Profile cover photo
Profile photo
Rameshwar Kamboj
1,594 followers
1,594 followers
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment

Post has attachment
Rameshwar Kamboj commented on a post on Blogger.
महावीर सरन जैन जी ने जो लिखा है, मैं उससे पूर्णतया सहमत हूँ। केन्द्रीय हिन्दी भाषा में थानेदार का काम नहीं कर सकता। भाषा एक विरासत है ,जो अपने खुद के अनुशासन से चलती है । निर्मित संस्थाएँ भाषा की थानेदार कैसे बन सकती हैं? विश्वविद्यालय के हिन्दी के शूरवीर अल्पविराम और अर्धविराम से भी अनजान हैं।

Post has attachment
Photo

Post has attachment
Photo
Wait while more posts are being loaded