Profile cover photo
Profile photo
Rewa tibrewal
1,594 followers
1,594 followers
About
Rewa's posts

Post has attachment

Post has attachment
प्यार भरी किताब
लिखा जब मैंने खुद को ........  मेहसूस किया इस कागज़ ने भी  तब मुझको , लिखे जब भी दर्द भरे अल्फ़ाज़ इसके दिल पर , तकलीफ़ इसे भी हुई शब्दों से मिल कर , जब भी हुई इसकी मुलाकात मेरे आँसुओं के साथ स्याही ने भी बिखर कर किया एहसास , पर अब बस बहुत कर लिया हमने दर्द का ...

Post has attachment

Post has attachment
अजनबी आवाज़
इतने सालों के साथ और प्यार के बाद , आज एक अजीब सी हिचकिचाहट महसूस हो रही है , तेरी  वहीँ रूहानी आवाज़ जिस पर मैं मरती हूँ अजनबी सी लगने लगी  , समझना नामुमकिन सा हो गया है की ऐसा क्यों क्या मेरी सोच मे फर्क आ गया  ! या हालात ने करवट बदल ली .............. "जैस...

Post has attachment

Post has attachment
मुझे रहने दो
मुझे रहने दो मेरे घर मे अकेले ये बखूबी जनता है मेरे मिज़ाज जब भी ख्याल बिखरते हैं बटोर कर सहेज लेता है उन्हें सजा देता है करीने से अलमारियों मे ताकि झाड़ू बुहार न ले जाये उन्हें मुझे रहने दो मेरे घर मे अकेले , भरी बरसात मे और गर्म दुपहरिया मे माँ की तरह देखभा...

Post has attachment

Post has attachment
दिल की चाहत
हँस के हम अपना हर दर्द छिपा लेते है हमे प्यार है तुमसे ये बात हम अपनी निग़ाहों से भी बचा लेते हैं  तुम्हें इंकार तो नहीं पर मैं अपने रिश्तों से बंधी हर बार इनकार कर देती हूँ  और दिल की चाहत अपने आहों मे भर रूह के हवाले कर देती हूँ रेवा

Post has attachment

Post has attachment
शीत
जाने क्यूँ इन शीत के शुरुआती दिनों मे मन अजीब सा हो जाता है .... दिल का एक ख़ाली कोना सर उठाने लगता है उसे जितना समझाने की कोशिश करती हूँ वो ऊन के गोले सा उतना ही उलझता जाता है..... एक अनभुझ पहेली सा हर रोज़ साथ चलता रहता है क्या तुम सुलझा सकते हो ? भर सकते ह...
Wait while more posts are being loaded