Profile cover photo
Profile photo
Aditya Agrawal
276 followers
276 followers
About
Posts

Post has attachment
छाप तिलक सब छीनी रे .....
Ustad Nusrat Fateh Ali renders a qawwali, here. I have written explanation of the verses here. Experience the depth of feeling:    https://ytcropper.com/cropped/LF5ac5eea0e2953 Logic and structured approach has its limitations. Things that are not
explained...
Add a comment...

Post has attachment
तेरे खुशबू में बसे खत मैं जलाता कैसे
तेरे खुशबू में बसे खत मैं जलाता कैसे प्यार में डूबे हुए खत मैं जलाता कैसे तेरे हाथों के लिखे खत मैं जलाता कैसे जिनको दुनिया की निगाहों से छुपाए रखा जिनको इक उम्र कलेजे से लगाए रखा दीन जिनको, जिन्हे ईमान बनाए रखा तेरे खुशबू में बसे खत मैं जलाता कैसे जिनका हर...
Add a comment...

Post has attachment
Conversation Between Krishna and Duryodhana
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
आपकी नज़रों ने समझा, प्यार के काबिल मुझे
अनपढ़ (1962) फिल्म का यह गीत अत्यंत मर्मस्पर्शी है. इसका संगीत  मदन मोहन जी ने दिया और इसके बोल  राजा मेहंदी अली खान ने दिए.  लता मंगेशकर जी ने इस गीत में आत्मा फूंकी.  इस गीत के बारे में नौशाद ने कहा था कि उनकी सभी रचनायें इस गीत पर कुर्बान हैं. आज इसके एक...
Add a comment...

Post has attachment
आवत ही हरषै नहीं...
आवत ही हरषै नहीं नैनन नहीं सनेह| तुलसी तहां न जाइये कंचन बरसे मेह|| अर्थ:  जिस जगह आपके जाने से लोग प्रसन्न नहीं होते हों, जहाँ लोगों की आँखों में आपके लिए प्रेम या स्नेह ना हो,  वहाँ हमें कभी नहीं जाना चाहिए, चाहे वहाँ धन की बारिश ही क्यों न हो रही हो|
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Wait while more posts are being loaded