Profile cover photo
Profile photo
haresh Kumar
कर्म में विश्वास करो।
कर्म में विश्वास करो।
About
haresh's posts

Post is pinned.
#चंद सिक्कों में बिकता है #इंसान का #जमीर। कौन कहता है मेरे #मुल्क में #महंगाई है।।

Post has attachment
इंटर परीक्षा में नकल रोकने के लिए वीडियोग्राफी करा रहे संघ प्रचारक की हवलदार ने जमकर ली खबर
कोऊ नृप होए, हमें का हानि उत्तर प्रदेश में  Rashtriya Swayamsevak Sangh : RSS  के एक प्रांतीय प्रचारक को हाल के दिनों में चल रहे नकल अभियान को रोकना भारी पड़ा। स्कूल में ड्यूटी दे रहे हवलदारों ने उनकी जमकर खबर ले ली। यह स्कूल भाजपा के एक नेता का है खबर आ रह...

Post has attachment
क्योंकि कसूर इनकी जाति का है...ब्राम्हण हैं मनोज चौधरी और इसलिए मीडिया ने मुंह मोड़ लिया...नेताओं को ये इंटरेस्टिंग टॉपिक नहीं लगा....तमाम बौद्धिक, प्रखर पत्रकारों को ये मुद्दा सोशल मीडिया के लिए शायद इसलिए तर्क संगत नहीं लगा...लानत है ऐसी भ्रष्ट सोच पर....हमारे देश में जाति ही सबसे बड़ी पहचान है...और इस हमाम में सभी राजनीतिक दल...तमाम मीडिया हाउस नंगे हैं। शर्म--शर्म...शर्म...

Post has attachment
बिहार के दरभंगा में दबंगों ने जमीन विवाद में एक युवक को जिंदा जलाने का प्रयास किया
कल दरभंगा तमाम राष्ट्रीय चैनलों की सुर्खियां बन सकता था...कल दरभंगा पर तमाम राष्ट्रीय चैनलों पर प्राइम टाइम में डिबेट चल सकता था...कल दरभंगा तमाम बड़े-बड़े हिंदी अखबार और अंग्रेजी अखबार के पहले पन्ने पर जगह पा सकता था...कल दरभंगा की घटना को लेकर प्रधानमंत्र...

Post has attachment
"दीवार" का अमिताभ बच्चन नास्तिक है और वो भगवान का प्रसाद तक नहीं खाना चाहता है, लेकिन 786 लिखे हुए बिल्ले को हमेशा अपनी जेब में रखता है और वो बिल्ला भी बार बार अमिताभ बच्चन की जान बचाता है।
"जंजीर" में भी अमिताभ नास्तिक है और जया भगवान से नाराज होकर गाना गाती है लेकिन शेरखान एक सच्चा इंसान है।

Post has attachment
हिंदी सिनेमा में पंडित को धूर्त, ठाकुर को जालिम, बनिए को सूदखोर, सरदार को मूर्ख कॉमेडियन ही क्यों दिखाया जाता है?
सलीम - जावेद की जोड़ी की लिखी हुई फिल्मों को देखे, तो उसमें आपको अक्सर बहुत ही चालाकी से हिन्दू धर्म का मजाक तथा मुस्लिम / इसाई / साईं बाबा को महान दिखाया जाता मिलेगा। इनकी लगभग हर फिल्म में एक महान मुस्लिम चरित्र अवश्य होता है और हिन्दू मंदिर का मजाक तथा स...

Post has attachment
बीएसएफ कमांडेंट संदीप मिश्रा 2000 में असम में बहाल थे, तभी असम के तिनसुकिया में उल्फा उग्रवादियों के एक हमले का बहादुरी से मुकाबला करते हुए वो अपनी आंखों की रोशनी गंवा बैठे थे। मुठभेड़ के दौरान उन्हें पांच गोलियां लगीं। एक गोली उनके बाएं आंख को चीरती हुई दाएं आंख से बाहर आ गई थी।
उनकी शादी नहीं हुई थी और मन में इस आशंका ने जन्म ले लिया था कि अब वो अपनी प्रेमिका को नहीं पा सकेंगे। यह सोच और आशंका कुछ ही दिनों में निर्मूल साबित हो गई, क्योंकि उनकी प्रेमिका इंद्राक्षी को जब यह मालूम हुआ कि उग्रवादियों को मुकाबला करते हुए उनकी आंख की रोशनी चली गई, लेकिन उन्होंने डटकर मुकाबला किया तो उसने इस बात की परवाह नहीं कि की अब उनके आंखों की रोशनी नहीं रही। आज यह दंपती खुशहाल जिंदगी जी रहा है।

Post has attachment
उग्रवादी हमले में आंखों की रोशनी गंवा बैठे बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट संदीप मिश्रा के घर राजनाथ सिंह ने किया लंच
हरेश कुमार केंद्रीय गृह रज्य मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता राजनाथ सिंह 25 मार्च 2017 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर स्थित टेनकपुर बीएसएफ एकेडमी की पासिंग आउट सेरेमनी में हिस्सा लेने पहुंचे थे। जहां ड्यूटी पर तैनात उच्च अधिकारियों ने उन्हें कमांडेंट संदीप मिश्रा क...

Post has attachment
शकरकंद में भरपूर मात्रा में आयरन होता है। आयरन की कमी से हमारे शरीर में एनर्जी नहीं रहती, रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित होती है और ब्लड सेल्स का निर्माण भी ठीक से नहीं होता। शकरकंद आयरन की कमी को दूर करने में मददगार रहता है।

Post has attachment
पोषक तत्वों और स्वास्थ्य के लिहाज से अलुआ (शकरकंद) के कई फायदे हैं
शकरकंद के नाम से प्रसिद्ध अलुआ के कई गुण हैं। अलुआ खाने से एक तरफ नस की बीमारी ठीक होती ही है, साथ उसका स्वाद भी गजब है। अलुआ को पका कर खाने मे मजा आता है। पहले सस्ता सुलभ अलुआ एक आदमी एक-एक किलो तक खा जाता था। इससे पाचन क्रिया भी सही रहता है। शकरकंद को स्व...
Wait while more posts are being loaded