Profile cover photo
Profile photo
Upasna Siag
2,121 followers
2,121 followers
About
Posts

Post has attachment
छोटी लकीर-बड़ी लकीर
       दिसम्बर  के छोटे-छोटे दिन। भागते-दौड़ते भी दिन पकड़ से जैसे छूटा जाता है। सुबह पांच बजे से लेकर दोपहर ढ़ाई बजे तक एक टांग पर दौड़ते रहना वेदिका की आदत में शामिल है। अब कुछ समय मिला है तो छत की तरफ चल दी। धूप भी हल्की हो चली है, मगर यही थी , उसके हिस्से क...
Add a comment...

Post has attachment
रुनकु की सूझबूझ
    " रुनकु पढ़ ले ! " रुनक के कमरे से बाहर निकलते ही भोलू चिल्ला उठा, और घर के सभी लोग हंस पड़े। रुनक को भी हंसी आ गई। वह दौड़ कर भोलू के पिंजरे के पास जा पहुंची। हँसते हुए बोली, " भोलू मिट्ठू, छुट्टियों में कोई पढता है क्या ? " आज तो मैं नानी के पास जा रही ह...
Add a comment...

Post has attachment
फिर भी इंतज़ार है ..
ना मिलने के  दिन याद , ना ही बिछड़ने के  दिन याद , याद रहे तो  बस तुम। शायद , जाते हुए पतझड़ में बहार से आये थे तुम। जाती हुयी बहार में चले भी गए थे। यह मिलना -बिछुड़ना , दशकों की बिछुड़न है या सदियों की ही बिछुड़न है। या हमेशा-हमेशा की। फिर भी इंतज़ार है एक और फ...
Add a comment...

Post has attachment
जख्म तो दिलों पर हरे रहते ही हैं
एक पत्ता जो गिरा  है अभी-अभी ... बेशक  पीला और जर्जर था. फिर भी  उसका   निशान बाकी है शाख पर अभी भी। निशान तो नहीं मिटते न, किसी के चले जाने पर।  जख्म तो दिलों पर हरे रहते ही हैं कभी-कभी  या  सदा के लिए। 
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
छलिया
   मार्च का दूसरा पखवाड़ा , सुहावना मौसम , सुहानी धूप लेकिन थोड़ी बहुत शीत  लहर का भी असर ।  बसंत -बहार का मौसम ! बसंत प्रकृति के हर कोने को छू लेता है। चहुँ ओर फूल ही फूल। ऐसे मादक मौसम में मनुष्य तो क्या जानवर भी  कहाँ अछूते रह सकते हैं भला !        सुरभि...
Add a comment...

Post has attachment
ये कैसी मोहब्बत कहाँ के फ़साने,
ये पीने पिलाने के सब है बहाने,

वो दामन हो उनका के सुनसान सेहरा,
बस हमको तो आख़िर हैं आंसू बहाने,

ये किसने मुझे मस्त नज़रों से देखा,
लगे ख़ुद-ब-ख़ुद ही कदम लड़खडाने,

चलो तुम भी ‘गुमनाम’ अब मैकदे में,
तुम्हे दफन करने हैं कई गम पुराने ..


Add a comment...

Post has attachment
Add a comment...

Post has attachment
kuchh bhi nahi :-)
Add a comment...
Wait while more posts are being loaded