Profile cover photo
Profile photo
Arun Mishra
14 followers
14 followers
About
Arun's posts

Post has attachment

Post has attachment
अष्टभुजी माँ की पताका लहराती है........
अष्टभुजी माँ की पताका लहराती है....... -अरुण  मिश्र  गंगा   के   तीर   एक   ऊँची   पहाड़ी   पर ,           अष्टभुजी  माँ   की   पताका  लहराती  है | विन्ध्य-क्षेत्र का है, माँ  सिद्ध-पीठ तेरा  घर ,           आ के यहाँ भक्तों को सिद्धि मिल जाती है | जर्जर,   ...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
यूँ हवाओं में, घुल गई होली......
   होली...                                               -अरुण मिश्र      यूँ हवाओं में,  घुल  गई होली। रंग बरसे तो,  धुल  गई होली। सारे आलम में, मस्तियाँ बिखरीं। इक पिटारी सी,खुल गई होली।।      बेल-बूटों सी,  है  कढ़ी  होली। फ्रेम में मन के, है  मढ़ी  होल...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
होरी की भोर में---
कवित्त -अरुण मिश्र  होरी की भोर में, नन्द-किसोर ने,  लाग्यो है  कीन्ही, बिसेस तयारी। झोरी   अबीर   की,   कॉधे   धरी,  अरु  हाथ लई है,  नई पिचकारी। पातन बीच  लुकाइ के, घात सों,  गोरी  पे,  रंग  की  धार  जु डारी। कॉकरि  मारी,  न  गागरि फोरी,  अचंभित राधा, भिज...

Post has attachment
झूम उठ्यो सगरो ब्रज मंडल
कवित्त  -अरुण मिश्र  झूम  उठ्यो  सगरो  ब्रज  मंडल,  होरी  कै  धूम - धमाल  भयो  है। कारे-कन्हैया   पे   दूजो   है  रंग   चढ़्यो, यहु खूब कमाल भयो है। राधा  के   रंग  में   स्याम   रंगे,  अरु राधेहु कै अस हाल  भयो है। कान्हा  के  हाथ   लगे  न  अबै,  तबहूँ  कस...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded