Profile

Scrapbook photo 1
haresh Kumar
Works at Dainik Bhaskar.com
Attends Delhi University
Lives in BhoPal
677,345 views
AboutPosts

Stream

Pinned

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
#चंद सिक्कों में बिकता है #इंसान का #जमीर। कौन कहता है मेरे #मुल्क में #महंगाई है।।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
मानो न मानो। इसके अनुसार पिछले जन्म में भी हमारा वास्ता पढ़ाई-लिखाई से ही था।

http://www.7apps.me/pastname/haresh-kumar_6_s4.html
 ·  Translate
What was your name in your past life?
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे।
बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।।

लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी मजार।
पर बहार एक बूढ़ी अम्मा को ठंड से ठिठुरते देखा है।

वो दे आया एक लाख गुरद्वारे में हाल के लिए।
घर में उसको 500 रुपए के लिए काम वाली बाई बदलते देखा है।
 ·  Translate
बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडों के गहने मंदिरो में । उसी देहलीज पे एक रुपए को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।। सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे। बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।। लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी ...
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
बेदर्द जमाने को आंखो से देखा है
बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडों के गहने मंदिरो में । उसी देहलीज पे एक रुपए को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।। सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे। बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।। लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी मजार। पर बहार एक बूढ़ी अम्मा को ठ...
 ·  Translate
बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडों के गहने मंदिरो में । उसी देहलीज पे एक रुपए को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।। सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे। बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।। लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी ...
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
नौकर ने समझाया, नाहक ही डर गई हुज़ूर !
वह अकाल वाला थाना, पड़ता है काफ़ी दूर !
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
कलम देश की बड़ी शक्ति है भाव जगाने वाली, दिल ही नहीं दिमागों में भी आग जलाने वाली !!
 ·  Translate
2
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडों के गहने मंदिरो में । उसी देहलीज पे एक रुपए को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।। सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे। बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।। लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी ...
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे।
बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।।

लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी मजार।
पर बहार एक बूढ़ी अम्मा को ठंड से ठिठुरते देखा है।

वो दे आया एक लाख गुरद्वारे में हाल के लिए।
घर में उसको 500 रुपए के लिए काम वाली बाई बदलते देखा है।
 ·  Translate
बेजुबान पत्थर पे लदे है करोडों के गहने मंदिरो में । उसी देहलीज पे एक रुपए को तरसते नन्हे हाथो को देखा है।। सजे थे छप्पन भोग और मेवे मूरत के आगे। बाहर एक फकीर को भूख से तड़प के मरते देखा है ।। लदी हुई है रेशमी चादरों से वो हरी ...
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
आम आदमी के प्रतिनिधित्व का कथित तौर पर दावा करने वाले दिल्ली के सीएम केजरीवाल के घर का दो महीने का बिजली बिल अगर 92 हजार रुपए है तो बाकि के नेताओं का कितना होगा?

बीजेपी की आरटीआई सेल से जुड़े विवेक गर्ग ने कहा है कि जब केजरीवाल बेंगलुरू से अपना इलाज करा कर लौटे और नए घर में शिफ्ट हुए तो उन्होंने कहा था कि उनके बंगले से सभी एसी हटाए जाएं। वे एसी का इस्तेमाल नही करना चाहते हैं। गर्ग ने कहा कि सच्चाई ये है वे 30 से 32 एसी का इस्तेमाल करते हैं। ये एक भद्दा मजाक है और जनता के पैसे का दुरुपयोग किया जा रहा है।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
2
Add a comment...
People
Education
  • Delhi University
    present
Basic Information
Gender
Male
Looking for
Friends
Birthday
February 11
Relationship
Married
Story
Introduction
I am working in Dainik Bhaskar.com as a Copy Editor & Law Graduate from Delhi University.
Bragging rights
Laxmi High School, Sitamarhi, Bihar
Work
Occupation
Journalist
Employment
  • Dainik Bhaskar.com
    Copy Editor, 2014 - present
  • www.samachar4media.com
    senior correspondent
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
BhoPal
Previously
MP - BHOPAL, MP NAGAR
Contact Information
Work
Phone
07566399505, 09818745330