Profile cover photo
Profile photo
diben singh
72 followers
72 followers
About
diben's posts

Post has attachment

मेने अपने भीतर बैठे विदुर की हत्या कर दी है।
इसके बदले उन्होंने मुझे दिया है
ता उम्र रोटी का आश्वासन
और मेरी अवैध संतानो को पेंशन।
विशिष्ट व्यक्तियों की अवैध संताने
वैध करार देदी गई है ,तुम कुंती से कह देना
कर्ण को नदी में न बहाए।
दिबेन 
Photo

Post has attachment

फूले पलाश यमुना के तीर पर गुलमोहर गुलाल
ग्वालिन भी झूमती ग्वालों की ताल पर
भीज गई गोपिन की
वासंती चोली
होली है। होली है होली है होली।
होली की
शुभ कामनाये -दिबेन 
Photo

Post has shared content
हाँ , वो एक नदी थी ,
सिर्फ एक नदी ,
नहीं ! वो धूप थी ,
मासूम गौरैय्या सी
कुदकती - फुदकती पीली
कमजोर सी पीली धूप
नहीं वो रेत थी
जेठ की दोपहरी में झुलसती तपति रेत !
होली की शुभकामनाये
-दिबेन 

Post has attachment
होली है ,होली है ,होली है होली
मस्त भये नन्दलाल ,राधा के मुख पे लाल
मल रहे गुलाल।
गेसू भी फूल गए ,
फूले पलाश यमुना के तीर पर गुलमोहर गुलाल
ग्वालिन भी झूमती ग्वालों की ताल पर
वासंती चोली हुई खूब हरी , लाल।
होली की
शुभ कामनाये -दिबेन 
Photo
Photo
3/9/17
2 Photos - View album

Post has attachment

Post has attachment
नदी के बारे में मेरा विस्वास है की यह थरथराती है ,उछलती -कूदती चलती है ,कभी मासूम गौरैया की तरह कुदकती -फुदकती है ,रेत को पीती है ,धूप को सहती है और भंवरो की गूँज को स्वर देती है
यदि ऐसा न हो तो लगता है कि नदी बीमार है .......इस बीमारी के पीछे के कारणों कि खोज है
मेरी कहानी .-दिबेन 
PhotoPhotoPhoto
2/18/17
3 Photos - View album

Post has shared content
प्यार का सम्बन्ध क्या है तुम बता दो
बाहू के अनुबंध ढीले हो गए है
फूटता है हृदय में ज्वाला मुखी सा
नैन के क्यूँ कौर गीले हो गए हैं
शुभकामनाये
दिबेन 
Photo

Post has attachment

Post has shared content

Post has shared content
Wait while more posts are being loaded