Profile cover photo
Profile photo
SHRI BILAS SINGH
15 followers
15 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
पाँव के नीचे की जमीन
गाँव में अब बच्चे नहीं खेलते गुल्ली डंडा, कबड्डी, छुप्पा-छुप्पी अब वे नहीं बनाते मिट्टी की गाडी नहीं पकड़ते तितलियाँ गौरैयों और कबूतरों के घोंसलों में देख उनके बच्चों को अब वे नहीं होते रोमांचित    अब उन्हें रोज नहीं चमकानी पड़ती लकड़ी की तख्ती ढिबरी की कालिख ...

Post has attachment
**
ईश्वर की संताने वे बच्चे किसके बच्चे हैं नाम क्या है उनका कौन हैं इनके माँ बाप कहाँ से आते हैं इतने सारे झुण्ड के झुण्ड, उन तमाम सरकारी योजनाओ के बावजूद जो अखबारों और टीवी के चमकदार विज्ञापनों में कर रही हैं हमारे जीवन का कायाकल्प, कालिख और चीथड़ो के ढकी बहत...
Wait while more posts are being loaded