Profile cover photo
Profile photo
Desh Drohi
41 followers
41 followers
About
Posts

Post has attachment
चेतो मोदी सरकार.., गुजरात चुनाव में बंदरबांट से बानरों में सत्ता पाने के लिए हाहाकार से आपस में कर रहें ललकार.., कोई कोट , कोई खादी पर जनेऊ डालकर दिखा रहा है अपना D.N.A. लेकिन कोई भी चुनावी मलखंभ में दंभ दिखाकर भी, मानने को तैयार नहीं हैं कि हमारे पूर्वज बन्दर थे. आज लोकतंत्र ने लूटतंत्र , राज्यसभा बनाम रिश्वत सभा , मंत्रालय बनाम मूत्रालय , सचिवालय बनाम शौचालय से देश पाषण युग के बंदरों का गृह युद्ध बन गया है जो जातिवाद भाषावाद ,आरक्षण , अलगाव वाद का कवच पहनकर लड़ रहें हैं . जनता यह देखकर असमंजस में है .
चेतो
मोदी सरकार.., गुजरात  चुनाव में बंदरबांट
से बानरों में सत्ता पाने के लिए हाहाकार से आपस में कर रहें ललकार.., कोई कोट ,
कोई खादी पर जनेऊ डालकर दिखा रहा है अपना D.N.A. लेकिन कोई भी चुनावी मलखंभ में
दंभ दिखाकर भी , मानने
को तैयार नहीं हैं कि हमारे पूर्वज ...
चेतो मोदी सरकार.., गुजरात चुनाव में बंदरबांट से बानरों में सत्ता पाने के लिए हाहाकार से आपस में कर रहें ललकार.., कोई कोट , कोई खादी पर जनेऊ डालकर दिखा रहा है अपना D.N.A. लेकिन कोई भी चुनावी मलखंभ में दंभ दिखाकर भी, मानने को तैयार नहीं हैं कि हमारे पूर्वज बन्दर थे. आज लोकतंत्र ने लूटतंत्र , राज्यसभा बनाम रिश्वत सभा , मंत्रालय बनाम मूत्रालय , सचिवालय बनाम शौचालय से देश पाषण युग के बंदरों का गृह युद्ध बन गया है जो जातिवाद भाषावाद ,आरक्षण , अलगाव वाद का कवच पहनकर लड़ रहें हैं . जनता यह देखकर असमंजस में है .
चेतो मोदी सरकार.., गुजरात चुनाव में बंदरबांट से बानरों में सत्ता पाने के लिए हाहाकार से आपस में कर रहें ललकार.., कोई कोट , कोई खादी पर जनेऊ डालकर दिखा रहा है अपना D.N.A. लेकिन कोई भी चुनावी मलखंभ में दंभ दिखाकर भी, मानने को तैयार नहीं हैं कि हमारे पूर्वज बन्दर थे. आज लोकतंत्र ने लूटतंत्र , राज्यसभा बनाम रिश्वत सभा , मंत्रालय बनाम मूत्रालय , सचिवालय बनाम शौचालय से देश पाषण युग के बंदरों का गृह युद्ध बन गया है जो जातिवाद भाषावाद ,आरक्षण , अलगाव वाद का कवच पहनकर लड़ रहें हैं . जनता यह देखकर असमंजस में है .
meradeshdoooba.com
Add a comment...

Post has attachment
बाबरी मस्जिद मुद्दे पर.... प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने मुस्लिम नेताओं को बुलवाकर स्पष्ट शब्दों में समझाया , देखो.?, आप लोग की संख्या कम है.., मेरे पास पुलिस बल भी नहीं है , इसमें गरीब लोग मारे जायेगे , मै आपकी पसंद के अनुसार, जगह चुनकर, आपको मस्जिद बनवाकर दूंगा .. , मुसलिम नेता भी मान गये थे , तब वहाँ के सुरक्षा दल के एक सिपाही ने यह खबर केन्द्रीय मंत्री शरद पवार से कही , शरद पवार ने राजीव गांधी को भड़काया , यदि यह मुद्दा सुलझ गया तो...???? साम्प्रदायिकता का खेल हमेशा के लिए ख़त्म हो जाएगा , और उसके अगले ही दिन प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की कुर्सी खिसक गई .... और भारतीय जनता पार्टी ने राम रथ को सत्ता का रथ बनाया ,
बाबरी
मस्जिद – और राष्ट्रवाद, धर्मवाद का शिकार हो गया ..., बजरंग
दल के नेता विनोद कटियार ने कहा , U.P  में मुस्लिम घर वापसी (हिन्दू धर्म
अपनाने ) को तैयार हो गए थे व मस्जिद के मुद्दे के प्रति उनकी उदासीनता ही थी व  पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के सुझाव से स...
बाबरी मस्जिद मुद्दे पर.... प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने मुस्लिम नेताओं को बुलवाकर स्पष्ट शब्दों में समझाया , देखो.?, आप लोग की संख्या कम है.., मेरे पास पुलिस बल भी नहीं है , इसमें गरीब लोग मारे जायेगे , मै आपकी पसंद के अनुसार, जगह चुनकर, आपको मस्जिद बनवाकर दूंगा .. , मुसलिम नेता भी मान गये थे , तब वहाँ के सुरक्षा दल के एक सिपाही ने यह खबर केन्द्रीय मंत्री शरद पवार से कही , शरद पवार ने राजीव गांधी को भड़काया , यदि यह मुद्दा सुलझ गया तो...???? साम्प्रदायिकता का खेल हमेशा के लिए ख़त्म हो जाएगा , और उसके अगले ही दिन प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की कुर्सी खिसक गई .... और भारतीय जनता पार्टी ने राम रथ को सत्ता का रथ बनाया ,
बाबरी मस्जिद मुद्दे पर.... प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने मुस्लिम नेताओं को बुलवाकर स्पष्ट शब्दों में समझाया , देखो.?, आप लोग की संख्या कम है.., मेरे पास पुलिस बल भी नहीं है , इसमें गरीब लोग मारे जायेगे , मै आपकी पसंद के अनुसार, जगह चुनकर, आपको मस्जिद बनवाकर दूंगा .. , मुसलिम नेता भी मान गये थे , तब वहाँ के सुरक्षा दल के एक सिपाही ने यह खबर केन्द्रीय मंत्री शरद पवार से कही , शरद पवार ने राजीव गांधी को भड़काया , यदि यह मुद्दा सुलझ गया तो...???? साम्प्रदायिकता का खेल हमेशा के लिए ख़त्म हो जाएगा , और उसके अगले ही दिन प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की कुर्सी खिसक गई .... और भारतीय जनता पार्टी ने राम रथ को सत्ता का रथ बनाया ,
meradeshdoooba.com
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
मुम्बई के सरकारी... जे.जे अस्पताल में लाखों रूपये खर्च कर विशेष अतिथी के रूप में, ईलाज के लिए अलग कमरे का निर्माण , लेकिन कसाब का वहाँ नही हुआ पदार्पण.......

कसाब को कोहिनूर हीरा मानकर , अमेरिका को बाप मानकर लगाई बड़ी गुहार , पाकिस्तान द्वारा अपने देश का नागरिक न होने की कहकर... , हिन्दुस्तान को दी दुत्कार...
Add a comment...

Post has attachment
२६ नवम्बर १९४९ को देश का संविधान दिवस माना गया है .., वहीं २६ नवम्बर २००८ ..., देश के इतिहास में सत्ता के गद्धीदारों की गद्दारी के रूप में जाना जाएगा ..जागो देशवासिओं.., फ़्रांस से हमें सिखना होगा.., अब राजनीती नहीं.., राष्ट्रनीती का वक्त आ गया है... कसाब का हिसाब V/s फ्रांस के पेरिस पुलिस का पौरूष
२६ नवम्बर १९४९ को देश का संविधान
दिवस माना गया है .., वहीं २६ नवम्बर २००८ ..., देश के इतिहास में सत्ता के
गद्धीदारों की  गद्दारी के रूप में जाना
जाएगा .. मुंबई आतंकी हमले के समय देश के
सहायक पुलिस इंस्पेक्टर  तुकाराम ओंबले ने...,   आतंकवादी घटनाओं को राजनैत...
Add a comment...

Post has attachment
१९४७ में भारतमाता के अंग भंग से लहू लूहान से घायल हिन्दुस्तान के पांवों में अंगरेजी संस्कृति की पायल डाल कर विदेशी हाथ , साथ , विचार , संस्कार से अपने को स्वंय –भू , देश का चाचा घोषित कर “बाल दिवस” व भारत रत्न से नवाजा..., इस खेल का पर्दाफ़ाश.., जब चीन ने नेहरू को यों कहे देशवासियों को थप्पड़ मारकर देश के टुकड़े कर , हड़प कर, नेहरू की छद्म भूमिका /स्वांग की पोल खोल कर रख दी ..
नेहरु का इस्लाम को सलाम , हिन्दुओं को
गुलाम के तत्व से गौ ह्त्या का विरोध व अपने को हिन्दू धर्म में पैदा होने व
खानपान में मुस्लिम व संस्कृति से इसाई के स्वांग से अपने को शान्ति दूत कह...!!!,
१९४७ में सत्ता परिवर्तन में एडविना बेंटन के साथ जिन्ना व नेहरू के...
१९४७ में भारतमाता के अंग भंग से लहू लूहान से घायल हिन्दुस्तान के पांवों में अंगरेजी संस्कृति की पायल डाल कर विदेशी हाथ , साथ , विचार , संस्कार से अपने को स्वंय –भू , देश का चाचा घोषित कर “बाल दिवस” व भारत रत्न से नवाजा..., इस खेल का पर्दाफ़ाश.., जब चीन ने नेहरू को यों कहे देशवासियों को थप्पड़ मारकर देश के टुकड़े कर , हड़प कर, नेहरू की छद्म भूमिका /स्वांग की पोल खोल कर रख दी ..
१९४७ में भारतमाता के अंग भंग से लहू लूहान से घायल हिन्दुस्तान के पांवों में अंगरेजी संस्कृति की पायल डाल कर विदेशी हाथ , साथ , विचार , संस्कार से अपने को स्वंय –भू , देश का चाचा घोषित कर “बाल दिवस” व भारत रत्न से नवाजा..., इस खेल का पर्दाफ़ाश.., जब चीन ने नेहरू को यों कहे देशवासियों को थप्पड़ मारकर देश के टुकड़े कर , हड़प कर, नेहरू की छद्म भूमिका /स्वांग की पोल खोल कर रख दी ..
meradeshdoooba.com
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
यदि २ अक्टूबर को उनके अतुल्यनीय साहस की प्रेरणा व आने वाले सालों में हम यह दिवस लाल बहादुर शास्त्री, की जयन्ती के रूप में मनाएं तो देश के युवकों में लाल बहादुर शास्त्री के कार्यों से प्रेरित होकर, राष्ट्रवाद के खून का संचार से, जो काम गांधी व नेहरू न कर सके, हम जल्द ही विश्व गुरू व सर्वोपरि हो जायेंगे..., दोस्तों आप अपनी राय दें.
यदि
२ अक्टूबर को उनके अतुल्यनीय साहस की प्रेरणा व आने वाले सालों में हम यह दिवस लाल
बहादुर शास्त्री , की जयन्ती के रूप में मनाएं तो देश के युवकों में लाल बहादुर
शास्त्री के कार्यों से प्रेरित होकर , राष्ट्रवाद के खून का
संचार से , जो काम गांधी व नेहरू न कर ...
यदि २ अक्टूबर को उनके अतुल्यनीय साहस की प्रेरणा व आने वाले सालों में हम यह दिवस लाल बहादुर शास्त्री, की जयन्ती के रूप में मनाएं तो देश के युवकों में लाल बहादुर शास्त्री के कार्यों से प्रेरित होकर, राष्ट्रवाद के खून का संचार से, जो काम गांधी व नेहरू न कर सके, हम जल्द ही विश्व गुरू व सर्वोपरि हो जायेंगे..., दोस्तों आप अपनी राय दें.
यदि २ अक्टूबर को उनके अतुल्यनीय साहस की प्रेरणा व आने वाले सालों में हम यह दिवस लाल बहादुर शास्त्री, की जयन्ती के रूप में मनाएं तो देश के युवकों में लाल बहादुर शास्त्री के कार्यों से प्रेरित होकर, राष्ट्रवाद के खून का संचार से, जो काम गांधी व नेहरू न कर सके, हम जल्द ही विश्व गुरू व सर्वोपरि हो जायेंगे..., दोस्तों आप अपनी राय दें.
meradeshdoooba.com
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded