात बड़ी है।

Post has attachment
Photo

Post has attachment
Photo

Post has attachment
गोगा बाबा टेकडीवर रविवारची ट्रेकिंग... 
Photo
Photo
11/21/16
2 Photos - View album

Post has attachment
पैठण येथे शेतीवर फेरफटका...तळ्या काठी ताजे मासे भाजुन खाण्याचा आनंद काही वेगळाच असतो.... 
PhotoPhotoPhotoPhotoPhoto
11/21/16
5 Photos - View album

Post has attachment
Photo

हम किसी के लिए उस वक्त
तक स्पेशल है...
जब तक उन्हें कोई दुसरा नहीं
मिल जाता....
Wait while more posts are being loaded