Profile cover photo
Profile photo
Aarsi Chauhan
122 followers -
आरसी चौहान (प्रवक्ता-भूगोल) राजकीय इण्टर कालेज गौमुख, टिहरी गढ़वाल उत्तराखण्ड249121 मेाबा0-7579173130ईमेल-chauhanarsi123@gmail.com
आरसी चौहान (प्रवक्ता-भूगोल) राजकीय इण्टर कालेज गौमुख, टिहरी गढ़वाल उत्तराखण्ड249121 मेाबा0-7579173130ईमेल-chauhanarsi123@gmail.com

122 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
आरसी चौहान की कविताएं- ईश्वर की अनुपस्थिति में
 बहुत दिनों बाद उपस्थित हूं कुछ कविताओं के साथ  1- ईश्वर की अनुपस्थिति में ऐसी हो धरती जहां भोरहरी किरणों
सा मुलायम और मां की ममता की
तरह पवित्र हों आदमी उनके अकुलाए हाथ बनाने में हों माहिर खुशियों का मानचित्र हवाओं को लपेट कर रख सकें सिरहाने ऐसा हुनर हो उन...
Add a comment...

Post has attachment
मजदूर : आरसी चौहान
मजदूर वे आत्महत्या नहीं
करते उन्हें पेट से आगे
की दुनिया भी नहीं दीखती किसी लेबर चौराहे पर अब तक नहीं देखा जीवन से हार मानते उसने नहीं की गले में कभी फंदा डालने
की जुर्रत या कलाई की नसें काटने
का प्रयास सोचा भी नहीं होगा सल्फास के बारे में गाड़ियों के नीचे आ...
Add a comment...

Post has attachment
फुलेसरी बुआ : आरसी चौहान
फुलेसरी बुआ गांव की पृष्ठभूमि
पर आज तक लिखी गयी होंगी ढेर सारी कविताएं जिसमें गांव को मोहरा बनाकर थपथपाई होगी बहुतों ने अपनी पीठ और गांव वहीं का वहीं बैठा रहा गुमसुम पर इस कविता में एक गांव जिसकी नसों
में दौड़ती हैं खून की तरह फुलेसरी फुआ जैसी अनगीनत
लड़कियां...
Add a comment...

Post has attachment
पृथ्वी के जन्म पर : आरसी चौहान
पृथ्वी के जन्म पर पृथ्वी के जन्म पर जब गाया गया होगा पहले
पहल मंगलगीत फूल की तरह झरे होंगे
झरने पहाड़ों से करते हुए
अठखेलियां पृथ्वी हंसी होगी खिलखिलाकर और बही होंगी जीवनदायिनी
नदियां उसके शु़द्धिकरण में सम्भवतः बादलों के
पूर्वजों ने नहलाये होंगे पवित्र
जल स...
Add a comment...

Post has attachment
बुनकर : आरसी चौहान
बुनकर साड़ियां किसे अच्छी
नहीं लगती भोरहरी किरणों सा लाल
लाल चटख रंगों सी चमकती मुस्कराती फसलों सी
लहलहाती हरी हरी साड़ियां आसमान को जीभ बिराती नीली नीली साड़ियां मानों बुनकरों ने चमकती
आंखों का मोती जड़ दिया हो सुर्ख लाल रंग में निचोड़ दिया है अपना
लहू अपने बच्...
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
अदनान कफ़ील ‘दरवेश’ की कविताएं
  जन्म : 30 जुलाई 1994 , गड़वार, बलिया, उत्तर प्रदेश शिक्षा: कंप्यूटर साइंस आनर्स (स्नातक), दिल्ली विश्वविद्यालय सम्प्रति: जामिया मिल्लिया इस्लामिया में अध्ययनरत प्रकाशन: हिंदी की प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं तथा वेब ब्लॉग्स पर कविताएँ प्रकाशित अदनान कफ़ील दरवेश से...
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
अमरपाल सिंह ‘ आयुष्कर ’ की कविताएं
  दैनिक जागरण, हिन्दुस्तान ,कादम्बनी,वागर्थ ,बया ,इरावती प्रतिलिपि डॉट कॉम , सिताबदियारा ,पुरवाई ,हमरंग आदि में  रचनाएँ प्रकाशित 2001  में  बालकन जी बारी संस्था  द्वारा राष्ट्रीय  युवा कवि पुरस्कार 2003   में बालकन जी बारी संस्था   द्वारा बाल -प्रतिभा सम्मा...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded