Profile cover photo
Profile photo
Ashu Dubay
116 followers -
I want to more than friends and talk about her and self real life good and romantic movements
I want to more than friends and talk about her and self real life good and romantic movements

116 followers
About
Ashu's posts

Post has shared content
What u Say ? About this good thought!
मेरे भारत देश का दुर्भाग्य है आज अड़ोसी पड़ोसी भी हसते है 
Photo

Post has shared content
What you say about this dirty work?
good evening dear brothers and sisters ! 
                                   जय भोले नाथ।
                                             मेरी कामना है कि भोले बाबा भगवान शिव आपकी सभी उचित मनोकामनाओं को पूर्ण करें। भोले बाबा का शुभाशीष हर पल सदैव आप के साथ रहे, उनकी कृपा प्राप्त करके आप हर प्रकार के दुःख-दर्द से दूर रह कर संसार के समस्त सुखों का जीवन भर आनंद उठा सकें। भोले बाबा मेरे सभी नेट भाइयों को दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की दें और आप सभी के घर में सभी प्रकार के सुख-शांति एवं सम्पन्नता की बरसात करते रहें तथा उनकी सभी उचित मनोकामनाओं को जल्दी से जल्दी पूरा करें, ताकि मुझे भी सारा साल आप लोगों से एक के बाद एक खुशखबरियाँ मिलती रहें। भोले बाबा से मेरी यही प्रार्थना है कि वो आप के जीवन को हर तरह की खुशियों के रंगों से सदा ही सराबोर रखें।         
                                            अभी कुछ देर पहले ही मुझे उमा शंकर अंकल जी का फ़ोन आया, जिसमें उन्होंने मुझे बताया कि उन पर गूगल अथॉरिटीज ने नामालूम कारणों से अथवा शायद किसी पोलिटिकल पार्टी की शह पर दो हफ्ते के लिए गूगल की सभी एक्टिविटीज को इस्तेमाल करने पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसके कारण आने वाले कुछ दिनों तक शायद आप सभी उनकी कोई भी नयी पोस्ट नहीं देख पायेंगे। लेकिन फिर भी उन्होंने नेपाल भूकम्प त्रासदी और उसमें पाक की नापाक हरकत के बारे में तैयार की हुई उनकी एक पोस्ट मुझे मेल कर दी, ताकि मैं उसे आप सबकी जानकारी के लिए तुरंत ही पोस्ट कर दूं। यह वही पोस्ट है, जिस पर आप सभी के विचार और टिप्पणियां भी अपेक्षित हैं। अब क्योंकि खुद मुझे भी अगले कुछ दिनों तक अंकल जी की बनाई कोई अच्छी पोस्ट नहीं मिल पायेगी, इसलिए इस बीच मैं भी शायद ऑनलाइन नहीं आऊँगी। लेकिन यदि संभव हुआ तो तब तक पहले की भांति मेरी छोटी बहन निशा कोई हल्की-फुलकी पोस्ट या भगवान के अच्छी फोटोज आप लोगों के साथ शेयर करेगी।
                                                 आपकी बहन 
                                                 - पूनम शर्मा  
Photo

Post has attachment

Post has shared content
सत्यम शिवम् सुन्दरम !     जय हिन्द, जय भारत !   वंदे मातरम !

प्रिय मित्रों एवं बच्चों !
                          ॐ नमः शिवाय ! हर हर महादेव.
          भगवान शिव आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें !!!
                                            और
                     ईश्वर आपको सदा सही राह पर चलायें,
                   जिससे आपका प्रत्येक दिन मंगलमय हो !

                            विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, 
                                         झंडा ऊंचा रहे हमारा !

मित्रों व् बच्चों ! 
                   आप सभी को सपरिवार माता रानी के पावन नवरात्रों की हार्दिक बधाई एवं ढेरों शुभकामनाएँ। माता रानी आप सभी को सपरिवार यथायोग्य संयम, साहस, संस्कार, सफलता, बल-बुद्धि, ऋद्धि-सिद्धि, धन-संपत्ति के साथ साथ सभी प्रकार का मानसिक, शारीरिक व् पारिवारिक सुख-शांति प्रदान करें और आप सभी के सपनो को साकार करें।  

लानत है हमारे देश के मीडिया और उनमें कार्यरत सभी पत्रकारों और कर्मचारियों पर !
मित्रों एवं बच्चों ! 
                क्या आप में से किसी ने भी आज की सबसे बड़ी और सकारात्मक खबर देश के किसी भी न्यूज़ चैनल पर देखी? प्राप्त समाचारों के अनुसार ब्रिटेन में रहने वाले अप्रवासी भारतीय व्यवसायी श्री अनिल अग्रवाल, जो कि वेदांता ग्रुप के चेयरमैन भी हैं, ने अपनी आज तक की संपत्ति का करीब 75 %, यानी 21 हज़ार करोड़ रूपये भारत सरकार को दान दे दिया है। उनकी इच्छा भारत में विश्वस्तर का एक विश्वविद्यालय स्थापित करने की है। मूलतः बिहार के निवासी अनिल अग्रवाल, जो अब लंदन मे रहते है, भारत में शिक्षा का स्तर विश्वस्तर का करना चाहते हैं, जो आज़ादी के 67 सालो में भी देश की कांग्रेस सरकार नही कर पायी। कितनी दुखद बात है कि सोनिया या राहुल या उन जैसे किसी भी देशद्रोही लुटेरे नेताओं की शान में कसीदे पढ़ने वाले मीडिया के लोगों को इस देश से प्रेम करने वाले देशभक्तों से इस कदर चिढ़ है कि उनके सराहनीय काम पर दो पल का समाचार दिखाना भी उन्हें गंवारा नहीं? लेकिन देशभक्त लोग नाम से अधिक अपना ध्यान अपने काम पर ही केंद्रित रखते हैं। फिर भी हमारा फ़र्ज़ है कि उनके इस सराहनीय काम की खबर को जन-जन तक पहुंचाएं। 
   लिंक देखें :- http://www.ft.com/cms/s/0/5e377130-44c6-11e4-9a5a-00144feabdc0.html#axzz3EiAH4gif   लिंक देखें :- http://www.domain-b.com/companies/companies_v/Vedanta/20140927_anil_agarwal.html   
                   आपकी जानकारी के लिए एक बात बता रहा हूँ कि मैं अपनी अधिकतर एनिमेटेड फोटो यानी GIFs स्वयं ही बनाता हूँ, जिनमें मैं साइज और timing का भी विशेष ध्यान रखता हूँ। मल्टिफोटोज़ की GIFs की यह ख़ासियत आपको नेट में अन्यत्र कहीं ढूंढने पर भी नहीं मिलेंगी। इसलिए यदि आपको मेरी कोई भी एनिमेटेड फोटो(GIFs) पसंद आये, तो बाद में ढूंढने पर होने वाली निराशा से बचने के लिए उसे अपने पास PC में जरूर सेव कर लें, ताकि इच्छा होने पर बाद में भी कभी भी किसी के साथ भी शेयर कर सकें। धन्यवाद ! 

मित्रों !
                   कहा जाता है कि जब कोई बात पढ़कर अथवा बोलकर बार-बार दोहराई जाती है, तब वो बात हमारे अवचेतन मन में गहरे तक बैठ जाती है। तब क्यों न हम अपनी भारतीय संस्कृति की नीचे लिखी हुई कुछ अच्छी बातों को दोहराएं, जिससे हमारे व्यक्तित्व का उचित विकास हो और हम अपने राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकें?
                   श्रीमद भगवद्गीता में भगवान श्री कृष्ण ने स्पष्ट कहा है कि न्याय-अन्याय अथवा धर्म-अधर्म की लड़ाई में बीच का कोई मार्ग ही नहीं होता अर्थात कोई भी पक्ष जो न्याय का समर्थक है, तो उसे अन्याय के प्रतिकारस्वरूप पूरी तरह से न्याय के साथ खड़े होना चाहिए। इसी प्रकार जो कोई भी पक्ष धर्म या न्याय के पक्ष में नहीं है, तो उसे परोक्ष-अपरोक्ष रूप से अन्याय का समर्थन करने वाला ही मानना चाहिए। भगवान श्रीकृष्ण ने आगे इस बात को भी स्पष्ट किया है कि अधर्मियों  से समाज एवं धर्म की रक्षा के लिए अधर्मियों के खिलाफ किये गए किसी भी प्रकार के छल-बल एवं हिंसा के प्रयोग को पाप की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता। लेकिन उसका उद्देश्य केवल और केवल धर्म की स्थापना ही होना चाहिए।
                   "कोई भी धर्म राष्ट्र-धर्म अथवा देशभक्ति से बड़ा नहीं होता। किसी भी प्रकार के देशद्रोह की केवल एक ही सजा मृत्यु-दंड होनी चाहिए। जिस देश अथवा राज्य की अधिकांश जनता कायर हो, वहां विदेशी शक्तियों अपना आधिपत्य अधिक आसानी से जमा पाती  हैं। अन्याय करने वाले से उस अन्याय को चुपचाप सहने वाला अधिक दोषी होता है, जिसके कारण समाज में कायरता बढ़ती है और अन्यायी को बल मिलता है। अतः अन्याय का प्रतिकार अवश्य करें व् अपने बच्चों एवं छोटे भाई-बहनों को भी अन्याय का प्रतिकार करने की ही शिक्षा दें।" 
                   "जैसे काली से काली घटाएँ भी सूर्य के प्रकाश को बिखरने से अधिक समय तक रोक नहीं सकती, उसी प्रकार झूठ को कैसी भी चाशनी में लपेट कर परोसने या सत्य को सात तालों के भीतर कैद करने पर भी सत्य को छिपाया अथवा दबाया नहीं जा सकता। और झूठ के सारे अंधकार को चीर कर एक न एक दिन सच का सूरज निकलता जरूर है। सत्य एवं अहिंसा के पथ पर चलना कुछ कठिन भले ही हो, लेकिन केवल सत्य और अहिंसा का मार्ग ही सर्वश्रेष्ठ होता है, इसलिए सदा सत्य बोलने की कोशिश करें। सत्य को बोलने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि आपको कोई भी बात याद नहीं रखनी पड़ती, जबकि एक झूठी बात को छिपाने के लिए कभी-कभी सैंकड़ों झूठ बोलने पड़ते हैं। लेकिन एक बात अवश्य याद रखें कि सत्य और अहिंसा कायरों के हथियार नहीं, अतः अपनी कायरता को छिपाने के लिए इनका सहारा लेकर अपने बच्चों एवं समाज को मूर्ख बनाना अपने आपको धोखा देने जैसा ही है।"
                    " साफ़ दिल, नेक नियत और सही इरादे से किये जाने वाले हर काम में परमात्मा स्वयँ आपके साथ रहते हैं !" 
                    "दूसरों के साथ वो व्यव्हार कभी न करें, जो आप स्वयं अपने लिए नहीं चाहते !"             
                    "याद रखें कि हमारा चरित्र उस भव्य इमारत की भांति होता है, जिसे बनाने में तो कभी-कभी बरसों लग जाते हैं, लेकिन गिराने में केवल कुछ पल की ही देरी लगती है। ठीक उसी प्रकार चरित्र निर्माण हिमालय पर चढ़ने के समान दुर्गम है, परंतु गिरने के लिए केवल हमारा एक गलत कदम ही पर्याप्त है !"
                    "प्रकृति का यह नियम है कि संसार में जो कुछ भी हल्का है, वही ऊपर उठता है। इसलिए अपने उत्थान के लिए अपने अंदर के अहंकार को निकाल कर अपने आपको हल्का करें !" 
                     "वैसे तो कुछ भी बोलकर अपने शब्द वापस लेना दोगले नेताओं का ही चलन है, फिर भी आप अपने लफ़्ज़ों को तोलकर बोलिए ! ताकि कभी वापस भी लेने पढ़ें तो वजन न लगे !"
                     "इस देश में पैदा होने, यहाँ की आबो-हवा में खेल-कूद कर पले बढे होने के कारण इस देश के प्रति हमारे कुछ फ़र्ज़ व् क़र्ज़ होते हैं। यदि आप के मन में अपने इस देश के प्रति प्रेम और आदर की भावना न हो, यदि यहाँ का नागरिक होने के बावजूद आप अपने उन कर्तव्यों का पालन ठीक से नहीं करते, अपने माता-पिता, बुजुर्गों एवं गुरुजनों को यथोचित सम्मान नहीं देते व् केवल दूसरों में मीन-मेख निकालकर ही आप अपना जीवन व्यतीत करते हैं, तो निश्चय ही आप इस देश की धरती पर बोझ और इंसानियत के नाम पर कलंक हैं !"
                     "Inactivity and idleness is the sign of a dead body ! if you have got any free time, don't waste it. You can utilize the same for the sake of the betterment of society, mankind and work for the national interests."  
                     "निष्क्रियता और आलस्य एक मृत शरीर की पहचान है ! यदि आप के पास खाली समय है, तो इसे व्यर्थ बर्बाद मत करो। आप अपने खाली समय का सदुपयोग समाज, मानवता की बेहतरी और राष्ट्रीय हितों के लिए काम करके भी कर सकते हैं ! "   
                      शर्म करो मोदी जी ! कुछ तो शर्म करो। गौ-धन की अमानवीय दुर्दशा पर कुछ तो शर्म करो ! जिन हिन्दुओं के एकजुट होकर आपको वोट देने के कारण आप केंद्र में एक मज़बूत भाजपा सरकार बनाने में कामयाब हुए हैं, उन्हीं हिन्दुओं की बरसों से गौ-हत्या पाबन्दी कानून बनाने की मांग को पूरा ना कर पाने की अपनी असमर्थता के लिए बेशक अभी आप राज्य सभा में पर्याप्त बहुमत ना होने का रोना रो सकते हैं, लेकिन गौ हत्या में भारी कमी करने के लिए गौ-मांस के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से  सरकारी पाबन्दी लगाने के मामूली सरकारी आदेश के लिए भी आपको कौन से सदन में बहुमत साबित करना पड़ेगा? अभी फिलहाल इस आशय का सरकारी आदेश तो तुरंत जारी कर ही सकते हैं ना, फिर भला उसमें भी इतनी देरी क्यों?? 
                       'मुलायम सिंह हिज़ड़ा है' अगर आज़म खान का यह कहना सही है कि मुलायम हिज़ड़ा है, तो फिर तो अखिलेश शर्तिया किसी मुल्ले की ही नाज़ायज़ औलाद है !!!

                       जागो हिन्दुओं जागों ! तुम्हे किसी और ने नहीं बचाना, इसलिए अपनी रक्षा स्वयं करो   
सपा को वोट देने वाले हिन्दू चुल्लू भर पानी में डूब मरें या खुद को भी मुल्लों की औलाद स्वीकारें ! मुलायम सिंह को हिज़ड़ा बताने के आज़म खान के बयान पर भी यह सोचकर अखिलेश का गुस्सा न होना तो समझ में आता है, कि बरसों से मुलायम सिंह के साथ रहने वाला आज़म खान उसकी रग-रग से वाकिफ ही होगा, फिर उस अखिलेश का एक ऐसे आदमी के गुस्सा होने का फायदा भी क्या जो उसका बाप ही न हो? लेकिन क्या आप सब भी हिन्दू नहीं या फिर अपने बाप की औलाद नहीं, जो अपने आपको सेक्युलर कहने वाली सपा सरकार, जिसने पहले स्कूल जाने वाली केवल मुस्लिम लड़कियों को तीस हज़ार, फिर मुस्लिम लड़की को कॉलेज जाने के लिए 42ooo/ की स्कूटी पर हिन्दू लड़कियों के बारे में जवाब तलबी पर केवल मुस्लिम लड़की को अपनी बेटी और हिन्दू लड़कियों के लिए ऐसी कोई योजना नहीं कह का यह जता दिया कि वो वास्तव में कितनी सेक्युलर है और फिर भी आपने उसी समाजवादी पार्टी को वोट देकर मज़बूत बनाने का गुनाह किया, जिसके राज में आपकी अपनी बेटी को सामाजिक सुरक्षा तक नसीब नहीं, जहाँ आपकी बहन-बेटियों के साथ आये दिन इतने बलात्कार होते हैं??? फिर क्यों घड़ियाली आंसू बहाते हो, जब तुम्हारी बहन-बेटी इन मुल्लों के लव-जेहाद की शिकार होती है, फिर हम क्यों तुम लोगों के लिए सोशल साइट्स पर आवाज़ उठायें, जब तुम खुद ही उन अपराधी प्रवृति के मुल्लों का पोषण करने वालों को मज़बूत बनाते हो??? अपने बच्चों के समुचित विकास और सभी प्रकार की सामाजिक व् आर्थिक सुरक्षा के लिए आज ही प्रण करें कि भविष्य के किसी भी चुनाव में केवल बीजेपी अथवा किसी कट्टर हिन्दू-पंथी संगठन के उम्मीदवार को ही वोट देंगे!!! 
 
                     ये देखिये ! ये हैं शांतिप्रिय इस्लाम के शांतिदूत ! सीरिया, लीबिया, इराक और इसराइल में इस्लामिक जेहाद के नाम पर ISIS के शांतिदूत ऐसे खुलेआम सड़कों पर गश्त करते देखे जा सकते हैं। इन्हीं शांति दूतों के गाजापट्टी में फंस जाने के कारण भारतीय मुस्लिम और उनके चमचे तथाकथित सेक्युलर नेता केजरीवाल सार्वजनिक रूप से अपनी गंभीर चिंता व्यक्त की थी, जबकि सहारनपुर और पाकिस्तान में अपने सिख भाइयों पर हुए हमले से केजरीवाल के मुंह से आज तक एक शब्द भी नहीं फूटा। शायद इसीलिए सरदारो पर बेवकूफी पर जोक बनाये जाते हैं, जो अपनी सबसे ज्यादा शुभचिंतक साथी अकाली पार्टी से पल्ला झाड़ कर मुल्लों के तलुवे चाटने वाले केजरीवाल के ही तलुवे चाटने जा पहुँचे। शायद ऐसे लोगों के कारण ही "घर का जोगी जोगना बाहर का जोगी सिद्ध" वाली कहावत बनी है ??? 
 इस्लामिक शांतिदूतों के द्वारा सीरिया में किये गए बम धमाके के शिकार बच्चों पर मातम मनाते उनके स्वजन व् रिश्तेदार ! जन्नत में मिलने वाली 72 हूरों की खातिर सुरक्षा बल से आमने सामने की टक्कर लेता एक इस्लामिक शांतिदूत !  
शांति दूतों द्वारा फैलाई गई इस्लामिक शांति का नज़ारा, जहाँ अब इतनी शांति है कि कहीं कोई आवाज़ सुनाई नहीं देती, क्यूँकि मुर्दे बोला नहीं करते !  सचमुच कितनी शांति है ना यहाँ? सभी चैन से सो चुके हैं और कभी जागेंगे भी नहीं ! शांति दूतों द्वारा फैलाई गई इस्लामिक शांति का नज़ारा, जहाँ अब इतनी शांति है कि कहीं कोई आवाज़ सुनाई नहीं देती, क्यूँकि मुर्दे बोला नहीं करते !   यही शांति इस्लाम तो सारे संसार में देखना चाहता है??? और हमारे हिन्दू भाई-बहन तो पहले से आधे मुर्दा हैं, जिन्हें इस अवस्था में लाने में इस्लाम को भी ज्यादा कष्ट नहीं करना पड़ेगा ! इसी इस्लामिक शांति के लिए तो हमारी हिन्दू युवतियां मुल्लों के लव जेहाद की दीवानी हैं???

                     प्रिय मित्रों एवं बच्चों ! पहले उप्र सरकार द्वारा केवल मुस्लिम स्कूली लड़कियों के लिए 30000 की आर्थिक सहायता, कॉलेज के लिए 42000 की स्कूटी और अब ये सब? इस हरकत का उचित प्रत्युत्तर तो यही है कि जब तक मुल्ले खुद इस किस्म के ऑफर का विरोध न करें, कम से कम तब तक के लिए हम हिन्दू भी इन मुल्लों से सभी प्रकार के आर्थिक व् सामाजिक सम्बन्ध तोड़ लें। न इनकी दुकानों से कोई वस्तु खरीदें, न इनसे कोई व्यापार करें और न ही इन्हे अपने यहाँ नौकरी पर रखें। सरकारी विभागों में भले ही इन्हें रखना कोई संवैधानिक बाध्यता हो सकती है, लेकिन आपका कारोबार तो आपका अपना है, अतः उसमें ऐसा करने से आपको कोई नहीं रोक सकता। जब तक हम सभी स्वयं इस प्रकार के कठोर कदम नहीं उठाएंगे, तब तक सपा सरकार हिन्दुओं के साथ अन्याय करती रहेगी !!!
                                          - Uma Shankar Parashar.
Photo

Post has attachment
Esi soch ne to pure pakistan se gair muslimo par kahar barpa rakha h . example aaye din news me rahate h 

Post has shared content
Wav!  what a change ?

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded