Profile cover photo
Profile photo
Atul Kumar Rai
139 followers -
गीत-संगीत,यात्रा और कहानी,हिंदी के इस देशी ब्लॉग पर आपका स्वागत
गीत-संगीत,यात्रा और कहानी,हिंदी के इस देशी ब्लॉग पर आपका स्वागत

139 followers
About
Posts

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो.

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो.

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो.

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो.

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो.

Post has attachment
इधर सावन बरसने को बेकरार है..तपने के बाद भीगने का सुख कहने के लिए नई भाषा ईजाद करनी पड़ेगी..लेकिन इधर लगने लगा है कि जीवन में प्रेम बना रहे तो मानसून 15 जून की बजाय 15 अप्रैल को भी आ सकता है…न हो तो 15 जुलाई कि रात भी जून के दोपहर जैसी लगेगी..अरे जीवन में प्रेम हो तो... ( ⤵⤵
Add a comment...

Post has attachment
क्या “छलकता हमरो जवनिया ए राजा” की तर्ज पर “छलकता हमरो गगरिया ए राजा” गाना और उसे उसी अंदाज में उत्तेजक दृश्यों के साथ फिल्माना क्या शिव भजन है ?

क्या 2017 के एक महा अश्लील गीत “पलँग करें चोंय-चोंय” कि तर्ज पर “कांवर करे चोंय-चोंय” गाना शिव भजन है ?

या फिर “रात दिया बुता के पिया क्या-क्या किया” और “पियवा से पहिले हमार रहलू’ के ही ट्रैक पर थोड़ा सा लिरिक्स बदलकर गाना शिव भजन है ? या फिर भोजपुरी गायकों द्वारा पार्वती जी से ये कहलवाना की “हरदिया काम न करि राजा.दरदिया दे देबs ए राजा” ये शिव जी की स्तुति है।?

नहीं..ये शिव जी के भजन नहीं हैं। ये शिव जी के नाम पर नँगा नाँच है जिसे भोजपुरी के सुपरस्टार कहा रहे....⤵ https://www.atulkumarrai.com/bol-bum-song-bhojpuri/

Post has attachment
क्या “छलकता हमरो जवनिया ए राजा” की तर्ज पर “छलकता हमरो गगरिया ए राजा” गाना और उसे उसी अंदाज में उत्तेजक दृश्यों के साथ फिल्माना क्या शिव भजन है ?

क्या 2017 के एक महा अश्लील गीत “पलँग करें चोंय-चोंय” कि तर्ज पर “कांवर करे चोंय-चोंय” गाना शिव भजन है ?

या फिर “रात दिया बुता के पिया क्या-क्या किया” और “पियवा से पहिले हमार रहलू’ के ही ट्रैक पर थोड़ा सा लिरिक्स बदलकर गाना शिव भजन है ? या फिर भोजपुरी गायकों द्वारा पार्वती जी से ये कहलवाना की “हरदिया काम न करि राजा.दरदिया दे देबs ए राजा” ये शिव जी की स्तुति है।?

नहीं..ये शिव जी के भजन नहीं हैं। ये शिव जी के नाम पर नँगा नाँच है जिसे भोजपुरी के सुपरस्टार कहा रहे....⤵ https://www.atulkumarrai.com/bol-bum-song-bhojpuri/

Post has attachment
क्या “छलकता हमरो जवनिया ए राजा” की तर्ज पर “छलकता हमरो गगरिया ए राजा” गाना और उसे उसी अंदाज में उत्तेजक दृश्यों के साथ फिल्माना क्या शिव भजन है ?

क्या 2017 के एक महा अश्लील गीत “पलँग करें चोंय-चोंय” कि तर्ज पर “कांवर करे चोंय-चोंय” गाना शिव भजन है ?

या फिर “रात दिया बुता के पिया क्या-क्या किया” और “पियवा से पहिले हमार रहलू’ के ही ट्रैक पर थोड़ा सा लिरिक्स बदलकर गाना शिव भजन है ? या फिर भोजपुरी गायकों द्वारा पार्वती जी से ये कहलवाना की “हरदिया काम न करि राजा.दरदिया दे देबs ए राजा” ये शिव जी की स्तुति है।?

नहीं..ये शिव जी के भजन नहीं हैं। ये शिव जी के नाम पर नँगा नाँच है जिसे भोजपुरी के सुपरस्टार कहा रहे....⤵ https://www.atulkumarrai.com/bol-bum-song-bhojpuri/
Wait while more posts are being loaded