Profile cover photo
Profile photo
bhawana sharma
7 followers
7 followers
About
Posts

Post has attachment
परिंदे की उलझन
कविता जीवन का अनुभव होता है,उस अनुभव में ये जरुरी नहीं की वो अनुभव आपका अपना निजी हो वह किसी और के जीवन की घटना पर भी हो सकता है । परिंदे की उलझन तुझे वही जगह मिली ... उड़ते-उड़ते ऐ परिंदे क्यों गया तू वहां ... जानता था कि तुझे कुछ नहीं मिलेगा वहां ... जानक...

Post has attachment
परिंदे की उलझन
कविता जीवन का अनुभव होता है,उस अनुभव में ये जरुरी नहीं की वो अनुभव आपका अपना निजी हो वह किसी और के जीवन की घटना पर भी हो सकता है । परिंदे की उलझन तुझे वही जगह मिली ... उड़ते-उड़ते ऐ परिंदे क्यों गया तू वहां ... जानता था कि तुझे कुछ नहीं मिलेगा वहां ... जानक...

Post has attachment
परिंदे की उलझन
कविता जीवन का अनुभव होता है,उस अनुभव में ये जरुरी नहीं की वो अनुभव आपका अपना निजी हो वह किसी और के जीवन की घटना पर भी हो सकता है । परिंदे की उलझन तुझे वही जगह मिली ... उड़ते-उड़ते ऐ परिंदे क्यों गया तू वहां ... जानता था कि तुझे कुछ नहीं मिलेगा वहां ... जानक...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded