Profile cover photo
Profile photo
Laxman Bishnoi Lakshya
About
Laxman's posts

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
मानव धर्म
नहीं आवश्यक परिक्रमा देवालयों के स्वर्णिम विग्रह की। नहीं आवश्यक भक्ति साधना किसी कुपित क्रोधी ग्रह की। नहीं आवश्यक है कि तुम तीर्थ यात्रा करते घूमो। नहीं आवश्यक है कि तुम मस्जिदों की चौखट चूमो। किसी धर्म ग्रन्थ का पाठ भी नहीं आवश्यक है कभी। गंगा यमुना का घ...

Post has attachment
सपनों को मरने मत देना
तेज आँधियों को दिये के, प्राण कभी हरने मत देना। सपनों को मरने मत देना।। गगरी फूटी, नई बनाओ। माला टूटी,फिर से सजाओ। नन्हें कदम जब बढ़ना चाहें, पकड़ अंगुली, हिम्मत बढ़ाओ। चलना सीख रहे बच्चे को गिरने से डरने मत देना। सपनों को मरने मत देना।। धूप नहीं,उजियारा देखो।...

Post has attachment
मेरे जीवन की हिस्सेदार हर नारी को समर्पित
जगती में जब मेरा जीवन, आहत अकुलाए आघातों में। क्लांत कलेजा कूक पड़े जब, दु:ख की चुभती बरसातों में। जब मन के प्रकाशित कोनों में, स्याह अंधेरा जम जाए। जब प्रगति पथ पर जीवन रथ, खा हिचकोले, थम जाये। उमंग भरी इन आँखों में मेरी, यह दृश्य जो फिरा कभी- शिखरों पर बैठ...

Post has attachment
हिंदी साहित्य की कालजयी रचनायें: Hindi Books PDF
हिंदी साहित्य की कालजयी रचनायें: Hindi Books PDF
1. गोदान - प्रेमचंद Download PDF File of Godan By Munshi Premchand 2. राग दरबारी- श्रीलाल शुक्ल Download PDF File of Raag Darbaari By Shree Lal Shukl 3. शेखर एक जीवनी- अज्ञेय Download PDF File of Shekhar Ek J...

Post has attachment
आओ वृक्ष लगाएं हम
प्रत्येक प्रसून-पत्र जिसके मानुष हित में न्यौछावर हैं, जिसकी शाख प्रशाख तले छाया पाते यायावर हैं, जिसके सुरभित कुसुम सदा ही मान बने, सम्मान बने। जिसके होने से ही खेत बने खलिहान बने, उद्यान बने। जिसने मनुज को प्राणवात सा जीने का आधार दिया, जिसके झुरमुटों ने ...

Post has attachment
Photo
Wait while more posts are being loaded