Shared publicly  - 
 
“सेव मोर फ़लक” विषय पे गोलमेज़ बतकही
हाल ही मे दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल मे हुई एक दर्दनाक घटना जिसने पूरे देश के जनमानस की भावनावों एवं संवेदनावों को झकझोर दिया है जैसे गंभीर विषय, बेबी फ़लक की मौत पे संवेदना व्यक्त करने,ऐसी घटनावों की पुनरावृत्ति रोकने और भारत मे बढ़ रही चाइल्ड अबयूस एवं कन्या भ्रूड़ हत्या जैसे घटनावों के प्रति जागरूकता लाने के लिए परमानंद फ़ाउंडेशन द्वारा दिनांक 25.03.2012 को साकीनाका स्थित स्वेदा हाल मे दोपहर दो बजे से एक गोलमेज़ बतकही सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है जिसका विषय है “सेव मोर फ़लक”।

इस विषय पे बोलने के लिए श्री हीरालाल यादव जो इस विषय के साथ भिन्न विषयों पे 80000 किलोमीटर से ज्यादे बिना सीट की साइकल यात्रा कर चुके हैं, देश के विभिन्न विश्व विद्यालयों मे जा के बच्चों की पेंटिंग इकट्ठी कर चुके हैं तथा भारत वर्ष मे 100 से अधिक जगहों पे इस विषय पे पेंटिंग प्रदर्शनी और कविता पाठ कर चुके हैं का विशेष सम्बोधन होगा।

इस सेमिनार मे कल्पना चावला के पिता श्री बी एल चावला जी कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सभा को संबोधित करेंगे। देश मे महिला टॅक्सी के क्षेत्र मे क्रांति लाने वाली श्रीमति रेवती रॉय एवं प्रीति शर्मा मेनन , महिला
सशक्तिकरण पे फिल्म बनाने वाले उदय यादव एवं विनीता वर्मा, देश मे रियल्टी शो के क्षेत्र मे क्रांति लाने वाली अश्विनी करंदीकर प्रसिद्ध आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगलि, आईटी एक्सपर्ट योगेश एवं कॉलेज स्टूडेंट इस सभा को संबोधित करेंगे। यह सभा गोलमेज़ बतकही के अनुरूप इंटरैक्टिव होगी इसमे इस विषय मे वक्ता और श्रोता के बीच लगातार संवाद होगा।

इस गोलमेज़ बतकही सेमिनार मे पूरे देश मे चाइल्ड अबयूस एवं कन्या भ्रूड़ हत्या के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हीरालाल यादव जी को परमानंद फ़ाउंडेशन की तरफ से “परम भूषण” सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। इस सेमिनार मे कन्या भ्रूड़ हत्या पे हीरालाल जी के प्रयासों पे एक वृत्तचित्र का प्रदर्शन भी किया जाएगा।

इस गोलमेज़ बतकही सेमिनार मे पूरे देश मे चाइल्ड अबयूस एवं कन्या भ्रूड़ हत्या के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए भइयू जी महाराज द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी चर्चा की जाएगी तथा इस विषय पे कार्य करने की रूपरेखा भी तय होगी।

इस सभा की अध्यक्षता दोपहर के सामना के कार्यकारी संपादक श्री प्रेम शुक्ल करेंगे एवं संयोजक सीए पंकज जैसवाल होंगे।
Translate
1
Add a comment...