Profile cover photo
Profile photo
Nivedita Dinkar
19 followers -
I am a personality comprising of 3 E's i.e an Enthusiastic,Energetic and Emotional Entrepreneur .I have got good experiences in multinationals,hospitality industry,education sector too. By qualification I am a postgraduate in Business Management, English Literature and Sociology.My spouse is an Environmental Engineer and I support him in all fronts. I am a passionate mother of two naughty kids.My idea of expressing since my childhood is not complete without putting my soul in the form of poems, prose or whatever.....
I am a personality comprising of 3 E's i.e an Enthusiastic,Energetic and Emotional Entrepreneur .I have got good experiences in multinationals,hospitality industry,education sector too. By qualification I am a postgraduate in Business Management, English Literature and Sociology.My spouse is an Environmental Engineer and I support him in all fronts. I am a passionate mother of two naughty kids.My idea of expressing since my childhood is not complete without putting my soul in the form of poems, prose or whatever.....

19 followers
About
Nivedita Dinkar's posts

Post has attachment
मुठ्ठी भर ...
कुछ बातों / खबरों से मैंने अपने अंदर अवसाद को उतरते महसूस किया है | वह खबर, हादसा , घटना कभी कभी मेरे अंदर इतना लाचारी भर देती है, कि मुझे अपने आप से ही कष्ट होने लगता है | जरूरी नहीं, वह घटना मेरे साथ या  मेरे अपनों के साथ घटी हो पर बस बेबस कर जाती है |  ऐ...

Post has attachment
कवितायें
एक से बढ़कर एक  कवितायें  नायाब, बेमिसाल, असाधारण  ...    प्रेम से भरी हुई  ज़िन्दगी से लबरेज़  शहद में डूबी  शहनाई को मात करती नवेली धुन जिसकी    चिड़ियों की मासूम कलरव करती  ग़ज़ल नुमा  निष्कलंक संपन्न किसको पढ़े  किसकी आरती उतारें  प्रशांत महासागर से भी गहरें  ...

Post has attachment
मेरी नायिका - 8
एक मेहनतकश खुद्दार माँ की सफलता यूँ हासिल हुई जब उसकी मेहनती बुद्धिमान मेधावी बेटी यू पी बोर्ड 2017 की बारहवीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स लेकर ७५ % अंक से उत्तीर्ण हुई | ख़ास बात यह कि इस बेटी की माँ कोई स्कूल कॉलेज कभी नहीं जा सकी और मेरे घर के काम...

Post has attachment
प्रिय अभिभावकों,
प्रिय अभिभावकों, इन दिनों हर चैनल, वेब साइट्स , घर, अड़ोस पड़ोस पर बारहवीं के रिजल्ट निकलने का ही इंतज़ार है| मेरे घर में भी बेसब्री है | मेरी बेटी उत्कंठित है, थोड़ी व्याकुल थोड़ी उत्सुक | यह जाहिर सी बात है | पर दोस्तों , कुछ चीज़ों का ख़ास ख्याल रखना होगा एक मा...

Post has attachment
हलाला ?
  मेरे घर में वाल पेंटिंग करने वाले बबलू ने अचानक दोपहर ३ बजे बताया कि उसे अब घर जाना है, क्योंकि उसकी बहन का आज निकाह है | मैं चौंकी क्योंकि उसने मुझे सुबह से  जिक्र  तक  नहीं किया था |  मैंने कहा , अरे, जरूर जाओ लेकिन पहले क्यों नहीं बताया ? तुमसे क्या का...

Post has attachment
लौट आओ
इंसानी बस्ती के साथ आपके और हमारे घरो में फुदकने वाला  " प्रेम "  आखिर कहा चला गया ? ये सवाल पुरानी पीढ़ी के साथ नयी पीढ़ी के लिए भी आज चिंता का सबब बनता जा रहा है।  घरों को अपनी कुचु पु चु से चहकाने वाला प्रेम  हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है। मनुष्य जहाँ भ...

Post has attachment
चाँदनी
रातों की चाँदनी हो या हो चाँदनी रात | ढूँढ ले ही लेते है हम खुश्बुओं की सौगात ||    - निवेदिता दिनकर  तस्वीर : उर्वशी दिनकर 

Post has attachment
इंतेज़ार
सहमे से रहते है, जब यह दिन ढलता है ... क्यों यार, क्यों आखिर  अब नहीं, पक्का अब नहीं ... नो, नॉट अगेन ... कल कहा था न, अश्क़, इश्क और मुश्क छिपाए नहीं छिपते और सरे आम बहने लगते है। अश्क़ मेरे से नहीं छिपते, मुश्क़ तुम लगाये फिरते हो और हमारा इश्क़ ... वह तो जगज...

Post has attachment
सुकून
उन दिनों मैं देहरादून में बेटे के पास थी जब मुझे एक फोटो के माध्यम से बताया गया कि एक दो महीने का मेहमान घर पर आया हुआ है । मुझे यह ख़बर बिलकुल भी अच्छी नहीं लगी। मैं कोई भी प्रकार, स्पीशीज का " इंसान द्वारा प्रदत्त नाम 'कुत्ता' " नहीं रखना चाहती थी क्योंकि ...

Post has attachment
मेरी नायिका - ७
" एक मुठ्ठी चावल दे दो ...   एक मुठ्ठी चावल दे दो " इस चालीस डिग्री तापमान की दोपहरी में लगभग ७० साल की एक बुजुर्ग स्त्री सड़क पर जोर जोर से बोलते/पूछते हुए।  मैं छत से देखती हूँ तो पूछती हूँ कि भूखी हो ? क्या रोटी खा लोगी ? उसने 'हाँ ' में सर हिलाया। तुरंत ...
Wait while more posts are being loaded