Profile cover photo
Profile photo
Gaurav sharma
41 followers -
I LISTEN TO AND FOLLOW THE CHILD THAT STILL LIVES INSIDE ME....
I LISTEN TO AND FOLLOW THE CHILD THAT STILL LIVES INSIDE ME....

41 followers
About
Communities and Collections
Posts

Read my short story... A memoir... "Price of Relations"
Add a comment...

Post has attachment
यही तलाश ही तो है

जीवन का सत्व

रिक्तता ही तो है

जीवन का अर्थ

क्षणों के साथ आतीं

मरतीं सासें

मोमबत्ती सा जलता

घुलता शरीर,

और एक मन...

हर पल कुछ तलाशता,

बेचैन, उत्सुक, हैरान...

ले चलता है जीवन को,

वक्रता की और,

और जब पूर्ण होता है व्रत

बीच में से रिक्त

तब मर जाता है जीवन...
Add a comment...

Post has attachment
"मैं अब प्रेम की कवितायेँ नहीं लिखता"

पूरी कविता पढ़ें...
Add a comment...

Post has attachment
बात उन दिनों की है

वो दँसवी के बोर्ड वाला साल था। हमारे चेहरे पर पहला मुँहासा उग चुका था। सो स्कूल यूनीफार्म की नीली पेंट फैशन वाली हुआ करती थी- आगे दो चुन्नटें, घुटनों पर ढीली और तंग मोरी । ग्वालियर की हवा अजीब ही है. एक तरफ से भिंड के डाकुओं की दहशत और दूसरी तरफ मुरैना की गज़क की मिठास. हम बहुत जल्दी ढलते थे हर माहौल में.
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
Read this poem...
A SPERM TO HIS RAPIST FATHER
A SPERM TO HIS RAPIST FATHER
gauravmotley.blogspot.com
Add a comment...

Post has attachment
A review on UNBUDGETED INNOCENCE with a glimpse into each of the ten stories...
Add a comment...

Post has attachment
गन्ना चूसते मीठे सवाल करते रहते
पर दद्दा के कान रेडियो पर लगे होते थे
मंजुल की हिन्दी की कमेन्टरी
गावस्कर और विश्वनाथ की रेंगती बैटिंग
बाथॅम और बाबॅ विलीस की
कुटिल मुस्कानें रेडियो पर भी नजर आती थी
तब हर ओवर के बाद मशहूरियाँ नहीं आती थीं
हाँ, हर ओवर के बाद दद्दा
हमारे उल्टे सवालों का
पुल्टा जवाब देते थे
Add a comment...

Post has attachment
Please do read this #MeToo story by yours truly.
Add a comment...

Post has attachment
'PADMAVATI' HULLABALLOO
'PADMAVATI' HULLABALLOO
'PADMAVATI' HULLABALLOO
gauravmotley.blogspot.in
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded