Profile

Scrapbook photo 1
haresh Kumar
Works at Dainik Bhaskar.com
Attends Delhi University
Lives in BhoPal
1,040,439 views
AboutPosts

Stream

Pinned

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
#चंद सिक्कों में बिकता है #इंसान का #जमीर। कौन कहता है मेरे #मुल्क में #महंगाई है।।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
चाहे देवी दुर्गा हो या सरस्वती। कलश स्थापना, आराधना औऱ पूजन-हवन के बाद सभी का विसर्जन होता है हर साल।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
नवाज शरीफ और उनके जैसे कितने लोग कश्मीर को पाकिस्तान की हिस्सा बनाते देखने से पहले ही अल्लाह को प्यारे हो गए। अब इनका जाना बाकी है।
Nawaz Sharif Pakistan Pakistan Tehreek-e-Insaf Daily Pakistan ProPakistani Pakistan High Commission PMO India PMO India : Report Card PMO Bharat Prime Minister of India's Office (PMO), New Delhi Narendra Modi Jammu & Kashmir
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
नवाज शरीफ और उनके जैसे कितने लोग कश्मीर को पाकिस्तान की हिस्सा बनाते देखने से पहले ही अल्लाह को प्यारे हो गए। अब इनका जाना बाकी है।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
भारत का विरोध करके नेपाल में कोई भी सरकार ज्यादा समय तक नहीं रह सकती। चीन- पाकिस्तान चाहे कितना भी आर्थिक या राजनीतिक समर्थन दे भारत का मुकाबला नहीं कर सकता। चाहे केपी शर्मा ओली की सरकार हो या कोई और भारतीय मूल के मधेशिया लोगों को उनका हक देना ही होगा अन्यथा नेपाल को दो टुकड़े होने से भगवान भी नहीं बचा सकता। आज नहीं तो कल नेपाल के राजनीतिज्ञों को ये बात समझनी ही होगी। अन्यथा कम्युनिस्टों के चक्कर में देश को दो टुकड़े होते देखना होगा।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
चीन के कब्जे वाले तिब्बत की सीमा पर भारत ने 100 टैंकों को तैनात किया
चीन के तीन पत्रकारों को 31 जुलाई तक देश छोड़ने को कहा।
ये 1965 वाला भारत नहीं है बबुआ। अब तो आंख दिखाओगे तो सीधा जवाब मिलेगा। पंचशील की नीति गई तेल लेने, जिसके धोखे में तूने नेहरू से छल करके हमारे देश की पीठ पर छुरा घोंपा था। भारत और भारत के लोग कभी नहीं भूलने वाले हैं इस धोखे को।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
हमेशा वर्तमान में जिएं और भविष्य की सोचें। हरिवंश राय बच्चन - जो बीत गई सो बात गई माना वो बेहद प्यारा था।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
नील गाय फसलों को इसलिए चरती है क्योंकि आपने जंगलों को नष्ट कर दिया है। इसके बावजूद नील गाय को फसल नष्ट करने के कारण गोली मार दी जाती है और आप अपने बचाव में सुप्रीम कोर्ट का आदेश दिखाते हो।

दूसरी तरफ आतंकवादियों और उनके समर्थकों द्वारा सुरक्षाकर्मियों पर पत्थर और ग्रेनेड फेंकने के बाद सुरक्षाकर्मी जब बचाव में पैलेट गन चलाते हैं तो वोट बैंक, तुष्टिकरण और टुच्चे मानवाधिकार संरक्षकों के दबाव में इसे भी वापस लेने का एलान करते हो। तुम्हारी टुच्ची राजनीति हमारी समझ से बाहर है। इस देश के मानवाधिकार कार्यकर्ता सिर्फ आतंकवादियों और नक्सलियों के अधिकारों की बात रखते हैं। सावन के इन अंधों को कौन फाइनेंस देता है देश की सुरक्षा एजेंसियां सब जानती है। वोटबैंक के आगे देशहित भी देखो कभी। वरना लोग लात मारते देरी नहीं करेंगे।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
नील गाय फसलों को इसलिए चरती है क्योंकि आपने जंगलों को नष्ट कर दिया है। इसके बावजूद नील गाय को फसल नष्ट करने के कारण गोली मार दी जाती है और आप अपने बचाव में सुप्रीम कोर्ट का आदेश दिखाते हो।

दूसरी तरफ आतंकवादियों और उनके समर्थकों द्वारा सुरक्षाकर्मियों पर पत्थर और ग्रेनेड फेंकने के बाद सुरक्षाकर्मी जब बचाव में पैलेट गन चलाते हैं तो वोट बैंक, तुष्टिकरण और टुच्चे मानवाधिकार संरक्षकों के दबाव में इसे भी वापस लेने का एलान करते हो। तुम्हारी टुच्ची राजनीति हमारी समझ से बाहर है। इस देश के मानवाधिकार कार्यकर्ता सिर्फ आतंकवादियों और नक्सलियों के अधिकारों की बात रखते हैं। सावन के इन अंधों को कौन फाइनेंस देता है देश की सुरक्षा एजेंसियां सब जानती है। वोटबैंक के आगे देशहित भी देखो कभी। वरना लोग लात मारते देरी नहीं करेंगे।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
बस एक आतंकवादियों और उनके समर्थकों के धर्म का पता नहीं है देश और दुनिया को बाकी सबके धर्म और जातियां सही-सही पता है
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
भारत का विरोध करके नेपाल में कोई भी सरकार ज्यादा समय तक नहीं रह सकती। चीन- पाकिस्तान चाहे कितना भी आर्थिक या राजनीतिक समर्थन दे भारत का मुकाबला नहीं कर सकता। चाहे केपी शर्मा ओली की सरकार हो या कोई और भारतीय मूल के मधेशिया लोगों को उनका हक देना ही होगा अन्यथा नेपाल को दो टुकड़े होने से भगवान भी नहीं बचा सकता।
 ·  Translate
1
Add a comment...

haresh Kumar

Shared publicly  - 
 
ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर घराने से हैं। इसी ग्वालियर घराने की मदद के कारण रानी लक्ष्मीबाई को असमय बलिदान देना पड़ा था। ये अगर कश्मीर में रायशुमारी की बात कहते हैं तो किसी को आश्चर्य नहीं? बाकी बरखा दत्त, राणा अयूब के विचारों से सब अवगत हैं ही।
आश्चर्य नहीं कि इन्हें किसी दिन पाकिस्तान के सबसे बड़े अवॉर्ड से नवाजा जाए।
अंग्रेज़ों के मित्र सिंधिया ने छोड़ी राजधानी थी,
बुंदेले हरबोलों के मुँह हमने सुनी कहानी थी,
खूब लड़ी मर्दानी वह तो झाँसी वाली रानी थी॥
 ·  Translate
1
Add a comment...
People
In his circles
4,779 people
Education
  • Delhi University
    present
Basic Information
Gender
Male
Looking for
Friends
Birthday
February 11
Relationship
Married
Story
Tagline
कर्म में विश्वास करो।
Introduction
I am working in Dainik Bhaskar.com as a Senior Sub Editor & Law Graduate from Delhi University.
Bragging rights
Laxmi High School, Sitamarhi, Bihar
Work
Occupation
Journalist
Employment
  • Dainik Bhaskar.com
    Senior SUb Editor, 2014 - present
  • www.samachar4media.com
    senior correspondent
Places
Map of the places this user has livedMap of the places this user has livedMap of the places this user has lived
Currently
BhoPal
Previously
MP - BHOPAL, MP NAGAR
Contact Information
Work
Phone
07566399505, 09818745330