Profile cover photo
Profile photo
डॉ. कौशलेन्द्रम
278 followers -
कहने को कुछ ख़ास नहीं -----------अभी तक विद्यार्थी हूँ ------- आँखें खुली हैं इसलिए थोड़ा बेचैन रहता हूँ . अलग पगडंडी पर चलना अच्छा लगता है. शेष धीरे-धीरे आपको पता चल ही जाएगा --------न भी पता चले तो क्या फर्क पड़ता है ? बस, आइना साफ़ रहे --------यही प्रयास रहेगा . जय हिन्दी ..जय भारत ...जय आर्यावर्त...
कहने को कुछ ख़ास नहीं -----------अभी तक विद्यार्थी हूँ ------- आँखें खुली हैं इसलिए थोड़ा बेचैन रहता हूँ . अलग पगडंडी पर चलना अच्छा लगता है. शेष धीरे-धीरे आपको पता चल ही जाएगा --------न भी पता चले तो क्या फर्क पड़ता है ? बस, आइना साफ़ रहे --------यही प्रयास रहेगा . जय हिन्दी ..जय भारत ...जय आर्यावर्त...

278 followers
About
डॉ. कौशलेन्द्रम's posts

Post has attachment
हाथी के दाँत
लालू के खेत में धान तो हुआ पर वह बीज नहीं हुआ । नार में लगी थीं   ढेरों लौकियाँ बीज भी निकले थे ढेरों पर उगा नहीं एक भी । किसान के खेत में उपजे बीज अब उगा नहीं करते फ़ैक्ट्री में बनने वाले बीज उगा करते हैं । सबने देखे हैं हाथी के दाँत दिखाने के और खाने के और...

Post has attachment
**
1.    बस्तर के जंगल शाल चिरौंजी महुवा बीजा दफ़न हो गये विकास की नींव में, बच गये पर्यावरण के नाम पर थोड़े से घने जंगल माओवादियों के छिपने के लिये ।      2.           नक्सली बस्तर के सैकड़ों गाँवों में अब नहीं पाये जाते नक्सली माओवादियों ने हाइजेक कर लिया उन्हे...

Post has attachment
सीता मइया का निष्कासन बाय दशरथाज़ एल्डर सन
नयीपीढ़ी
में भारत के फ़्रेंकफ़र्तियायी उच्चशिक्षितों द्वारा यह आक्षेप अब अश्लील गालियों के
साथ आरोपित किया जाने लगा है कि मिस्टर दशरथ के एल्डर सन ने अपनी प्रिगनेण्ट बीबी
को पैलेस से निकालकर जंगल में छोड़वा दिया , ही वाज़ एन इम्पोटेण्ट एण्ड
क्र्यूल किंग । आप लोग ...

Post has attachment
भूजल संरक्षण
नियम बना है ... काग़ज़ पर लिखा है वाटर हार्वेस्टिंग
होगी धरती की प्यास बुझेगी वन विकसित होंगे वन्यजीव
फलेंगे-फूलेंगे मनुष्य भी सुखी होंगे । एक नेता की बकरियाँ
आयीं दूसरे की भैंसे आयीं कागज़ को खा गयीं । तीसरे नेता के कुत्ते
आये भौंक-भौंक कर चुगली कर
गये फिर थक...

Post has attachment
कश्मीर किसका?
अहमदशाह
ग़िलानी को कश्मीर चाहिये, यासीन मलिक को कश्मीर चाहिये, उमर अब्दुल्ला को कश्मीर
चाहिये, उमर ख़ालिद को कश्मीर चाहिये, शबनम लोन को कश्मीर चाहिये... क्या भारत
में एक भी हिंदू ऐसा नहीं है जिसे कश्मीर चाहिये, वह कश्मीर जो कभी आर्यावर्त्त का
शीर्ष हुआ करता थ...

Post has attachment
हाइबरनेशन में हैं कलम के सिपाही
वे एक
प्रतिष्ठित साहित्यकार हैं, पूरे देश में उनका सम्मान है । भारत में व्याप्त होते
जा रहे बौद्धिक आतंकवाद के विरुद्ध एक छोटे से अभियान में मुझे उनसे बड़ी आशायें
थीं । मैंने उन्हें पत्र लिखा... उनका उत्तर चौंकाने और बहुत निराश करने वाला था ।
वे व्यावसायिक भ...

Post has attachment
वह बड़ी होकर आसिया अन्द्राबी और शबनम लोन बनना चाहती है...
वह भी
तफ़रीह के लिए शहीद पार्क आयी हुयी थी , शाम के
झुटपुटे और चेहरे के ढके होने के बावज़ूद उसकी कमसिन आवाज़ उसकी किशोर उम्र की चुगली
कर रही थी । वह अभी स्कूल की छात्रा है और बड़ी होकर आसिया अन्द्राबी या शबनम लोन
बनना चाहती है । उसे नैतिकता से कोई लेना-देना नही...

Post has attachment
**
उम्मीद है कि युद्ध की
एफ़.आई.आर. दर्ज़ होगी...        जम्मू-कश्मीर में भारत
विरोधी नारों के साथ पाकिस्तानी ध्वजारोहण और पाकिस्तान का राष्ट्रगीत गाया जाना और
सेना पर पत्थर बरसाना अब एक आम बात हो गयी है । अब इन घटनाओं पर कोई चौंकता नहीं,
कोई आक्रोशित नहीं होता ...

Post has attachment
भारत माता
देश अनेकों हैं जग में पर , "माँ" का गौरव भारत पाता होगी टेम्स "नदी" कोई पर , मेरी तो है गंगा  "माता"। सुर-मुनि-ज्ञानी नित कर वंदन , गायें निस दिन ज्ञान की गीता ज्ञान भी देती, बल भी देती, बोलो जय-जय-जय गौ माता। कण-कण में है तू बहती बन, शक्ति-प्रेम-करुणा की ...

Post has attachment
नयी पुस्तक - प्रतिध्वनि
यह प्रतिध्वनि है उन समसामयिक घटनाओं की जो प्रायः अनसुनी रह जाती है । आज के भारत पर तीक्ष्ण दृष्टि और घटनाओं का विश्लेषण । इसमें उस इतिहास को सहेजने का प्रयास किया गया है जो महत्वपूर्ण होते हुये भी शीघ्र ही विस्मृत कर दिया जाता है । भविष्य के निर्माण के लिए ...
Wait while more posts are being loaded