Profile cover photo
Profile photo
The Real Way Of Life
About
Posts

Post has attachment
दूसरा नियम पानी हमेशा घूँट-घूँट करके पीओ:- पानी ऐसे पीओ जैसे चाय पीते ,गर्म दूध पीते है,गर्म कॉफी पीते है एक-एक घूँट भर कर एक एक सीप सीप करके पीते हैं।ऐसे ही पानी पीने की आदत डालो। ये मुँह में एक बार गिलास लगा लिया और गटा-गटा खाली कर दिया ये तरीका गड़बड़…
Add a comment...

Post has attachment
एक गांव में एक पण्डित रहा करता था।गांव में पुराणों का ज्ञान प्रचार करके दान आदि से गुजारा किया करता था।पण्डित जी का बोलबाला गाँव में निरंतर बढ़ता जा रहा था।हर गांववासी उनका आदर करता था।पण्डित जी के बढ़ते बोलबाले से हर कोई प्रभावित था।गांव के ही एक बस…
Add a comment...

Post has attachment
प्रेरणा एक आग की तरह है, जिसे जलाए रखने के लिए इसमें लगातार ईंधन डालना पड़ता है। प्रेरणा को बनाए रखने के लिए आपका ईंधन “स्वंय पर विश्वास” ही है।
Add a comment...

Post has attachment
खाना खाते ही तुरंत पानी पीना जहर के समान है:-राजिव दीक्षित निरोगी और स्वस्थ होने के लिए आयुर्वेद की एक छोटी सी जानकारी आप सब लोगों से शेयर करना चाहता हूँ। आयुर्वेद में ये कहा गया है कि किसी भी व्यक्ति को अपने जीवन मे निरोगी होना है,रोग मुक्त होना है तो…
Add a comment...

Post has attachment
Success के बीज को Discover करना है। मान लो वो आम बीज है ओर आप सोचने लग जाओ की इस से सेब का पेड़ बने और आप हर रोज सोचे कि इस बीज से सेब का पेड़ लगेगा और सेब लगेगें और मैं सेब खाऊँगा।सेब मीठा होगा ऐसा होगा आप ऐसा सोच रहे हो। तो … Continue reading Find Out Who…
Add a comment...

Post has attachment
How to learn from Everyone LIFE CHAPTER हमे कुछ ही लोगो से नही बल्कि सब से सीखना है, सबका मतलब सब से।इसका मतलब आप 24 घण्टे सिख रहे हो।हर स्थिति से कुछ ना कुछ सीख रहे हो। उस से क्या होगा की आप पूरी तरह से एक्टिव रहोगे,सीखना कुछ चाहे वो आध्यात्मिक ज्ञान…
Add a comment...

Post has attachment
सुमिरन का अंग कबीर, सुमरन मार्ग सहज का, सतगुरु दिया बताय। स्वास्-उस्वास् जो सुमिरता, एक दिन मिलसी आय।। कबीर,माला स्वास् उस्वास् की , फेरेंगे निज दास । चौरासी भरमे नही, कटे करम की फाँस।। कबीर,कबीर सुमरन सार है, और सकल जंजाल । आदि अंत मधि सोंधिया, दूजा देखा…
Add a comment...

Post has attachment
लौट जाता हूँ वापस घर की तरफ हर रोज थका-हारा… आज तक समझ नहीं आया की काम करने के लिए जीता हूँ… या जीने के लिए काम करता हूँ…. बचपन में सबसे बार-बार पूछा गया सवाल – बड़े होकर क्या बनना है? जवाब अब मिला फिर से बच्चा बनना है। “थक गया हूँ तेरी नौकरी … Continue…
Add a comment...

Post has attachment
​ एक बच्चे को आम का पेड़ बहुत पसंद था।​ ​जब भी फुर्सत मिलती वो आम के पेड के पास पहुच जाता।​ ​पेड के उपर चढ़ता,आम खाता,खेलता और थक जाने पर उसी की छाया मे सो जाता।​ ​उस बच्चे और आम के पेड के बीच एक अनोखा रिश्ता बन गया।​ ​बच्चा जैसे-जैसे बडा होता गया ……
Add a comment...

Post has attachment
चूना पथर वाला ये सत्तर बीमारिया ठीक कर देता है।अकेला चूना सत्तर बीमारी ठीक। (नोट:-पथरी के रोगी कभी भी चुना न खाए बिल्कुल मना है) क्या क्या बीमारी ये ठीक करता है? 1.पीलिया रोग जैसे किसी को पीलिया हो जाये माने जोंडिस उसकी सबसे अच्छी दवा है चूना; गेहूँ के…
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded