Profile cover photo
Profile photo
Mukesh Kumar Sinha
4,131 followers
4,131 followers
About
Posts

Post has attachment
अपाहिज प्रार्थना
"या देवी सर्वभूतेषु...." गूंजती आवाज के साथ जैसे ही शुरुआत की प्रार्थना की पर नाद अनुनाद में बंध कर बिना किसी मुकम्मल गूँज के धप्प से दब कर रह गयी प्रार्थना! बेशक रही हो अंतर्मन से निकली आवाज पर, सिसकती रुंधी हुई किसी दूर बैठी लड़की की आवाज के हल्के से रुदन ...

Post has attachment

Post has attachment
भीगती कविता
काश मेरे शब्द होते बारिश की बूंदों से निश्छल जो भावों के रूप में संघनित हो कर हरहरा कर बरस पड़ते और, बस बन जाती ताजगी भरी  मासूम सी कविता! काश मेरे उदर के बदले दिमाग में गुडगुड करते अक्षर फिर एंटासिड की गोली की तरह सहेजे हुए उसके प्रेम सिक्त बोल उन अक्षरों क...

Post has attachment

Post has attachment
बारिश की बूंदें और स्मृतियाँ
थोडा बुझा सा मन और वैसा ही कुछ मौसम शुन्य आसमान  पर  टिकी  नजरें, और ठंडी हवा के झोंके के साथ जागी, उम्मीद बरसात की उम्मीद छमकते बूंदों की उम्मीद मन के जागने की !! होने  लगी स्मृतियों की बरसात मन भी हो चूका बेपरवाह सुदूर कहीं ठंडी सिहरन वाली हवा सूखी-सूखी ध...

Post has attachment
प्रेम का भूगोल
आज अंतर्राष्ट्रीय हिंदी ब्लॉग दिवस के तौर पर हम सभी ब्लॉगर मना रहे हैं , तो ये प्रेम कविता झेलिये :) भौगोलिक स्थिति का क्या प्रेम पर होता है असर ? क्या कर्क व मकर रेखा के मध्य कुछ अलग ही अक्षांश और देशांतर के साथ झुकी हुई एक ख़ास काल्पनिक रेखा पृथ्वी के उपरी...

Post has attachment
पैकेज शानदार व्यक्तित्व का
चाहिए मानवीयता का विटामिन दयालुता का प्रोटीन पुरुषार्थ से लबालब कार्बोहाईड्रेट और फिसलती हुई प्यारी सी वाणी की हो वसा भी ! ताकि सबको घोंट पीट कर बना पाऊं खुद का एक सम्पूर्ण पैकेज कुछ शानदार व्यक्तित्व सा !! काश इन उपरोक्त संवेदनाओं से परिपूर्ण मानवीय पोषक प...

Post has attachment

Post has attachment
प्रेम का भूगोल
आज अंतर्राष्ट्रीय हिंदी ब्लॉग दिवस के तौर पर हम सभी ब्लॉगर मना रहे हैं , तो ये प्रेम कविता झेलिये :) भौगोलिक स्थिति का क्या प्रेम पर होता है असर ? क्या कर्क व मकर रेखा के मध्य कुछ अलग ही अक्षांश और देशांतर के साथ झुकी हुई एक ख़ास काल्पनिक रेखा पृथ्वी के उपरी...

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded