Profile

Cover photo
Gagan Sharma Bhartiya
Worked at राष्ट्रहित व राष्ट्रनिर्माण हेतु प्रयासरत
Lived in भारत (Bharat)
13,912 followers|59,253,363 views
AboutPostsPhotos

Stream

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
देश का दुर्भाग्य देखिए यहाँ हुए अपराध में तुरंत पीड़ितों और आरोपियों की जात बता दी जाती है लेकिन आतंकी घटना में जहाँ सैकड़ों लोग मारे या घायल होते हैं वहाँ ये कहा जाता है कि आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता ?

क्या भारत की सेकुलर मीडिया भारत में हुए आतंकी घटना में मरे या घायल हुए लोगों को उनके जाती के हिसाब से बताने की हैसियत रखती है ?

क्या वो ऐसा कह सकती है कि मुस्लिम आतंकी मोहम्मद भटकल के द्वारा रखे गए बम से बीस दलित, आठ पिछड़े, ग्यारह सवर्ण लोगों की जान गयी ?

अब देश में अपराध की हर घटना को जातिवादी रूप दिया जाता है | जिस तरह से भारत की सेकुलर मीडिया आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता ये कहने में देर नहीं करती उसी तरह से अपराधियों का कोई जात नहीं होती ये कब कहेंगी ?
 ·  Translate
115
15
Pur Vanchal's profile photoKk Khatri's profile photoRahul Gupta's profile photomanoj  tiwari 's profile photo
16 comments
 
नमस्ते 🙏 नैतिक मूल्यो का पतन संस्कृति एवं शौहार्द्र के लिए खतरा है ।
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
जन्नत और 72 हूर की चाहत में जिहाद करने वाले आतंकी यह भली भांति जानते हैं कि अगर उनके शरीर पर सुवर का खून या माँस पड़ गया तो उन्हें जन्नत में अल्लाह घुसने ही नहीं देगा | साथ ही वे मानते हैं कि औरत के हाथों मारा गया जिहादी कभी जन्नत नहीं जाता, इसका फाइदा उठाकर सीरिया के कुछ क्षेत्रों में कुर्द और शिया मुसलमानों ने महिला बटालियन भी बनाया है जो वारफ्रंट में आगे भेजी जाती है आतंकी उन्हे देखते ही भाग जाते हैं |

कुछ समय पहले इराक में अमेरिकी-ब्रिटिश सैनिकों ने बॉलीवूड के फूहड़ गाने तेज आवाज भी बजकर आतंकियों को भागा चुके है, चूंकि इस्लाम में गाना सुनना भी हराम है इसलिए ये जिहादी उस जगह को छोड़ भाग जाते हैं हाहाहाहा |

जिन्हो ने भारत का इतिहास गहराई से पढ़ा होगा वो जानते होंगे की तुर्क-मुगल भारतीय हिन्दू सेनाओं से युद्ध के समय गाय को आगे कर देते थे ताकि वे हमला नहीं करें |

बैहराल उस जिहादी का नवीनतम (Latest) फोटो जन्नत से आया है जिसको उसके आकाओं ने वादा किया था कि 'कमर पर बम बाँध कर अपने साथ कई को ले मरो तो जन्नत में 72 हूरें मिलेंगी' | वादा पूरा हुआ पर अब हूरों के साथ करेगा क्या ?
 ·  Translate
68
10
Sanjay Gupta's profile photoMITHLESH MAHARAJ's profile photo
14 comments
 
नूर हूर की चक्कर में जीवन ब्यर्थ गवाया
मानव जीवन पाकरके शैतानी चाल चलाया

 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
घाव को छुपाया जाए तो वो गैंगरीन बन जाता है | हम तो पहले ही कहे थे एक 'मधुमख्खी' को मारने से 'छत्ता' समाप्त नहीं हो जाता | जम्मू-कश्मीर पहले एक 'घाव' था जो अब गैंगरीन' बन चुका है | सेना को स्वतंत्र करने का समय आ गया है और अब भी न किया तो स्वयं को नपुंसक राष्ट्र मान ही लेना चाहिए | जो समाज लड़ना छोड़ देता है, उसका एक न एक दिन जड़ से सफाया हो ही जाता है | इच्छाशक्ति के अभाव का परिणाम भयंकर होता है |

जम्मू-कश्मीर कूकरनाग में हिजबुल कमांडर बुरहान मुज़फ़्फ़र वानी के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से घाटी में तनाव आज भी कायम है | घाटी में अलग-अलग भागों में हुई हिंसा और झड़पों में 17 लोगों की मृत्यु हो गई है | जबकि, सुरक्षाबलों के 96 जवान समेत 200 लोग घायल हो गए हैं | तीन जवान लापता भी बताए जा रहे हैं | इस बीच भीड़ के हमले में एक पुलिस कर्मी की मौत हो गई है | भीड़ ने पुलिस के वाहन को नदी में गिरा दिया था |

इस देश की राजनीति का स्तर इतना गिर गया है कि चंद वोटों के लिए अगर इन्हें नंगा होकर चौराहे पर नाचने को कहा जाए तो इसमें भी इन नेताओं को कोई परहेज़ नही | देश की चिंता करने के लिए आप और हम जैसे है न | सैनिकों के भी हाथ बाँध रखे है इन भाग्य विधाताओ ने |

मित्रों, जिस दिन भारत सरकार और देश की जनता ने अपने एक सैनिक के बदले एक हजार आतंकी का बलि मांगने लगेगी तो समस्या अपने आप समाप्त हो जाएगी | बन्धुओं, यह समय बहुत महत्वपूर्ण हैं खुल कर शत्रुओं का विरोध करो | यह समय "नौ दो ग्यारह" का नहीं "एक और एक ग्यारह" होने का समय है |

जागो भारत जागो
 ·  Translate
180
15
shrawan kumar's profile photoमाया हिन्दुस्तानी's profile photoJasvir Kaur's profile photo
33 comments
 
+माया हिन्दुस्तानी
आप गूगल पर khalra mission पर सर्च कीजिए। मेरी राय आप समझ जाएँगी।
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
हमारे देश में एक ऐसा वर्ग रहता है जो निरन्तर अपनी ही संस्कृति को कोसता रहता है | एक व्यक्ति से आज मुलाकात हुई | कहने लगे की यार अंग्रेज बहुत समझदार होते हैं भारतीय तो इनके आगे कुछ भी नहीं, सारे अविष्कार इन्होंने ही किए हैं | जब मैंने प्रश्न किया कि सारे अविष्कार 18वीं शताब्दी के बाद ही क्यूँ हुए उससे पहले इनकी बुद्धि कहाँ थी, क्यूँ नहीं जागी ? और वैसे 18वीं शताब्दी वही युग है जब अंग्रेज भारत आए थे | बहराल उन भाई साहब के पास कोई उत्तर नहीं था |

कही ना कही इस बात को समझने की आवश्यकता है |

हमारे देश में हमारे इतिहास को छुपा दिया गया और बच्चों को अंग्रेजों और मुगलों का इतिहास पढ़ाया गया जहाँ हिन्दुओं को मूर्ख, अंधविश्वासी, गाय चराने वाला, किसान और दलितों पर अत्याचार करने वाले इत्यादि इत्यादि दिखाया गया है | परन्तु भट्टाचार्य, वराहमिहिर, चाणक्य, धराचार्य, बुधायन, संत ज्ञान देव, चरक, सुश्रुत जैसे अनेकों महान वैज्ञानिक और नीतिज्ञों को कही नहीं पढ़ाया जाता | बच्चों को ये तक नहीं बताया जाता की 0 से लेकर ढशमलव की खोज भी भारत में ही हुई जो आज हर अविष्कार और विज्ञान के आधार है | परन्तु जब इसकी चर्चा होती है तो कांग्रेसी तथा कम्युनिस्ट की शिक्षा के जहर से भरे लोग अपनी ही धरती माँ को तुच्छ समझते हैं और उसी बात को सत्य मानते है जो अंग्रेजों ने कही | इसमें उनका कोई दोष नहीं दोष हमारे पूर्वजों का है जिन्होंने इन कांग्रेसियों तथा कम्युनिस्टों की असलियत को नहीं पहचाना | जो गाँधी और नेहरू के पीछे छुप कर अंग्रेजो और मुगलों को बढ़ा चढ़ा के दिखाते रहे और हम अपने बच्चों को भी वही सिखाने में व्यस्त रहे |

ऐसी भ्रांतियों को दूर करने के लिए कार्य करने पड़ते हैं दिन रात सोशल मीडिया पर अंग्रेजों और इनकी अवैध संतानों को कोसने से कुछ नहीं होता है बल्कि बुनियाद अस्तर पर मेहनत करने की आवश्यकता है |

ये कांग्रेसी तथा कम्युनिस्ट अपनी अवैध संतानों को आगे करके शिक्षा के भगवाकरण का आरोप लगा रहे हैं | पर ये नहीं बताते कि कैसे इन्होंने पिछले 60 वर्षों में शिक्षा का लाल करण और हरा करण किया तथा कैसे देश के इतिहास एवं संस्कृति को तोड़ कर रख दिया ताकि देश का हर युवा अपने ही देश और संस्कृति से घृणा करने लगे, हीन भावना रखने लगे | आज जब ऐसी चीजों को ठीक किया जा रहा है तो इनके सीने में आग लग रही है कि कहीं इनकी इस देश को बर्बाद करने की जो मेहनत है उसपे पानी ना फिर जाए |
 ·  Translate
171
27
Ashish Shukla's profile photoAnand Pratap's profile photoRavindra Acharya's profile photo
20 comments
 
श्री गगन जी आप से बात करनी थी कृपया कोई नंबर हो तो देवे या ,वॉटसअप नंबर धन्यवाद
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
NSG में भारत की दावेदारी को झटका मिलना तय था | पर इससे निराश होने जैसी कोई बात नहीं | भारत सरकार भी ये भली भाँति जानती ही थी | उसने ये प्रयास जानबूझकर किया ताकि कुछ देशों को विश्व मंच पर नग्न किया जा सके | वर्तमान में गंभीर वैश्विक बदलाव चल रहे हैं, चीन-अमेरिका-रूस का आपसी टकराव, आतंकी घटनाएं व इस्लामिक गतिविधियों पर शक्तिशाली देशों की तीखी प्रतिक्रिया आदि, ब्रिटेन का EU से अलग होना भी मैं इसी कड़ी के रूप में देखता हूँ | चीन द्वारा आतंकी देश पाकिस्तान का समर्थन व भारत जैसे गंभीर देश का विरोध उसकी विश्वसनीयता को और कम करेगा और उसकी यही चूक भारत के सामरिक हित में दूरगामी परिणाम लाएगी |

कहीं ना कहीं भारत एक नई पहल के लिए तैयार हो रहा है, कई शक्तिशाली देश उसकी अगुवाई में नए संघ, संगठन व समूह बनाने को बाध्य होंगे | क्योंकि UNO, NSG या इन जैसे पुराने हो चुके संगठन धीरे धीरे अपनी प्रासंगिकता व विश्वसनीयता खोते जा रहे हैं |

अब कई मोर्चों पर रूस, जापान और ब्रिटेन भारत की ओर आस भरी दृष्टी से देखने को बाध्य होंगे और भारत भी अपने हित साधने के लिए इनका सदुपयोग कर सकेगा | ये भविष्यवाणी तो नहीं किन्तु अंतर्राष्ट्रीय विषयों के जानकारों को पढ़कर जगी आस अवश्य है |

प्रधानमंत्री जी का अथक प्रयास भले ही सफल न हो पाया हो परन्तु यह असफलता स्वावलम्बन की ओर बढ़ने के लिए उत्प्रेरक का कार्य अवश्य करेगा | यह एक आवश्यक प्रयास था जो असफल रहा मगर यह तय है कि इस असफलता से विश्व पटल पर नए समीकरण उभरेंगे |

मित्रों, परेशान होने का कोई कारण नहीं परेशानी तब होनी चाहिए थी यदि प्रयास ही नहीं किया गया होता | मुझे इस बात पर गर्व है कि प्रधानमंत्री जी ने प्रयत्नों की पराकाष्ठा तो की देश को एक शक्तिशाली समूह में स्थान दिलाने के लिए |

मित्रों, मैं वामपंथियों, कांग्रेसियों और आपियों की राजनीति देकर आश्चर्यचकित हूँ | NSG की सदस्यता ना मिलने पर चीन और पकिस्तान वालों से अधिक तो भारत में रहने वाले वामपंथी, कांग्रेसी और आपिये खुश हो रहे हैंं | जैसे इस का लाभ केवल मोदी जी और संघ के समर्थकों को ही मिलने वाला था | मोदी जी का विरोध पागलपन की हद तक पहुँच गया है हालत ये है की मोदी के विरुद्ध यदि चीन का राष्ट्रपति भी यहाँ आकर चुनाव लड़े तो ये लोग उसे भी वोट दे देंगे | वैसे भी इन सब बातों का असर तो इन पर कुछ होने वाला नहीं | पुरानी बिमारी है मित्रों इतनी आसानी से कैसे चली जाएगी |

आज चाइना के परखनली पुत्र बहुत खुश हैं | किसी एक ने भी इतना भी ये नहीं कहा कि शत्रु देश के मुद्दे पर पूरा संसद एक साथ खड़ी है बस सबने देश की हार के मज़े लिए | क्या NSG मुद्दे पर शत्रु देश चीन से भी अंतराष्ट्रीय मंच अकेले भाजपा लड़ी ?

एक दोहा पढ़ा था बहुत पहले :-

जो रहीम उत्तम प्रकृति, का करी सकत कुसंग |
चन्दन विष व्यापत नहीं, लिपटे रहत भुजंग ||

इसकी व्याख्या करते हुए लोग अक्सर एक ही पहलू को देखते हैं | माना की विषधरों के लिपटे होने पर भी चन्दन अपनी शीतलता नहीं छोड़ता लेकिन विषधर भी तो चन्दन पर लिपटा रहने के बाद भी डसना नहीं छोड़ता | बात मूल प्रकृति की है |

बहराल आप तसल्ली रखिए, भारत सही मार्ग पर है उसे बस उसके नागरिको का सहयोग और विश्वास चाहिए |

और हाँ , चीन मुर्दाबाद नहीं बल्कि वामपंथी, कांग्रेस पार्टी और आम आदमी पार्टी मुर्दाबाद

जय हिंद, जय भारत
 ·  Translate
369
42
Sunil Kumar Sharma's profile photoMahendra Ingale's profile photodeepak pandya's profile photoPRAHLAD THAKUR's profile photo
101 comments
 
Aaj aapiye aur congressi maatam mana rahe honge MTCR member banne par Bhaaaaarat mata ki JAIIIIIIIIIIIIIIIIIII 
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
मुसीबत में गधे को बाप बनाना तो आपने सुना ही होगा पर आपियो ने तो मुसीबत में बाप को ही गधा बना दिया |

आम आदमी पार्टी ने एक विज्ञापन निकाला है जिसमें उनके एक विधायक जो कि लाभ के दो पद 'ऑफिस ऑफ़ प्रोफिट' में फंसे हैं उनके पिता भोपाल में टायर मरम्मत करते दिख रहे हैं |

शर्म की बात है कि विधायक जी की वेतन 2 लाख 20 हज़ार रूपए है जो कि राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री के वेतन से अधिक है और उनके पिता आज भी टायर ठीक कर रहे हैं | भाई अब तक कहाँ थे आप लोग | आप दिल्ली में भोग विलास से रह रहे हो और आपके पिता जी अभी भी टायर ठीक कर रहे है |

अब आपिये बोलेंगे कि "ईमानदारी है ये" | घण्टा ईमानदारी ये मक्कारी और राजनीति है | तुम लोग समय पड़ने पर अपने पिता को भी इस्तेमाल कर रहे हो | डेढ़ वर्ष से पिता का कोई पता नहीं था इनको | पर जब स्वयं फंसते नज़र आए तो इधर उधर की फोटो चिपका रहे हो |

विज्ञापन की छायाचित्र संलग्न कर रहा हूँ, बाकी आप लोग निर्णय करें |

शर्मनाक
 ·  Translate
53
10
vinod chawda's profile photoJayant Sattigeri's profile photopriyanka singh's profile photo
5 comments
 
Jb put kaput ho to ma bap ko yhi din dekhna parta h
Add a comment...
Have him in circles
13,912 people
রুদ্র মুখোপাধ্যায়'s profile photo
Nayan Gandhi's profile photo
Raj Upadhyay's profile photo
Ramchandra Suthar's profile photo
jitendra jatav's profile photo
FOFANA Ousmane Baba's profile photo
PATANJALI JHUNSI's profile photo
Aliyash khan's profile photo
Gurjar Sarawan's profile photo

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
जब कभी भारत के सच्चे इतिहास का पता लगाया जायेगा, तब निःसंदेह प्रमाणित होगा कि धर्म के समान ही विज्ञान, दर्शन, संगीत, साहित्य, ललितकला, गणित आदि में भारत समग्र संसार का आदि गुरु रहा है |

भारत में जिस एक चीज़ का हममे अभाव है वह है मेल तथा संगठन-शक्ति | और उसे प्राप्त करने का प्रधान उपाय आज्ञापालन |

जो अपने आप को दुर्बल सोचता है, वह दुर्बल हो जाता है |

स्वामी विवेकानन्द
 ·  Translate
37
5
Sunil Dutt Pandey's profile photoSanjay Gupta's profile photoUtsav Levis's profile photoSHIVKUMAR SUKTE's profile photo
7 comments
 
Hello Sir!!
I am interested in Moderator
Plz Guide us
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
दो दिन पहले जाकिर नाईक के पीस टीवी में काम कर चुके एक मुस्लिम पूर्व कार्यरत प्रोड्यूस को +Zee News पर दिखाया गया | वो जाकिर नाईक की खूब बुराई कर रहा था, अच्छी बात थी लेकिन हमेशा एक बात जरूर कहता "धर्म के नाम पर जो लोग गलत करते हैं वो गलत है चाहे वो हिन्दू हो या मुस्लिम" अच्छा लगता है ना सुनकर ?

आप सबने ये डायलाग हज़ार बार किसी ना किसी के मुंह से सुना होगा, चाहे क़ो कांग्रेसी हो या आपिया या भाजपाई या कोई भी टीवी एंकर | इसी तरह से हमेशा अलग अलग अंदाज में यह कहा जाता है | कुछ दिन पहले शरद यादव या किसी कांग्रेसी ने कहा "आतंकवाद गलत है, धर्म के नाम पर गलत नहीं करना चाहिए चाहे वो हिन्दू हो मुस्लिम"

ये दुष्ट जानबूझकर हर वाक्य में मुस्लिम के साथ 'हिन्दू' शब्द जोड़ना नहीं भूलते | अब विचार-विमर्श (Debate) वो पूर्व कार्यरत प्रोड्यूसर (Producer) बात करने आया है जाकिर नाईक की, जाकिर कार्य करता है इस्लाम के लिए, उसकी सभा में आते हैं मुस्लिम, अरबों रुपये के चंदे आते है इस्लामिक राष्ट्र से, उसके भाषण से आतंकी बनते हैं वो हैं मुस्लिम | अब इसमें हिन्दू - हिन्दू क्यों घुसा रहे हो ?

ऐसे ही टीवी एंकर या नेता बातें करेंगे बगदादी की, ओसामा की, जाकिर की, आतंकवाद की पर बात बात में 'हिन्दू' शब्द चालाकी से लगाना नहीं भूलेंगे आखिर क्यों ?

. पहला तो ये कि वो इंसान सेक्युलर का तमगा पा जाता है |

. दूसरे कि मुस्लिम को लगता है कि "ओह ये इस्लाम के विरुद्ध नहीं है क्योंकि ये तो हिन्दू का भी नाम ले रहा है |

. तीसरा बड़ी आसानी से हिंदुओं के समाज को ऐसे घृणित अपराधों में जोड़ने में सफलता मिल जाती है |

. चौथा ऐसा सुन कर आधे से ज्यादा भोले और बेवकूफ हिंदुओं में अपने समाज के प्रति ग्लानि और गलत भावना जगती है |

. पाँचवाँ हिंदुओं को शामिल कर लेने से हिंदुओं का आक्रामक रवैय्या ठंडा पड़ा रहता है क्योंकि उसे लगता है कि हम किस मुंह कुछ बोलें जबकि हमारे भी लोग ऐसे गलत कार्य करते हैं |
 ·  Translate
140
11
Shankar Narayan Bharati's profile photodeepak pandya's profile photoSaurabh mishra's profile photoPadmaj Siddamsettiwar's profile photo
37 comments
 
MEDIA me kon kon ka paisa hai ye kiske dalal hai ye aabhi samne aayega hai. 
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
आज एक टीवी चैनल के चर्चा में एक मौलाना 'जाकिर नाइक' को बचाव करते हुए कह रहे थें कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश और जाकिर नाइक सिर्फ धर्म प्रचार करते हैं जिसका इजाजत संविधान देता है |

तो अब सवाल प्रश्न है कि यदि भारत में इस्लाम का प्रचार जायज है तो सउदी अरब और अन्य इस्लामिक देशों में नाजायज कैसे ? क्या वहाँ भी हिंदू धर्मगुरूओं को सनातन धर्म का प्रचार करनें की स्वतंत्रता मिलेगी ?

अब रही बात धर्मनिरपेक्षता की तो भारत में यदि धर्मनिरपेक्षता अच्छी है तो सउदी अरब, ईरान, ईराक, पाकिस्तान और कतर में यह धर्मनिरपेक्षता मंजुर क्यों नही है ? क्या मौलाना लोग इस पर उत्तर देना पसंद करगें ? डाॅ० तोगड़िया कुछ बोलें तो वो इन्ही मौलानाओं और सेकुलर नेताओं को जहर दिखाई देता है और जाकिर नाइक बोलें तो वो प्रचार |

‎ISIS‬ का आतंक दिख रहा है, पाकिस्तान का खतरा दिख रहा है, बांग्लादेश में भी ‪आतंकी‬ वारदातें शुरू हो गई, देश में मजहब विशेष के लोगों द्वारा अपनी इबादत के लिए दूसरे धर्मों की ‪उपासना‬ बन्द कराने का सिलसिला शुरू हो गया, लोगों को मजहब विशेष बहुलता वाली बस्तियों से भगाना शुरू हो गया और फिर भी कुछ चूतिये अमन की आशा और भाईचारे का राग सिर्फ बहुसंख्यकों‬ को ही सुनाएंगे |

अगर आप मुझसे पूछोगे कि संसार का सबसे झूठा वाक्य क्या है ? तो मेरा जीवनपर्यंत यही उत्तर होगा, "मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर करना या रखना" |
 ·  Translate
57
4
rafique mohammed's profile photodeepak pandya's profile photovirendra sirvastav's profile photoGANESH TRIVEDI's profile photo
21 comments
 
+Shalini Girdhar
वाह मजा आ गया आपकी शायरी , क्या बात है , सभी प्रकार के बाल --------------------
बहुत सुन्दर जबाब क्या रिप्लाई किया है 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

योजना एंव नीति  - 
 
कुछ लोगों का कहना है चीन से आयात पर रोक क्यों नही लगा देते ? मित्रों, अन्तर्राष्ट्रीय मर्यादाएं वा विवशताएँ होती हैं |

यदि वाकई कुछ करना है तो 'बायकॉट चाइनिस प्रोडक्ट" को वास्तविकता बनाइए | इसके स्टिकर अपने घर के गेट पर लगाइए, दुकानों पर लगाइए और वहीं से सौदा लीजिए जहाँ यह लगा हो | यह असम्भव नहीं है, एक छोटा सा प्रयास, समूह में बड़े परिणाम ला सकता है |

भारत के लोगों को चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार ही करना होगा |

यदि भारत की अस्मिता से है प्यार
तो करे चीनी सामान का बहिष्कार
 ·  Translate
180
18
Arjun mishra Munna's profile photoSudeep VARSHNEY's profile photom.r malik's profile photoPriti raj  goswami's profile photo
23 comments
 
सही है 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
क्या अभी तक आप में से किसी ने सुना है कि खुदाई में दो हजार, तीन हजार, पाँच हजार वर्ष पुराना मस्जिद मिली, दरगाह मिला, चर्च मिला या क्रॉस मिला ? सिर्फ मन्दिर ही क्यो मिलते है ?

ये प्रश्न आप के लिए ही है |
 ·  Translate
336
39
Hemant Jain's profile photoSunil M Gupta's profile photoRavindra Bafna's profile photo
55 comments
 
बिलकुल सही है
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

इतिहास  - 
 
वीरता की अद्भुत मिसाल झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई जी की पुण्यतिथि पर उनको शत शत नमन |

रानी लक्ष्मीबाई (जन्म: 19 नवम्बर 1835 – मृत्यु: 17 जून 1858) मराठा शासित झाँसी राज्य की रानी और 1857 के प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम की वीरांगना थीं जिन्हों ने मात्र 23 वर्ष की आयु में ब्रिटिश साम्राज्य की सेना से संग्राम किया और रणक्षेत्र में वीरगति प्राप्त की किन्तु जीते जी अंग्रेजों को अपनी झाँसी पर कब्जा नहीं करने दिया |

झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई अमर रहे |
 ·  Translate
125
11
Bhavesh Sitaram Sharma's profile photoraj mehra's profile photoShivom Nagar's profile photo
11 comments
 
Shat shat naman
Add a comment...
People
Have him in circles
13,912 people
রুদ্র মুখোপাধ্যায়'s profile photo
Nayan Gandhi's profile photo
Raj Upadhyay's profile photo
Ramchandra Suthar's profile photo
jitendra jatav's profile photo
FOFANA Ousmane Baba's profile photo
PATANJALI JHUNSI's profile photo
Aliyash khan's profile photo
Gurjar Sarawan's profile photo
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Previously
भारत (Bharat) - उत्तर प्रदेश - लखनऊ
Work
Employment
  • राष्ट्रहित व राष्ट्रनिर्माण हेतु प्रयासरत
    राष्ट्र सेवा में समर्पित
  • देशभक्त
Basic Information
Gender
Male