Profile cover photo
Profile photo
Bhopali2much
16 followers -
A Bhopali on web, too much entertainment Fun, Joke, Masti, Sher, Shayari, Pyaar, everything too much.
A Bhopali on web, too much entertainment Fun, Joke, Masti, Sher, Shayari, Pyaar, everything too much.

16 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
भक्त और भगवान एक बार किसी देश का राजा अपनी प्रजा का हाल-चाल पूछने के लिए गाँवों में घूम रहा था। घूमते-घूमते उसके कुर्ते का बटन टूट गया, उसने अपने मंत्री को कहा कि इस गांव में कौन सा दर्जी है, जो मेरे बटन को सिल सके।उस गांव में सिर्फ एक ही दर्जी था, जो ……
Add a comment...

Post has attachment
भक्त और भगवान एक बार किसी देश का राजा अपनी प्रजा का हाल-चाल पूछने के लिए गाँवों में घूम रहा था। घूमते-घूमते उसके कुर्ते का बटन टूट गया, उसने अपने मंत्री को कहा कि इस गांव में कौन सा दर्जी है, जो मेरे बटन को सिल सके।उस गांव में सिर्फ एक ही दर्जी था, जो ……
Add a comment...

Post has attachment
आज का प्रेरक प्रसंग - भक्त और भगवान
भक्त और भगवान एक बार किसी देश का राजा अपनी प्रजा का हाल-चाल पूछने के लिए गाँवों में घूम रहा था। घूमते-घूमते उसके कुर्ते का बटन टूट गया, उसने अपने मंत्री को कहा कि इस गांव में कौन सा दर्जी है, जो मेरे बटन को सिल सके। उस गांव में सिर्फ एक ही दर्जी था, जो कपडे...
Add a comment...

Post has attachment
जैसे सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर कि छाया ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है मैं जबसे शरण तेरी आया, मेरे राम भटका हुआ मेरा मन था कोई मिल ना रहा था सहारा लहरों से लड़ती हुई नाव को जैसे मिल ना रहा हो किनारा, मिल ना रहा … Continue reading "जैसे…
Add a comment...

Post has attachment
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं  पेड़ो पर हरियाली, मिट्टी कि सोंधी महक चिड़िया कि चहचहाट,  धरती किसी दुलहन सी सजने लगती हैं  पहाड़ों से झरनों कि खुशनुमा आवाज, वो केनटिन के पकोडो कि खुशबू , मेरे आंगन की गोरइया भी आ गई हैं  सबकुछ तो बापस…
Add a comment...

Post has attachment
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं  पेड़ो पर हरियाली, मिट्टी कि सोंधी महक चिड़िया कि चहचहाट,  धरती किसी दुलहन सी सजने लगती हैं  पहाड़ों से झरनों कि खुशनुमा आवाज, वो केनटिन के पकोडो कि खुशबू , मेरे आंगन की गोरइया भी आ गई हैं  सबकुछ तो बापस…
Add a comment...

Post has attachment
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं  पेड़ो पर हरियाली, मिट्टी कि सोंधी महक चिड़िया कि चहचहाट,  धरती किसी दुलहन सी सजने लगती हैं  पहाड़ों से झरनों कि खुशनुमा आवाज, वो केनटिन के पकोडो कि खुशबू , मेरे आंगन की गोरइया भी आ गई हैं  सबकुछ तो बापस…
Add a comment...

Post has attachment
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं  पेड़ो पर हरियाली, मिट्टी कि सोंधी महक चिड़िया कि चहचहाट,  धरती किसी दुलहन सी सजने लगती हैं  पहाड़ों से झरनों कि खुशनुमा आवाज, वो केनटिन के पकोडो कि खुशबू , मेरे आंगन की गोरइया भी आ गई हैं  सबकुछ तो बापस…
Add a comment...

Post has attachment
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं
सुना हैं इस खुशनुमा मौसम मे सबकुछ वापस आ जाता हैं  पेड़ो पर हरियाली, मिट्टी कि सोंधी महक चिड़िया कि चहचहाट,  धरती किसी दुलहन सी सजने लगती हैं  पहाड़ों से झरनों कि खुशनुमा आवाज, वो केनटिन के पकोडो कि खुशबू , मेरे आंगन की गोरइया भी आ गई हैं  सबकुछ तो बापस आने...
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded