Profile cover photo
Profile photo
Divyanshu Vatsal
Trying out The Best
Trying out The Best
About
Posts

Post has attachment

Post has attachment
कुछ रोचक तथ्य
० पनवल व्रिज एशिया का तीसरा और भारत का सबसे ऊँचा रेलवे ब्रिज है यह महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले से गुजरने वाली पनवल नदी पर स्थित है। इसकी ऊँचाई 64 मीटर और लम्बाई 424 मीटर है। ० विश्व का सबसे ऊँचा पुल चेनाब नदी पर दिसम्बर 2016 तक बनकर तैयार होगा। जम्मू कश्मी...

Post has attachment
शायरी दिल से
सपने टूट जाते हैं जब अपने रूठ जाते हैं  जिंदगी में कैसे-कैसे मोड़ आते है  मगर जब भी साथ हो आप जैसे दोस्त तो राहो के काँटे भी फूल बन जाते हैं।  चाहत वो नहीं चो जान देती है  चाहत वो नहीं जो इम्तहान लेती है ऐ दोस्त चाहत तो वो होती है जो पानी में गिरे आँसू को प...

Post has attachment
शायरी दिल से
मैने तुझे भूलना चाहा पर चाहकर भी नहीं भूला पाया सोजा तुझे भूलने के लिए मयखाने के सहारा लूँ पर मेरी बदकिस्मती तो देख उस मयखाने में मय भी तेरे नाम पर बिका करती थी। मौसम कितने सुहाने हो गए  बो रूठने-मनाने के किस्से पुराने हो गए अब चले भा आओ वो सब भूलकर हमारे प...

Post has attachment
शायरी दिल से
दिल के हो गए टुकड़े सौ हजार जिस दिन देखा उस को किसी और के साथपहली बार फिर सोचा कि वह होगा उसका कोई पुराना रिश्तेदार लेकिन बाद में पता चला कि वह था उसका हमसे भी पुराना प्यार। तुझे याद करके रो दिया करता हूँ फिर सोचता हूँ क्या फायदा ऐसे रोने से जो खोया है वह क...

Post has attachment
शायरी दिल से
जिंदगी में कभी जो मिले हम  कही हमें देखकर नजरें न चुरा लेना  कही देखा है शायद आपको  इतना करकर बस एक बार हाथ जरूर मिला लेना।  गैरों में दम नहीं होता तो अपने लूट लेते हैं हकीकत टूटती नहीं कि सपने टूट जाते हैं  समुंदर सूख जाते है किनारे टूट जाते है  पर सच्चे द...

Post has attachment
शायरी दिल से
आँखों में हया होठों पर मुस्कान दें  मेरे खुदा मुझ पर थोड़ा सा ध्यान दें  बस दो-चार गज ही हैं हसरतें मेरी कब कहाँ मैंने की मुझको सारा आसमान दें।  क्यों कहते हो कुछ बेहतर नहीं होता सच ये है कि जैसा चाहो वैसा नहीं होता  कोई तुम्हारा साथ न दे तो गम न कर खुद से ...

Post has attachment
शायरी दिल से
कभी रो के मुस्कुराए कभी मुस्कुरा के रोए       जो भी तेरी याद आई तुझे भुला कर रोए        एक तेरा ही तो नाम था जिसे हजार बार लिखा था        जितना तु लिखकर खुश हुए उससे ज्यादा मिटा कर रोए।        वो दिल क्या जो मिलने की दुआ न करें        तुम्हे भूलकर जिऊँ ऐसा ...

Post has attachment
शायरी दिल से
कभी रो के मुस्कुराए कभी मुस्कुरा के रोए       जो भी तेरी याद आई तुझे भुला कर रोए        एक तेरा ही तो नाम था जिसे हजार बार लिखा था        जितना तु लिखकर खुश हुए उससे ज्यादा मिटा कर रोए।        वो दिल क्या जो मिलने की दुआ न करें        तुम्हे भूलकर जिऊँ ऐसा ...

Post has attachment
शायरी दिल से
आँखों में हया होठों पर मुस्कान दें  मेरे खुदा मुझ पर थोड़ा सा ध्यान दें  बस दो-चार गज ही हैं हसरतें मेरी कब कहाँ मैंने की मुझको सारा आसमान दें।  क्यों कहते हो कुछ बेहतर नहीं होता सच ये है कि जैसा चाहो वैसा नहीं होता  कोई तुम्हारा साथ न दे तो गम न कर खुद से ...
Wait while more posts are being loaded