Profile

Cover photo
Gagan Sharma Bhartiya
Worked at राष्ट्रहित व राष्ट्रनिर्माण हेतु प्रयासरत
Lived in भारत (Bharat)
11,096 followers|40,718,539 views
AboutPostsPhotos

Stream

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
 शुभरात्रि सुखद निद्रा के साथ            Good night nice sleep

            जहाँ कहीं एकता अखण्डित जहाँ प्रेम का स्वर है
            देश-देश  में  खड़ा  वहाँ भारत जीवित, भास्वर है

                           जयति पुण्य भूमि भारत
 ·  Translate
56
1
Sanjay Gupta's profile photovee kay's profile photoDevansh Bhardwaj's profile photoRavi Singh's profile photo
5 comments
 
BHARAT MATA KI JI
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
दक्षिण एशिया से यूरोप तक राम साहित्य की पंद्रह सौ पांडुलिपिया मिली है | अब तक सत्रह तरह के रामायण के अलावा कुल पंद्रह सौ से अधिक पांडुलिपिया का संग्रह किया जा चुका है |

सेकुलर पाखण्डी हिन्दू नामधारी प्रगतिशील बुद्धजीवी कौमनष्ट वामपंथी और लूटेरे देशद्रोही कांग्रेसी यह सत्य जान ले कि किसी काल्पनिक पात्र के लिए सत्रह ग्रंथ नहीं लिखे जाते है |

जय श्री राम
 ·  Translate
109
13
dineshkumar singh's profile photosoumyakanta satpathy's profile photoPRAMOD SHARMA's profile photoSwayim Prakash's profile photo
9 comments
 
Hindu snskriti ki dhrohar Prabhu- sahitya ki hme jankari dekar kritarth kiye. Koti-2 pranam.
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
 शुभरात्रि सुखद निद्रा के साथ            Good night nice sleep

                               स्वामी विवेकानंद की जय
 ·  Translate
95
5
Sumit Jangra's profile photoBabita Rani's profile photoPooja Sharma's profile photoBhola Bhagat's profile photo
5 comments
 
स्वामी विवेकानंद जी की जय 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

प्राचीन वैभोशाली भारतवर्ष  - 
 
रक्षा बंधन का पौराणिक महत्व :- राजा बलि ने यज्ञ संपन्न कर स्वर्ग पर अधिकार का प्रयत्‍‌न किया,तो देवराज इंद्र ने भगवान विष्णु से प्रार्थना की | विष्णु जी वामन ब्राह्मण बनकर राजा बलि से भिक्षा मांगने पहुंच गए | गुरु के मना करने पर भी बलि ने तीन पग भूमि दान कर दी | वामन भगवान ने तीन पग में आकाश-पाताल और धरती नाप कर राजा बलि को रसातल में भेज दिया | उसने अपनी भक्ति के बल पर जब भगवान विष्णु जी से हर समय अपने सामने रहने का वचन ले लिया | माता लक्ष्मी जी इससे चिंतित हो गई | नारद जी की सलाह पर लक्ष्मी जी बलि के पास गई और रक्षासूत्र बांधकर उसे अपना भाई बना लिया | बदले में वे विष्णु जी को अपने साथ ले आई | उस दिन श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि थी |

महाभारत में भी रक्षाबंधन के पर्व का उल्लेख है | शिशुपाल का वध करते समय भगवान श्री कृष्ण की तर्जनी में चोट आ गई, तो द्रौपदी ने लहू रोकने के लिए अपनी साड़ी फाड़कर चीर उनकी उंगली पर बांध दी थी | यह भी श्रावण मास की पूर्णिमा का दिन था | भगवान श्री कृष्ण ने चीर हरण के समय उनकी लाज बचाकर यह कर्ज चुकाया था |

भाई-बहनों के इस त्यौहार को जीवित रखने के लिए आवश्यक है कि हम सब मिल कर कन्या-भ्रूण हत्या का विरोध करें और महिलाओं पर हो रहे शोषण का विरोध करें |

जयति पुण्य भूमि भारत, सदा सर्वदा सुमंगल, जय भवानी
 ·  Translate
91
11
mukesh patel's profile photoJaya Panwar's profile photoSuresh Sail's profile photoPishori Narula's profile photo
5 comments
 
ॐ -- भाई-बहनों को संस्कृत दिवस एवं रक्षाबंधन की शुभकामनाएं - गगन जी को प्रणाम 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
शुभरात्रि सुखद निद्रा के साथ            Good night nice sleep

            सभी मित्रों को ओणम पर्व की शुभ मंगलकामनाएं

                                     श्री हरिः शरणम्
 ·  Translate
57
1
deepak pandya's profile photomukesh patel's profile photoSamir Kumar Das's profile photoRajesh Mehta's profile photo
4 comments
 
ओणम पर्व पर सभी को हार्दिक बधाई। शुभरात्रि।
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
गीता प्रेस बंद हो गया | सुनकर हृदय को चोट पहुंची है | गीता प्रेस के बंद होने में एक बड़ा कारण समय के साथ इसके प्रबंधन का नहीं चलना है | लोग करोड-करोड़ रुपए चंदा देने पहुंचे, लेकिन इन्‍हें चंदा मंजूर नहीं था | फिर सभी ने कहा कि लागत से अधिक पुस्‍तक की कीमत रखें, लेकिन उसे भी ठुकरा दिया गया |

लागत से बहुत कम कीमत पर पुस्‍तक उपलब्‍ध कराने को जब मिशन बनाया था तब तो ठीक था, लेकिन समय के साथ इसे लागत मूल्‍य तक लाते जाते तो यह मिशन जारी रहता | मिशन चलाने के लिए भी धन की आवश्यकता होती है | इसका आर्थिक स्रोत कलकत्‍ता का कपड़ा व्‍यवसाय था और एक व्‍यवसाय का पैसा आप दूसरे में कब तक लगाते रहते | इसलिए इसे कभी न कभी बंद तो होना ही था |

वामपंथी अरुंधति राय आदि के नेतृत्‍व में एक स्‍डटी पेपर प्रकाशित होने वाला है, जिसमें हिंदुत्‍व के उभार में गीता प्रेस की भूमिका का अध्‍ययन है | सचमुच हिंदू धर्म को बचाने में जितना गीता प्रेस ने योगदान दिया, उतना किसी ने नहीं था | हम आज जान ही नहीं पाते कि रामायण-महाभारत-रामचरितमानस-पुराण-उपनिषद आदि क्‍या है | यह सब हमें गीता प्रेस से ही पता चला | वामपंथी व नेहरूपंथियों ने तो हमें अपने वास्‍तविक इतिहास से काटने की पूरी कोशिश की, लेकिन गीता प्रेस ने उसे बचाए रखा | किसी समाज को हजारों वर्ष तक जीवित केवल उसका साहित्‍य रखता है | वेद-उपनिषद-गीता इसका प्रमाण है और गीता प्रेस भी |

प्रबंधन ठीक से नहीं होने के कारण आज गीता प्रेस टूट गया | इसका बहुत बड़ा नुकसान हिंदू धर्म और उसकी आने वाली पीढि़यों को भुगतना पड़ेगा | कोई प्रोफेशनल ग्रुप यदि इसका अधिग्रहण कर ले तो शायद यह फिर से शुरू हो सके | दूसरी बात कि हिंदी-हिंदू-हिंदुस्‍तान के पाठकों को हर महीने कम से कम 500 रुपए पुस्‍तकों पर खर्च करने का वादा खुद से करना होगा | यदि आप सचमुच अपनी संस्‍कृति से प्रेम करते हैं, उसे बचाए रखने का जज्‍बा रखते हैं तो आपकी ओर से केवल यही एक मात्र प्रयास हो सकता है |

हर अवसर- शादी, जन्‍मदिन एवं अन्‍य समारोह में लोगों को केवल और केवल अपनी भाषा और संस्‍कृति पर आधारित पुस्‍तकें भेंट करने का चलन शुरू कीजिए | और भारतीय संस्‍कृति में हर विषय पर ज्ञान, अध्‍ययन व पुस्‍तक है | अन्‍यथा हिंदी-हिंदू की दुर्दशा होती रहेगी और इसमें हम सभी भागीदार होंगे | आप इससे बच नहीं सकते | आप अपनी आने वाली पीढ़ी को भारतीय विचारधारा से परिचित करना चाहते हैं या फिर आयातित‍ मार्क्‍सवादी-मैकालेवादी विचारधारा से- यह केवल आपके पुस्‍तक खरीद के योगदान से ही तय होगा | किसी समाज को जीवित उसका साहित्‍य ही रख सकता है |

गीता प्रेस को बचाना है ,गीता प्रेस बच गया तो संस्कारी हिन्दू सदियों तक अपनी उच्च गौरव के साथ स्वाभिमान से जिन्दा रहेंगे |
 ·  Translate
116
23
naval kishor meena's profile photosubhash chander Jerath's profile photoBNC THE ASHOK's profile photoShailesh Sharma's profile photo
34 comments
 
Hindu Samaj Durga pooja and Deepawali par murti and pathakho par behisab expense karat his. Jabki dono me dikhawa adhik.
Geeta press to hindu Samaj ko bachane aur jagane ka kam karti hi

Add a comment...
Have him in circles
11,096 people
Manoj Meragwar's profile photo
RUPAM SINGH's profile photo
Shivanand Nadgeri's profile photo
Rajesh Chopra's profile photo
ram prakash Prakash's profile photo
Subhash Rikhi's profile photo
vasu m's profile photo
Rajiv Gohar's profile photo
Jagannath Temple Sri Lanka's profile photo

Gagan Sharma Bhartiya
owner

व्यंग  - 
 
नितेश-लालू-सोनिया-शिवपाल की स्वाभिमान रैली में खुद से आये लोगों की संख्या इंद्राणी मुखर्जी के अब तक ज्ञात पतियों से भी कम थी |

http://hindi.news18.com/news/bihar/absence-of-crowd-from-swabhiman-rally-arise-question-on-mahagathbandhan-647357.html

कितने आदमी थे
 ·  Translate
63
1
Dinesh Agashe's profile photoSuvash Pandey's profile photopradeepkumar verma's profile photoRavi Singh's profile photo
10 comments
 
Ye chor,looters, gaddar & awsarvadiyon ki jamat thi, Jo agey desh ko kaise lootna hai, ye vichar karne key liye jama hue the
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
संस्कृत भाषा-ज्ञान के बिना हिन्दू तो असंस्कृत ही हैं | संस्कृत का अध्ययन मनुष्य को सूक्ष्म विचारशक्ति प्रदान करता है | मन स्वाभाविक ही अंतर्मुख होने लगता है | इसका अध्ययन मौलिक चिंतन को जन्म देता है | संस्कृत भाषा के पहले की कोई अन्य भाषा, संस्कृत वर्णमाला के पहले की कोई अन्य वर्णमाला देखने-सुनने में नहीं आती | इसका व्याकरण भी अद्भुत है | ऐसा सर्वांगपूर्ण व्याकरण जगत की किसी भी अन्य भाषा में देखने में नहीं आता | यह संसार भर की भाषाओं में प्राचीनतम और समृद्धतम है |

स्वामी विवेकानंदजी के शब्द हैं "संस्कृत शब्दों की ध्वनिमात्र से शक्ति, बल और प्रतिष्ठा प्राप्त होती है" |

संस्कृत-ज्ञान से प्रभावित विलियम थियॉडोर का कहना है कि "भारत तथा संसार का उद्धार और सुरक्षा संस्कृत-ज्ञान के द्वारा ही संभव है" |

संस्कृत का अखंड प्रवाह पाली, प्राकृत व अपभ्रंश भाषाओं से होता हुआ आज तक समस्त भारतीय भाषाओं में बह रहा है | चाहे तमिल, कन्नड या बँगला हो, मलयालम, उडिया, तेलगू, मराठी या पंजाबी हो सभी भारतीय भाषाओं के लिए संस्कृत ही अन्तःप्रेरणा-स्रोत है | आज भी इन भाषाओं का पोषण और संवर्धन संस्कृत द्वारा ही होता है | संस्कृत की सहायता से कोई भी उत्तर भारतीय व्यक्ति तेलगू, कन्नड, उडिया, मलयालम आदि दक्षिण एवं पूर्व भारतीय भाषाओं को सरलतापूर्वक सीख सकता है |

भारतीय संस्कृति की सुरक्षा, चरित्रवान नागरिकों के निर्माण, सद्भावनाओं के प्रसार, प्राचीन ज्ञान-विज्ञान की प्राप्ति, मौलिक चिंतन की प्रेरणा एवं विश्वशांति हेतु संस्कृत का अध्ययन-अध्यापन अवश्य होना चाहिए |
 ·  Translate
47
3
संजय मन की बातें's profile photosusheel chauhan's profile photoAmit Mishra's profile photosandeep raushan's profile photo
2 comments
 
सात्विक एवं शाश्वत संस्कृत भाषा 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
आप सभी को  शुभ दिवस              Good day Everyone          
आपका दिन मंगलमय हो              Have a nice day  

ॐ आदित्याय विद्महे प्रभाकराय धीमहि तन्नॊ सूर्यः प्रचोदयात 

                                 ॐ सूर्याय नमः
 ·  Translate
69
Sanjay Gupta's profile photovee kay's profile photoUsha Singh's profile photo
3 comments
 
Om Suryaya Namaha
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार विमश  - 
 
सर्वेषां कृते संस्कृत दिवसस्य एवञ्च रक्षाबंधनोत्सवस्य हार्दिक शुभाशयाः।
 ·  Translate
11
raj mehra's profile photoसंजय मन की बातें's profile photo
2 comments
 
आपको भी बधाई । और मात्र भारत में 16000 संस्कृत बोलने वाले लोगों को भी बधाई ।
आज भारत के लोग अपनी प्राचीन भाषा संस्कृत को छोड़ अंग्रेजी के पीछे सिर्फ इसलिए भाग रहें हैं कि उन्हें अच्छी नौकरी मिलेगी ।
मगर भविष्य में ठीक इसके उल्टा होगा संस्कृत वालों को खोज खोज कर स्कूल में अध्यापक बनाया जायेगा और विज्ञान संबंधी कार्य में तो और अधिक माँग होगी ।

 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

धर्म  - 
 
आप सभी को  शुभ दिवस              Good day Everyone          
आपका दिन मंगलमय हो              Have a nice day  

भाई-बहनों को संस्कृत दिवस एवं रक्षाबंधन की शुभकामनाएं

                                           ॐ
 ·  Translate
110
18
Chintamani Datar's profile photoAlpna alpna's profile photoSanjay Rout's profile photoKavita Rana's profile photo
7 comments
 
भाई-बहनों को संस्कृत दिवस एवं रक्षाबंधन की शुभकामनाएं- गगन जी को प्रणाम 
 ·  Translate
Add a comment...

Gagan Sharma Bhartiya
owner

विचार-विमर्श  - 
 
अरे सेक्युलर औरंगज़ेब के नाम को हटाकर साम्प्रदायिक पार्टी के नियुक्त राष्ट्रपति का नाम कर दिया. . हाय-हाय
 ·  Translate
211
23
Bharat Prajapati's profile photoBNC THE ASHOK's profile photoarvind khuteta's profile photoRajvir Singh's profile photo
40 comments
 
गगन जी आप सचचे हिन्दू सथानी आप करनी पर गरव है आप की लमबी उमर हो इस से आऔर अछे दिन कया होते है सही कदम
 ·  Translate
Add a comment...
People
Have him in circles
11,096 people
Manoj Meragwar's profile photo
RUPAM SINGH's profile photo
Shivanand Nadgeri's profile photo
Rajesh Chopra's profile photo
ram prakash Prakash's profile photo
Subhash Rikhi's profile photo
vasu m's profile photo
Rajiv Gohar's profile photo
Jagannath Temple Sri Lanka's profile photo
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Previously
भारत (Bharat) - उत्तर प्रदेश - लखनऊ
Work
Employment
  • राष्ट्रहित व राष्ट्रनिर्माण हेतु प्रयासरत
    राष्ट्र सेवा में समर्पित
  • देशभक्त
Basic Information
Gender
Male