Profile cover photo
Profile photo
Anantlal Karnani
398 followers
398 followers
About
Communities and Collections
View all
Posts

Post has attachment
Sharedपपीते के पत्तो की चाय किसी भी स्टेज के कैंसर को सिर्फ 60 से 90 दिनों में कर देगी जड़ से खत्म.
पपीते के पत्ते 3rd और 4th स्टेज के कैंसर को सिर्फ 35 से 90 दिन में सही कर सकते हैं। अभी तक हम लोगों ने सिर्फ पपीते के पत्तों को बहुत ही सीमित तरीके से उपयोग किया होगा, बहरहाल प्लेटलेट्स के कम हो जाने पर या त्वचा सम्बन्धी या कोई और छोटा मोटा प्रयोग. मगर आज जो हम आपको बताने जा रहें हैं, ये वाकई आपको चौंका देगा, आप सिर्फ 5 हफ्तों में कैंसर जैसी भयंकर रोग को जड़ से ख़त्म कर सकते हैं।
ये प्रकृति की शक्ति है और बलबीर सिंह शेखावत जी की स्टडी है जो वर्तमान में as a Govt. Pharmacist अपनी सेवाएँ सीकर जिले में दे रहें हैं। आपके लिए नित नवीन जानकारी कई प्रकार के वैज्ञानिक शोधों से पता लगा है कि पपीता के सभी भागों जैसे फल, तना, बीज, पत्तिया, जड़ सभी के अन्दर कैंसर की कोशिका को नष्ट करने और उसके वृद्धि को रोकने की क्षमता पाई जाती है। विशेषकर पपीता की पत्तियों के अन्दर कैंसर की कोशिका को नष्ट करने और उसकी वृद्धि को रोकने का गुण अत्याधिक पाया जाता है।
तो आइये जानते हैं उन्ही से। University of florida ( 2010) और International doctors and researchers from US and japan में हुए शोधो से पता चला है की पपीता के पत्तो में कैंसर कोशिका को नष्ट करने की क्षमता पाई जाती है। Nam Dang MD, Phd जो कि एक शोधकर्ता है, के अनुसार पपीता की पत्तियां डायरेक्ट कैंसर को खत्म कर सकती है, उनके अनुसार पपीता कि पत्तिया लगभग 10 प्रकार के कैंसर को खत्म कर सकती है जिनमे मुख्य है।
breast cancer, lung cancer, liver cancer, pancreatic cancer, cervix cancer, इसमें जितनी ज्यादा मात्रा पपीता के पत्तियों की बढ़ाई गयी है, उतना ही अच्छा परिणाम मिला है, अगर पपीता की पत्तिया कैंसर को खत्म नहीं कर सकती है लेकिन कैंसर की प्रोग्रेस को जरुर रोक देती है।। तो आइये जाने पपीता की पत्तिया कैंसर को कैसे खत्म करती है?
1. पपीता कैंसर रोधी अणु Th1 cytokines की उत्पादन को ब़ढाता है जो की इम्यून system को शक्ति प्रदान करता है जिससे कैंसर कोशिका को खत्म किया जाता है।
2. पपीता की पत्तियों में papain नमक एक प्रोटीन को तोड़ने ( proteolytic) वाला एंजाइम पाया जाता है जो कैंसर कोशिका पर मौजूद प्रोटीन के आवरण को तोड़ देता है जिससे कैंसर कोशिका शरीर में बचा रहना मुश्किल हो जाता है। Papain blood में जाकर macrophages को उतेजित करता है जो immune system को उतेजित करके कैंसर कोशिका को नष्ट करना शुरू करती है, chemotheraphy/ radiotheraphy और पपीता की पत्तियों के द्वारा ट्रीटमेंट में ये फर्क है कि chemotheraphy में immune system को दबाया जाता है जबकि पपीता immune system को उतेजित करता है, chemotheraphy और radiotheraphy में नार्मल कोशिका भी प्रभावित होती है पपीता सोर्फ़ कैंसर कोशिका को नष्ट करता है। सबसे बड़ी बात के कैंसर के इलाज में पपीता का कोई side effect भी नहीं है।।
कैंसर में पपीते के सेवन की विधि
कैंसर में सबसे बढ़िया है पपीते की चाय। दिन में 3 से 4 बार पपीते की चाय बनायें, ये आपके लिए बहुत फायदेमंद होने वाली है। अब आइये जाने लेते हैं पपीते की चाय बनाने की विधि।
1. 5 से 7 पपीता के पत्तो को पहले धूप में अच्छी तरह सुखा ले फिर उसको छोटे छोटे टुकड़ों में तोड़ लो आप 500 ml पानी में कुछ पपीता के सूखे हुए पत्ते डाल कर अच्छी तरह उबालें।
इतना उबाले के ये आधा रह जाए। इसको आप 125 ml करके दिन में दो बार पिए। और अगर ज्यादा बनाया है तो इसको आप दिन में 3 से 4 बार पियें। बाकी बचे हुए लिक्विड को फ्रीज में स्टोर का दे जरुरत पड़ने पर इस्तेमाल कर ले। और ध्यान रहे के इसको दोबारा गर्म मत करें।
2. पपीते के 7 ताज़े पत्ते लें इनको अच्छे से हाथ से मसल लें। अभी इसको 1 Liter पानी में डालकर उबालें, जब यह 250 ml। रह जाए तो इसको छान कर 125 ml. करके दो बार में अर्थात सुबह और शाम को पी लें। यही प्रयोग आप दिन में 3 से 4 बार भी कर सकते हैं।
पपीते के पत्तों का जितना अधिक प्रयोग आप करेंगे उतना ही जल्दी आपको असर मिलेगा। और ये चाय पीने के आधे से एक घंटे तक आपको कुछ भी खाना पीना नहीं है।
कब तक करें ये प्रयोग
वैसे तो ये प्रयोग आपको 5 हफ़्तों में अपना रिजल्ट दिखा देगा, फिर भी हम आपको इसे 3 महीने तक इस्तेमाल करने का निर्देश देंगे। और ये जिन लोगों का अनुभूत किया है उन लोगों ने उन लोगों को भी सही किया है, जिनकी कैंसर में तीसरी और चौथी स्टेज थी।

और अधिक जानकारी के लिए इस लिंक 👇👇 पर click और subscribe करें

https://www.youtube.com/channel/UC-CFvctG3DeQgKoK_73TlIg?sub_confirmation=1

जटिल से जटिल रोगों के उपचार हेतु लेख पढ़ें व share करें। 👇👇

https://m.facebook.com/gkumbh/?ref=bookmarks

Post has attachment

Post has shared content
जरूरी ये है कि :---
"हर कोई हिन्दू - इन की- "फितरत"- को - जाने और समझे"

पाकिस्तान में हिन्दू थे, सिख थे, कुछ इसाई थे और फिर
सुन्नी मुस्लिम थे..शिया मुस्लिम थे.. अहमदिया मुस्लिम थे...

सबसे पहले - हिन्दू - को मारा गया क्यूंकि ये तो - मुस्लिम - थे ही नहीं...

फिर वो ख़त्म होने को आये तो - इसाई - को भी साथ में मारा गया...

फिर ये दोनों ख़त्म होने को आये तो - सिख - तो वैसे भी कम थे..
कब ख़त्म कर दिए गए पता ही नहीं चला ...

फिर बचे - खुद मुसल्लम... अब क्या करें -?- साला किसको मारें -?-

हमारी तो आदत है खून करने की .. ऐसे तो बैठ ही नहीं सकते ...

तभी पाकिस्तान में घोषणा करवाई गयी की... अहमदिया ..
मुस्लिम नहीं है .. नकली मुस्लिम है ....

बस रातों रात सारे --"सुन्नी और शिया"-- मुस्लिम... "अहमदिया" मुस्लिम को मारने दौड़ पड़े...

सारे अहमदिया मारे जाने लगे और पाकिस्तान छोड़ कर इधर उधर जंगल में दुसरे देशों में भागने लगे ...

ध्यान रहे -- "हिन्दू , इसाई, सिख आदि को मारने समय में ये --"अहमदिया" मुस्लिम ने भी खूब साथ निभाया था.. और अब खुद काटे जा रहे थे...

खैर... धीरे धीरे - "अहमदियों" - का मामला - "अल्लाह"- ने निपटा दिया..

अब बचे --"शिया और सुन्नी"-- दोनों बैठे रहे..बैठे रहे..बैठे रहे....
दोनों सोच रहे थे..
साला हम तो इंसानों की हत्या ना करें तो कैसा मुस्लिम-??- इतने दिन हो गए .. किसको मारें क्या करे...

तभी सुन्नी बोला .. शिया सच्चा मुस्लमान नहीं होते ...
शिया ने भी बोला .. तुम सुन्नी भी सच्चा मुसलमान नहीं होते...
.......
बस साला -- फिर निकल गयी तलवारें ..

शिया मारने लगे सुन्नी को और सुन्नी काटने लगे शिया को ...

ध्यान रहे पहले "शिया और सुन्नी" दोनों ने मिल कर दुसरों की हत्या की थी ...और
अब खुद ही -- एक दुसरे-- को मारने में लगे हैं..
------------------------
मित्रों इन लोगों की -- फितरत -- को समझ लीजिये..
{1} -- ये बिना खून खराबे -- जी -- नही सकते...
{2} -- दुसरे को मारने के लिए -- ये सभी -- एक जुट -- रहते है...

----{ आज फिर कुछ जोड़ देता हूँ}---

-- कुछ बातें जो भूलनी नहीं हैं.....

1. हिन्दुओं को 'भारतीय मुस्लिमों को पाकिस्तानी मुस्लिमों से अलग नहीं समझना चाहिए'! अगर भारत पाकिस्तान पर युद्ध करेगा तो 25करोड़ भारतीय मुसलमान पाकिस्तान का साथ देंगे -- ओवैसी - लोकसभा का सांसद - हैदराबाद से !
2. हिन्दुओं को अरब अथवा बाकि 56 मुस्लिम देशों में वोट डालने का अधिकार नहीं है,
मैं चुनौती देता हूँ, क्या किसी एक हिन्दू में भी दम है कि हिंदुस्तान में मुसलमान के वोट देने के अधिकार को रोकने की बात भी कर सके! -- बदरुद्दीन अजमल - लोकसभा का सांसद - असम से !
3. हैदराबाद में मुस्लिमों की गिनती 50% से अधिक हो गयी है, वहां हम बहुमत में हैं, इसलिए मैं प्रशासन से मांग करता हूँ कि वो राम नवमी हनुमान जयंती जैसे हिन्दू त्योहारों पर बैन लगाये! चार मीनार के पास लगते भाग्य लक्ष्मी मंदिर में हमने मंदिर के घंटा बजाने पर रोक लगा कर अपनी शक्ति दर्शा दी है! हम मुसलमान इस मंदिर को अब तबाह कर देंगे! -- ओवैसी - लोकसभा का सांसद - हैदराबाद से !
4. मैं बांग्ला देश में मुस्लिमों और बोधियो के मारे जाने पर अफ़सोस करती हूँ, बांग्लादेश क्यूंकि सेक्युलर देश न हो कर इस्लामिक देश है, इस लिए ऐसे हालातों में हिन्दुओं और बोद्धियों को अगर अमन से रहना है तो मुस्लिम बन जाना चाहिए!
-- खालिदा जिया - बांग्लादेश की बांगला नेशनल पार्टी की अध्यक्ष !
5. हिन्दू नेता चाहे कितनी भी बार मुस्लिम टोपी पहन लें, या नमाज़ को इज़्ज़त बख्श दें, लेकिन मुस्लिम कभी तिलक नहीं लगाएगा, और वो वन्दे मातरम का विरोध भी जरूर करेगा! क्यूंकि इस्लाम में देश भगति और सेकुलरिज्म दोनों हराम हैं! -- आज़म खान !
6. मुस्लिमों ने 1100 साल तक हिंदुस्तान में राज़ किया है, और करोड़ों हिन्दुओं को मुसलमान बनाया है! 2000 से ज्यादा मंदिरों को तोड़ कर मस्जिदों का निर्माण किया है! हिन्दुस्तानी तो डर कर 'हिन्दू मुस्लिम भाई भाई कहते हैं! यही इस्लाम की शक्ति का प्रमाण है!
-- जाकिर नाईक
7. हिन्दू गाय को माता समझते हैं तो समझते रहें, लेकिन हम मुसलमान गाय की कुर्बानी करते रहेंगे क्यूंकि ये मुस्लिमों का मज़हबी अधिकार है, क्यूंकि अल्लाह कुर्बानी मांगता है! हमें किसी से भीख नहीं चाहिए, हमें अपना अधिकार छीनना आता है!
-- नूरुल रहमान बरकती - कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद का इमाम !
8. हिन्दू हमारे बांग्लादेशी भाइयों को आसाम में आने से नहीं रोक सकते! हम ऐसे ही दाखिल होते रहेंगे! -- बदरुद्दीन अजमल - लोकसभा का सांसद - असम से !{साभार--उदय तिवारी}
------------
Photo

Post has attachment
Shared

Post has attachment
Shared

Post has attachment
Shared

Post has attachment

Post has attachment

Post has shared content
Shared
Ek arya, Saudi se !!

File: 3.99MB

Post has attachment
Shared
Wait while more posts are being loaded