Profile cover photo
Profile photo
Yatrakaar
3 followers -
यात्राकार : घुमक्कड़ों का ठिकाना
यात्राकार : घुमक्कड़ों का ठिकाना

3 followers
About
Posts

Post has attachment
असम का माजुली किसी नदी पर बना दुनिया का सबसे बड़ा द्वीप है। देश का पहला रिवर आइलेंड डिस्ट्रिक्ट भी। यह नदी द्वीप न केवल अपनी ख़ूबसूरती में बेमिशाल है बल्कि पुरानी परम्पराओं को सहेजकर रखने में भी यहां के लोगों का कोई सानी नहीं है। आज यात्राकार पर पेश है…
Add a comment...

Post has attachment
कहानी उस 'देस' की जहाँ समय स्थिर है और आदमी खर्च हो रहा है

भाषा को बहुत सावधानी और ख़ूबसूरती से बरतने वाले समकालीन युवा लेख़कों में अविनाश मिश्र एक जाना-पहचाना नाम हैं। हिंदी साहित्य जगत से जुड़े पहलुओं पर उनकी बेबाक़ और चुटीली टिप्पणियाँ बीते समय में बहुत चर्चा में रही हैं। एक सधा हुआ लेखक जब दूसरे मझे हुए लेखक…
Add a comment...

Post has attachment
हिंदी यात्रा-लेखन की परम्परा में निर्मल वर्मा एक बड़ी अहम कड़ी हैं। आज यात्राकार पर पढ़िए उनके यात्रा वृत्तांत ‘चीडों पर चाँदनी’ से एक अंश।  निर्मल वर्मा : एक पुरानी चीनी कहावत है : हज़ार मील की यात्रा एक छोटे क़दम से आरम्भ होती है। किन्तु कौन-से अनजाने…
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment
उमेश पंत : उत्तराखंड में उत्तरकाशी ज़िले के सांकरी नाम के एक छोटे गाँव से खुलते हैं जन्नत के दरवाज़े। केदारकांटा सांकरी से क़रीब 8 किलोमीटर का ट्रेक करके पहुँचा जा सकता है।इस  ट्रेक में सांकरी से कम तीन दिन का समय लगता है। और आप क़रीब 13 हज़ार फ़ीट की…
Add a comment...

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded