Profile

Cover photo
diben singh
Worked at citispecial
Attended central institute of education
Lived in bahadurgarh-HR
71 followers|64,659 views
AboutPostsCollectionsPhotosVideos

Stream

diben singh

Shared publicly  - 
 
जाने के बाद हमारी ज़िन्दगी के गणित में
इतिहास बा जाती है माँ।
दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
jai ho .
 
जय श्री राम.....
जय पवन पुत्र हनुमान की जय....
सभी मित्रों का दिन मंगलमय हो।
 ·  Translate
View original post
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
इसके बाद वो मुझे देंगे एक ताम्रपत्र और एक तमगा।
जो प्रमाण होगा इस बात का कि उन्होंने
मुझे बाजार से काम रेट पर ख़रीदा।
ताम्रपत्र दिखा कर मेरे बच्चे उनकी दुकान से सकेंगे हाफ रेट
पर एक मुट्ठी चावल और दो मुट्ठी आटा।
मेरी युवा पत्नी को हक होगा
उनके शयनकक्ष तक बे रोक टोक आने जाने का।
और कोटा ,परमिट ,या किरासिन की एजेंसी बख्शीश में लाने का।
व् सौदा करने का मेरी व् अपनी लाचार अस्मिता का।
दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने आज यह कहकर विवाद पैदा कर दिया कि जादवपुर विश्वविद्यालय की लड़कियां स्तरहीन और बेशर्म हैं जो हमेशा पुरुष छात्रों के साथ रहने का अवसर ढूंढने में लगी रहती हैं।
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
रौशनी के ताजमहल ,कांच के खिलोनो की तरह
चटखते रहे ,
तुम कुछ भी न कर सकी।
बस, बरबस उछल कर आँगन में कूद आये ,
घुप्प अँधेरे में , दियासलाई तलाशती रही।
अँधेरे से लड़ना है तो शमा नहीं ,
बिजली बनो , तड़ित सी तडको
कहर बन कर बरपो
फिर कोई अंधकार कभी कही
लील नहीं पाएगा रौशनी को दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
यहाँ आवाज़े है रोने की ,सिसकियों की ,
खांसी की ठुनकियों की ,
जो जीने की मजबूरी में ,सागर से निकले गरल सी
कंठ में ही दब गई ,
आँखों से पिंघल आंसू बन गई
शिव के देश में नीलकंठ काम नहीं।
दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...
In his circles
2,078 people
Have him in circles
71 people
सज्जन धर्मेन्द्र's profile photo
haris butt's profile photo
Madhu Ruchi's profile photo
raveena bajaj's profile photo
Ariful islam's profile photo
Dinakar Shetty's profile photo
Ramkrishna Vajpei's profile photo
CA Sukhvinder Singh's profile photo
Jhajjar NewZ's profile photo

diben singh

Shared publicly  - 
 
मेरी युवा पत्नी को हक होगा
उनके शयनकक्ष तक बे रोक टोक आने जाने का।
और कोटा ,परमिट ,या किरासिन की एजेंसी बख्शीश में लाने का।
व् सौदा करने का मेरी व् अपनी लाचार अस्मिता का।
दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
ये सच है कि मेरा सिर
अभी तक बे साया और नंगा है
मेरे चारो तरफ अँधेरा है। ... घुप्प अँधेरा
दिबेन
 ·  Translate
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
दरअसल वास्तविक तस्वीर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के पांव छू रहे थे, जिसमें बदलाव कर श्री आडवाणी के स्थान पर अकबरुद्दीन ओवैसी का चेहरा लगा दिया गया था, जो हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी के भाई हैं।
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
जिस बहन ने कलाई पर राखी बांध कर रक्षा की कसम ली थी उसी बहन का अश्लील एमएमएस देख भाई ने उठाया ऐसा कदम कि...
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
dainik tribune -review of Ahilya by Dr. Subhash restogi
1
Add a comment...

diben singh

Shared publicly  - 
 
 
विदेशो में एक महिला 2 या तीन शादी करती है और पुरुष भी।
इसलिए उनकी संताने 14 पंद्रह साल के होने के बाद अलग रहने लगते है।
और उनके जैविक माता पिता अपनी अपनी अलग अलग जिंदगी जीते है।
इसलिए बच्चे साल में एक बार अपने माता या पिता से मिलने जाते है।
लेकिन उनके माता पिता तो साथ रहते नहीं है।
इसलिए माता को मिलने का अलग दिन निर्धरित किया है और उसी तरह पिता से मिलने का अलग दिन।
जो मदर्स डे और फादर्स डे के नाम से जाने जाते है।
भारत में हम बच्चे अपने माता और पिता के साथ ही रहते है और वो दोनों भी पूरी जिंदगी अपने बच्चों के साथ रहते है।
इसलिये यहाँ हर दिन माता पिता का है।

उन्हें साल के एक दिन की जरुरत नहीं है।
माँ को याद करने के लिए किसी "मदर डे" की जरुरत नहीं , हिन्दू धर्म में तो माँ के कदमो में ही स्वर्ग बताया गया है।
यह मदर डे के चोचले तो उनके लिए है जो साल में एक बार अपनी माँ को याद करने का बहाना ढूंढते है , हमारी संस्कृति में सुबह घर से निकलते वक्त पहले माँ के पाँव छूने की परम्परा है।
🙏🙏🙏
 ·  Translate
11 comments on original post
1
Add a comment...
diben's Collections
People
In his circles
2,078 people
Have him in circles
71 people
सज्जन धर्मेन्द्र's profile photo
haris butt's profile photo
Madhu Ruchi's profile photo
raveena bajaj's profile photo
Ariful islam's profile photo
Dinakar Shetty's profile photo
Ramkrishna Vajpei's profile photo
CA Sukhvinder Singh's profile photo
Jhajjar NewZ's profile photo
Collections diben is following
Education
  • central institute of education
  • delhi university
Basic Information
Gender
Male
Looking for
Friends, Networking
Other names
diben
Story
Introduction
citi special is bi weekly news paper containing vews,life style,health and fashion today.
Work
Occupation
journalist
Skills
short story writer & noveliest
Employment
  • citispecial
    consulting editor
    writing ,editing.
  • citispecial
    consulting editor
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Previously
bahadurgarh-HR
Contact Information
Home
Phone
01276-232003, 91 9416526936
Email
Address
aryaa nagar bahadurgarh (haryana)
Work
Phone
to expose peoples problems
Email
Address
aryaa nagar bahadurgarh(haryana)