Profile cover photo
Profile photo
Anupam Kumar
248 followers -
Love is not my priority. I wish it would have been.
Love is not my priority. I wish it would have been.

248 followers
About
Posts

Post has attachment
दिन आखिर ढलता ही नहीं है
दिन ढलता ही नहीं है जम गया है सीने में रक्त थक्के की तरह सुबह की आंच में उबलता ही नहीं है चिमनी के कोयले में जलता ही नहीं है  दिन आखिर ढलता ही नहीं है | गर ये बन गया है पाप की ईमारत प्रायश्चित की लेप कहाँ से लाऊँ ? गर ये बन गया है प्रतिद्रोह की ज्वाला शांति...
Add a comment...

Post has attachment
अब यूँ ही मुझे ले चल ए जिंदगी |
अब यूँ ही मुझे ले चल ए जिंदगी  | ख्वाबों में कहीं खे चल ए  जिंदगी || मेरे हसीन लम्हों को एक कमरा किराये दे इससे पहले की हो जाएँ ओझल ए जिंदगी || ख्याल आया कितनी खूब है चिता सी मौत जो चिंता में घुटने लगी पल पल ए जिंदगी || डूब रही है कहीं सूरज की आखिरी किरण हो...
Add a comment...

Post has attachment
दीवार
हमारे तुम्हारे बीच कोई दीवार बनी नहीं थी | खिड़कियां थी, शीशे की खुलती बंद होती लापरवाह दोस्त की तरह | फिर एक दिन अचानक डूबती शाम के इस पार खड़े थे हम और उस पार तुम - दीवार बना दी हमने | दीवार खड़ी हो गयी, लेकिन हम जीते रहे उसी दौर में जब कोई दीवार थी ही नहीं ...
Add a comment...

Post has attachment
दीवार
हमारे तुम्हारे बीच कोई दीवार बनी नहीं थी | खिड़कियां थी, शीशे की खुलती बंद होती लापरवाह दोस्त की तरह | फिर एक दिन अचानक डूबती शाम के इस पार खड़े थे हम और उस पार तुम - दीवार बना दी हमने | दीवार खड़ी हो गयी, लेकिन हम जीते रहे उसी दौर में जब कोई दीवार थी ही नहीं ...
Add a comment...

Post has attachment
मेरी कविता का आखिरी पूर्ण विराम
किसी का पिता होना  एक  जिम्मेदारी का होना है |  किसी का पुत्र होना  एक आबरू का होना है |  किसी का आशिक होना  मुहब्बत के ख़ुशनुमा लम्हों का होना है |  लेकिन किसी का चेतना हो जाना  उसके अस्तित्वा का होना है |  तुम मेरी चेतना हो  ये भी एक रिश्ता है |  समाजशास्त...
Add a comment...

Post has attachment
मौत कोई कविता नहीं है |
पिछले एक महीने में आई आई टी  खड़गपुर से दो छात्रों के सुसाइड की खबर, खबर से कहीं  ज्यादा उस एक सत्य की तलाश भी है जिसे हम आपने अर्सों से झुठला रखा है | लेकिन हर बार घूम फिर के सारा दोष संस्थान पे फेक देना भी उतना ठीक नहीं है | कभी कभी ये भी जरुरी है की हम अप...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
शूल
जब तुम मेरे पास होते हो तुम मेरे पास नहीं होते | तुम मेरे पास तभी होते हो जब तुम मेरे पास नहीं होते | तुम्हारा होना, मेरे इस सफ़ेद दीवार से चेहरे पे बस एक मुस्कराहट का होना है | लेकिन तुम्हारा ना होना एक शूल की तरह चुभता है मेरे सीने जेहन में लम्हा लम्हा घड़ी...
Add a comment...

Post has attachment
खोज
जब भी कोई लड़की हाथ में कार्डबोर्ड लिए उतरती है सड़क पे और हो जाती है किसी कैमरे में कैद, ठीक उसी वक़्त निकल पड़ते हैं सड़कों पे अलग अलग ठीकेदारों के अलग अलग नुमाइंदे | इस खोज में की कहीं उसका कोई इतिहास तो नहीं कहीं यूट्यूब पे कोई डांस तो नहीं कहीं पुराना कोई र...
Add a comment...

Post has attachment
खोज
जब भी कोई लड़की हाथ में कार्डबोर्ड लिए उतरती है सड़क पे और हो जाती है किसी कैमरे में कैद, ठीक उसी वक़्त निकल पड़ते हैं सड़कों पे अलग अलग ठीकेदारों के अलग अलग नुमाइंदे | इस खोज में की कहीं उसका कोई इतिहास तो नहीं कहीं यूट्यूब पे कोई डांस तो नहीं कहीं पुराना कोई र...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded