Profile cover photo
Profile photo
Amit Sethi
239 followers -
Devotee of Shri Radha Krishna
Devotee of Shri Radha Krishna

239 followers
About
Amit's posts

Post has attachment
सूरज की गर्मी से जलते हुए - Suraj Ki Garmi Se Jalte Hue Mann Ko - Bhajan
सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया, ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम | भटका हुआ मेरा मन था, कोई मिल ना रहा था सहारा | लहरों से लगी हुई नाव को जैसे मिल ना रहा हो किनारा | इस लडखडाती हुई नव को जो किसी ने किना...

Post has attachment
अच्युतम केशवं राम नारायणं अच्युता अष्टकम - Achyutam Keshavam Ram Narayanam - Achyutam Ashtakam - Bhajan
अच्युतम केशवं राम नारायणं, कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं, श्रीधरं माधवं गोपिका वल्लभं, जानकी नायकं रामचंद्रम भजे। अच्युतम केसवं सत्य भामधावं, माधवं श्रीधरं राधिका अराधितम, इंदिरा मन्दिरम चेताना सुन्दरम, देवकी नंदना नन्दजम सम भजे। विष्णव जिष्णवे शंखिने चक्रिने...

Post has attachment
ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां - Thumak Chalat Ram Chandra - Bhajan
ठुमक चलत रामचंद्र, बाजत पैंजनियां | किलकि किलकि उठत धाय, गिरत भूमि लटपटाय | धाय मात गोद लेत, दशरथ की रनियां || अंचल रज अंग झारि, विविध भांति सो दुलारि | तन मन धन वारि वारि, कहत मृदु बचनियां || विद्रुम से अरुण अधर, बोलत मुख मधुर मधुर | सुभग नासिका में चारु, ...

Post has attachment
पायो जी मैंने राम रतन धन पायो - Payo Ji Maine Ram Ratan Dhan Paayo - Bhajan
पायो जी मैंने राम रतन धन पायो | वस्तु अमोलिक दी मेरे सतगुरु | कृपा कर अपनायो || जन्म जन्म की पूंजी पाई | जग में सबी खुमायो || खर्च ना खूटे, चोर ना लूटे | दिन दिन बढ़त सवायो || सत की नाव खेवटिया सतगुरु | भवसागर तरवयो || मीरा के प्रभु गिरिधर नगर | हर्ष हर्ष जस...

Post has attachment
सीता राम सीता राम सीता राम कहिये - Sita Ram Sita Ram Sita Ram Kahiye - Bhajan
सीता राम सीता राम सीताराम कहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये | मुख में हो राम नाम राम सेवा हाथ में, तू अकेला नाहिं प्यारे राम तेरे साथ में | विधि का विधान जान हानि लाभ सहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये || किया अभिमान तो फिर मान नहीं पायेगा, ह...

Post has attachment
तेरा रामजी करेंगे बेड़ा पार - Tera Raam Ji Karenge Bera Paar - Bhajan
राम नाम सोहि जानिये, जो रमता सकल जहान घट घट में जो रम रहा, उसको राम पहचान तेरा रामजी करेंगे बेड़ा पार, उदास मन काहे को करे । नैया तेरी राम हवाले, लहर लहर हरि आप सँभाले | हरि आप ही उठावे तेरा भार, उदास मन काहे को करे || काबू में मँझधार उसी के, हाथों में पतवार...

Post has attachment
सूरज की गर्मी से जलते हुए - Suraj Ki Garmi Se Jalte Hue Mann Ko - Bhajan
सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया, ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम | भटका हुआ मेरा मन था, कोई मिल ना रहा था सहारा | लहरों से लगी हुई नाव को जैसे मिल ना रहा हो किनारा | इस लडखडाती हुई नव को जो किसी ने किना...

Post has attachment
सुख के सब साथी दुःख में ना कोई - Sukh Ke Sab Sathi Dukh Me Na Koi - Bhajan
सुख के सब साथी, दुःख में ना कोई। मेरे राम, मेरे राम, तेरा नाम एक सांचा दूजा ना कोई॥ जीवन आणि जानी छाया, जूठी माया, झूठी काय। फिर काहे को साड़ी उमरिया, पाप को गठरी ढोई॥ ना कुछ तेरा, ना कुछ मेरा, यह जग योगी वाला फेरा। राजा हो या रंक सभी का, अंत एक सा होई॥ बाह...

Post has attachment
कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े - Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhaktoin Se Kaam Pade - Bhajan Lyrics
कभी कभी भगवान् को भी भक्तों से काम पड़े । जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े ॥ अवध छोड़ प्रभु वन को धाये, सिया राम लखन गंगा तट आये । केवट मन ही मन हर्षाये, घर बैठे प्रभु दर्शन पाए । हाथ जोड़ कर प्रभु के आगे केवट मगन खड़े ॥ प्रभु बोले तुम नाव चलाओ, अरे पार...

Post has attachment
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले - Itna Toh Karna Swami Jab Prann Tan Se Nikle - Bhajan Lyrics
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले - २ गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से निकले  श्री गंगा जी का तट हो, यमुना का वंशीवट हो मेरा सांवरा निकट हो जब प्राण तन से निकले इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से निकले पीताम्बरी कसी हो छवि मन में यह बसी हो होठों पे ...
Wait while more posts are being loaded