Profile cover photo
Profile photo
AchhiBaatein Dot Com
30 followers -
Hindi blog for Famous Quotes and thoughts, Motivational & Inspirational Hindi Stories and Personality Development Tips
Hindi blog for Famous Quotes and thoughts, Motivational & Inspirational Hindi Stories and Personality Development Tips

30 followers
About
AchhiBaatein's posts

Post has attachment
एक जंगल में एक बहुत पुराना बरगद का पेड़ था। उसकी घनी छाया में विश्राम करने के ध्यान से एक घुड़सवार वहां रुका। घुड़सवार सेना का कोई सरदार लगता था। घोड़े से उतरते समय ही उसकी निगाह पेड़ की एक शाखा के साथ बंधी एक ढाल पर जा पड़ी, जो कि बहुत ही ख़ूबसूरत दिखाई पड़ती थी। ढाल की खूबसूरती ने सरदार को बहुत प्रभावित किया। उसकी निगाहें ढाल से उठना ही न चाह रही थी।

वह आप ही आप बोल उठा , “वाह , कितनी सुन्दर ढाल है। और रंग भी कितना प्यारा है, खून सा सुर्ख लाल।”

उसी समय विपरीत दिशा से एक अन्य सैनिक सरदार भी वहां पहुंचा। जब उसने पहले घुड़सवार को टिकटिकी लगाये ऊपर की और देखते पाया, तो उसकी read full story @https://goo.gl/PPsKCk

Post has attachment
ॐ त्र्यम्बकम् यजामहे सुगन्धिम्पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात।।

कहा जाता है कि यह मंत्र भगवान शिव को प्रसन्न कर उनकी असीम कृपा प्राप्त करने का माध्यम है। इस मंत्र का सवा लाख बार निरंतर जप करने से आने वाली अथवा मौजूदा बीमारियां तथा अनिष्टकारी ग्रहों का दुष्प्रभाव तो समाप्त होता ही है, इस मंत्र के माध्यम से अटल मृत्यु तक को टाला जा सकता है।

स्नान करते समय शरीर पर लोटे से पानी डालते वक्त इस मंत्र का लगातार जप करते रहने से स्वास्थ्य-लाभ होता है। दूध में निहारते हुए यदि इस मंत्र का कम से कम 11 बार जप किया जाए और फिर वह दूध पी लें तो यौवन की सुरक्षा भी होती है। इस चमत्कारी मन्त्र का नित्य पाठ करने वाले व्यक्ति पर भगवान शिव की कृपा निरन्तंर बरसती रहती है ।

गायत्री मंत्र के साथ यह समकालीन हिंदू धर्म का सबसे व्यापक रूप से जाना जाने वाला मंत्र है।
#Mahashivratri #MahamratyunjayaMantra #महामृत्युंजय
read more @https://goo.gl/xOQXGG

Post has attachment
उड़न सिख (Flying Sikh) के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह (जन्म: लायलपुर, 8 अक्टूबर 1935) ने भारत के विभाजन के बाद की अफ़रा-तफ़री में अपने माँ बाप खो दिए और शरणार्थी बन के ट्रेन द्वारा पाकिस्तान से भारत आए। ऐसे भयानक हादसे के बाद भी उन्होंने अपने जीवन में कुछ कर गुज़रने की ठानी और एक होनहार धावक के तौर पर ख्याति प्राप्त की, वे 200 मीटर और 400 मीटर की दौड़ दौड़े और सफलता प्राप्त की और भारत के अब तक के सफलतम धावक बने। कुछ समय के लिए वे 400 मीटर दौड़ के विश्व कीर्तिमान धारक भी रहे।

मिल्खा सिंह ने बाद में खेल से सन्यास ले लिया और भारत सरकार के साथ खेल-कूद के प्रोत्साहन के लिए काम करना शुरू किया। अब वे चंडीगढ़ में रहते हैं।

फिल्म निर्माता, निर्देशक और लेखक राकेश ओमप्रकाश मेहरा ने वर्ष 2013 में इनकी जीवनी से प्रभावित होकर भाग मिल्खा भाग नामक फिल्म बनायी। ये फिल्म बहुत चर्चित और सफल रही। इसी Movie में ही Prasoon Joshi द्वारा लिखा हुआ और Arif Lohar द्वारा गाया हुआ हैं “Bhaag Milkha Bhaag” गाना बहुत ही अद्भुद और Motivational हैं सुनने से शरीर में एक अलग ही उर्जा का संचार होता हैं। इसका Hindi Lyrics इस पोस्ट के माध्यम से आपके समक्ष रख रहा हूँ, आशा हैं आप सभी को भी यह जरुर पसंद आएगा।

Post has attachment
Social Media Exchange in Hindi, अगर आप अपना business बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अपने business को ऑनलाइन represent करना पड़ेगा, क्योकि आज के युग में almost हर कोई इन्टरनेट access करता हैं और किसी भी संशय या समस्या के लिए Google या search engine के पास जाकर अपना उत्तर तलाशता हैं और यह काफी कारागार भी हैं क्योकि इन्टरनेट पर काफी सटीक और सही उत्तर मिलने की probability काफी अधिक होती हैं।

बहुत से लोग आजकल news,क्रिकेट,weather सभी से related कुछ भी जानकारी समय अभाव के कारण केवल इन्टरनेट से ही प्राप्त करते हैं ऐसे में, मैं कहुगा की बजाय प्रिंट advertisement के Internet पर की गई advertisement business को बढ़ाने में ज्यादा कारागार साबित होगी।

Business को बढ़ाने के लिए आपको एक website की जरुरत होगी, लेकिन आज के युग में जब इतने सारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म मुफ्त में उपलब्ध हैं, यह बात हमेशा सत्य साबित नहीं होती, आप सोशल website पर एक business पेज बना कर भी अपने business को grow कर सकते हैं।

Post has attachment
अपने College के Principal से रामकृष्ण परमहंस के बारे में सुनकर, नवंबर 1881 को वो उनसे मिलने दक्षिणेश्वर के काली मंदिर पहुंचे, रामकृष्ण परमहंस से भी नरेंद्र नाथ ने वही सवाल किया जो कि वो औरों से कर चुके थे।

क्या आपने भगवान को देखा है?
रामकृष्ण परमहंस ने जवाब दिया – हां मैंने देखा है, मैं भगवान को उतना ही साफ देख पा रहा हूं जितना कि तुम्हें देख सकता हूं। फर्क इतना है कि मैं उन्हें तुमसे ज्यादा गहराई से महसूस भी कर सकता हूं।

#SwamiVivekanand #NationalYouthDay
read more @https://goo.gl/w1Rjap

Post has attachment
दोस्तों जीवन में कई बार लोग जो काम करना चाहते हैं, अगर वो नहीं हो पाता तो अमूमन आपने लोगो से ये शब्द कहते सुना होगा।

“मेरा तो भाग्य ही ख़राब हैं”
“भाग्य में ही रोना लिखा हैं भाई!”

ऐसे ही कुछ और वाक्य होंगे, जो अक्सर सुनने में आते हैं। हम परिस्थितियों को कोसने और दुःख मनाने में इतने तल्लीन हो जाते हैं कि उस पल मिली अच्छी यादों और खुशियों के बारे में सोचना भी भूल जाते हैं।

read more @http://www.achhibaatein.com/hindi-lucky-motivational-hindi-story-bhagyashali-man/

Post has attachment
आपके शरीर को आप ही समझ सकते हैं, अपने दिन की समय सारिणी अपने शरीर की प्राकृतिक लय के अनुसार व्यवस्थित करें जब आपको लगता हैं कि आप अपनी ऊर्जा के अपने उच्चतम स्तर पर है जब जटिल कार्य हाथ में लें कई लोगो के लिए यह समय morning हो सकता हैं और कुछ लोग evening में अच्छा कर सकते हैं। यह सब लोगो में अलग-अलग होता हैं और बाकी के समय में अपने नियमित कार्य करे, हर एक आदमी की अपनी सीमा होती हैं अगर वह अपनी समय-सीमा और शरीर के according अपना daily routine सेट कर लेता हैं तो वह बेहतर कर सकता हैं इसलिए अपनी खुद की समय-सीमा को समझना महत्वपूर्ण है।

read more @https://goo.gl/WCkcey

Post has attachment
Most Popular Social Networking Site, Facebook के Co-founder और CEO Mark Elliot Zuckerberg मार्क एलियट ज़ुकेरबर्ग (जन्म मई 14, 1984)आज दुनिया के सबसे बड़े Youngest Billionaires में से एक है। सिर्फ 19 साल की उम्र में अपने कॉलेज के छात्रावास के कमरे से 4 फ़रवरी 2004 को launch की गई Facebook आज संसार की दूसरी सबसे Busy Website बन गई हैं, यह कोई चमत्कार नहीं हैं बल्कि इसके पीछे बहुत मेहनत और लगन छिपी हुई हैं।

फेसबुक के मालिक मार्क जुकरबर्ग(Mark Zuckerberg) युवाओं के लिए एक प्रेरणा हैं। read full story @http://bit.ly/2hqrkJm

Post has attachment
आयुर्वेद के अनुसार तिल बलवर्धक होता हैं सर्दी के दिनों में उसकी उपयोगिता बढ़ जाती हैं। तिल तीन प्रकार के होते हैं काले सफ़ेद और लाल। काले तिल सर्वोत्तम और बल वीर्यवर्धक होते हैं सफ़ेद तिल मध्यम और लाल तिल हीन गुण वाले होते हैं। काले तिल तंत्र-मंत्र, हवं पूजा आदि धार्मिक कार्यों के साथ साथ औषधीय कार्यों में भी उपयोगी होते हैं।

तिल में पोषक तत्वों का खजाना हैं। इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी पाया जाता हैं जिसके कारण यह भूख बढाता हैं भोजन को भली भाति हज़म करता हैं तन्त्रिका तंत्र को बल प्रदान करता हैं।

आयुर्वेद चिकित्सा विज्ञानं के अनुसार तिल स्निग्ध, मधुर और उष्ण होने से वात का शमन करता हैं यह कफ़ और पित्त को नष्ट करता हैं। बालों के लिए इसका तेल बहुत अच्छा होता हैं जाड़ों के दिनों में इसके तेल कि मालिश बहुत अच्छी रहती हैं। आयुर्वेद के अनुसार तिल के तेल से प्रतिदिन मालिश करने से बुढ़ापा, थकावट दूर होती हैं द्रष्टि बढती हैं, प्रसन्नता, पुष्टता और आयु, निद्रा में वृद्धि होती हैं यह त्वचा की सुन्दरता बढ़ाने तथा रूखापन दूर करने में उपयोगी हैं। सर्दी के दिनों में इसका नित्य उपयोग तिल्कूटा, चटनी, लड्डू, तिलपट्टी गजक के रूप में किया जाता हैं

read full post @https://goo.gl/KhqNFQ
Wait while more posts are being loaded